Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजपुणे के रईसजादे की माँ हुई फरार, उसके ही खून से बदला गया था...

पुणे के रईसजादे की माँ हुई फरार, उसके ही खून से बदला गया था बेटे का ब्लड सैंपल: पोर्शे कांड में दो डॉक्टर सस्पेंड, नियुक्ति पर सवाल उठाने वाले डीन छुट्टी पर भेजे गए

19 मई को सुबह जब रईसजादे का ब्लड सैंपल लिया गया था तो उसकी माँ वहीं मौजूद थी। उसने अपना खून सैंपल बदलने के लिया दिया था। अस्पताल की फॉरेंसिक लैब में डॉक्टर श्रीहरी हल्नोर ने यह सैंपल बदला था। यह सैंपल डॉक्टर अजय तावड़े के कहने पर बदला गया था।

पुणे में दो लोगों को करोड़ों की पोर्शे से कुचलने वाले रईसजादे का ब्लड सैंपल उसकी माँ के खून से ही बदल दिया गया था। उसकी माँ ने अपना खून पुणे के ससून अस्पताल में दिया था ताकि बेटे के खून की जाँच ना हो। अब रईसजादे की माँ फरार है। दूसरी तरफ ससून अस्पताल के डीन ने दावा किया है कि ब्लड सैम्पल बदलने की साजिश रचने वाले डॉक्टर अजय तावड़े की नियुक्ति एक स्थानीय MLA के कहने पर की गई थी।

जानकारी के अनुसार, 19 मई को सुबह जब रईसजादे का ब्लड सैंपल लिया गया था तो उसकी माँ वहीं मौजूद थी। उसने अपना खून सैंपल बदलने के लिया दिया था। अस्पताल की फॉरेंसिक लैब में डॉक्टर श्रीहरी हल्नोर ने यह सैंपल बदला था। यह सैंपल डॉक्टर अजय तावड़े के कहने पर बदला गया था। अब पुलिस रईसजादे की माँ की तलाश कर रही है लेकिन उसका कोई पता नहीं लग रहा है। वह मामले के खुलासे के बाद फरार हो गई है।

गौरतलब है कि रईसजादे का ब्लड सैंपल बदलने वाले दो डॉक्टरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसमें सामने आया था कि 17 साल के नाबालिग रईसजादे का असली ब्लड सैंपल कूड़ेदान में फेंक दिया गया था जबकि इसकी जगह पर दूसरा ब्लड सैंपल टेस्ट किया गया था, इसमें अल्कोहल होने की बात सामने नहीं आई थी।

पुलिस ने इसके बाद सैंपल की DNA जाँच करवाई थी, जिसमें इस फर्जीवाड़े का खुलासा हो गया था। इसके बाद पुलिस ने सैंपल बदलने वाले डॉ हल्नोर और फॉरेंसिक विभाग के मुखिया अजय तावड़े को गिरफ्तार कर लिया था। इन दोनों डॉक्टरों पर अब अस्पताल ने भी कार्रवाई की है। उन्हें सेवा से निलंबित कर दिया गया है।

दूसरी तरफ यह भी बात सामने आई है कि जिस दिन यह सैंपल टेस्ट हुआ था, उसी दिन डॉ अजय तावड़े से नाबालिग के पिता ने बात की थी। दोनों के बीच 14 बार फोन पर बात हुई थी। उनके बीच वीडियो कॉल भी हुई थी। इसी के बाद सैंपल में धोखाधड़ी हुई। रईसजादे का पिता अभी पुलिस की गिरफ्त में है। रईसजादे को बाल सुधार गृह में भेजा गया है। इस मामले में रोज नए खुलासे हो रहे हैं।

जिस ससून अस्पताल में यह गड़बड़ी हुई है, उसी के डीन डॉ विनायक काले ने दावा किया है कि अजय तावड़े की नियुक्ति स्थानीय MLA सुनील तिंगरे के कहने पर हुई थी। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री हसन मुश्रीफ़ को कह कर डॉ अजय तावड़े की नियुक्ति करवाई थी। तावड़े पर इससे पहले किडनी ट्रांसप्लांट और ड्रग मामले में आरोप थे। डीन विनायक काले को भी छुट्टी पर भेज दिया गया है।

गौरलतब है कि 19 मई, 2024 की रात को पुणे के कल्याणीनगर इलाके में एक बिल्डर बाप के रईसजादे ने अपनी करोड़ों की पोर्शे से दो लोगों को रौंद दिया था। वह दोनों सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे और उनकी इस हादसे में मौत हो गई थी। इसके बाद नाबालिग को 15 घंटे में ही जमानत मिल गई थी। उसे जमानत के लिए एक 300 शब्द का निबन्ध लिखने को कहा गया था। बाद में इस मामले के उठने के बाद उसकी जमानत खारिज हो गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले उइगर औरतों के साथ एक ही बिस्तर पर सोए, अब मुस्लिमों की AI कैमरों से निगरानी: चीन के दमन की जर्मन मीडिया ने...

चीन में अब भी उइगर मुस्लिमों को लेकर अविश्वास है। तमाम डिटेंशन सेंटरों का खुलासा होने के बाद पता चला है कि अब उइगरों पर AI के जरिए नजर रखी जा रही है।

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -