Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजगोल्डन टेम्पल के बाहर सिख नेता ने युवक पर ताबड़तोड़ बरसाए थप्पड़, बीड़ी रखने...

गोल्डन टेम्पल के बाहर सिख नेता ने युवक पर ताबड़तोड़ बरसाए थप्पड़, बीड़ी रखने का आरोप लगा कर पीटा: वीडियो वायरल

स्वर्ण मंदिर में हुई इस मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मारपीट करने वाले व्यक्ति के साथ मौजूद लोगों ने ही वीडियो बनाकर वायरल किया है। वायरल वीडियो की शुरुआत में ही हरपाल सिंह को पीड़ित व्यक्ति के साथ मारपीट करते देखा जा सकता है।

पंजाब के अमृतसर में स्थित हरमंदिर साहिब (स्वर्ण मंदिर) में आस्था के नाम पर एक व्यक्ति के साथ मारपीट की गई। पीड़ित व्यक्ति हरमंदिर साहिब के बाहर खड़ा था। इसी दौरान, वहाँ मौजूद एक सिख व्यक्ति उस पर जेब में बीड़ी रखने का आरोप लगाते हुए उसके साथ मारपीट करने लगा। मारपीट करने वाला व्यक्ति खालिस्तान समर्थक सिमरनजीत सिंह मान की पार्टी शिरोमणि अकाली दल (ए) का महासचिव हरपाल सिंह है।

स्वर्ण मंदिर में हुई इस मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कहा जा रहा है कि मारपीट करने वाले व्यक्ति के साथ मौजूद लोगों ने ही वीडियो बनाकर वायरल किया है। वायरल वीडियो की शुरुआत में ही हरपाल सिंह को पीड़ित व्यक्ति के साथ मारपीट करते देखा जा सकता है।

हरपाल पीड़ित के जेब में बीड़ी होने की बात कहता है। लेकिन पीड़ित व्यक्ति इस बात से लगातार इनकार करता दिखाई दे रहा है। इसके बाद हरपाल के कहने पर पीड़ित अपने जेब से तम्बाकू का पैकेट निकालता दिखाई देता है। हालाँकि पीड़ित तंबाकू खाने की बात से भी इनकार कर रहा है। लेकिन इसके बाद भी हरपाल उसे थप्पड़ मारकर वहाँ से भगा देता है।

अपने ऊपर लगे आरोपों पर हरपाल सिंह का कहना है कि उन्होंने मंदिर में माथा टेकने आए व्यक्ति को हाथ में तंबाकू रगड़ते देखा था। इसके बाद उन्होंने उसे मंदिर के अंदर जाने से रोक दिया। यही नहीं, हरपाल ने यह भी कहा है कि उसने दूसरों को सबक सिखाने के लिए पीड़ित व्यक्ति को धीरे-धीरे थप्पड़ मारे थे। वहीं, वीडियो वायरल होने के बाद शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) ने इस घटना की निंदा की है। साथ ही कहा है कि मारपीट करने वाला व्यक्ति SGPC का कर्मचारी नहीं है।

बता दें कि इससे पहले 17 अप्रैल 2023 को अपने चेहरे पर तिरंगा लगाकर आई एक लड़की को भी स्वर्ण मंदिर में घुसने से रोक दिया गया था। इसका एक वीडियो भी सामने आया था। वीडियो में सेवादार ने कहा था कि यह इंडिया नहीं पंजाब है। इसलिए लड़की को स्वर्ण मंदिर के अंदर जाने से रोक दिया। यह वीडियो सामने आने के बाद देशभर में यह मुद्दा चर्चा का विषय बन गया था। विवाद बढ़ने पर SGPC को इस मामले में माफी भी माँगनी पड़ी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेता खाएँ मलाई इसलिए कॉन्ग्रेस के साथ AAP, पानी के लिए तरसते आम आदमी को दोनों ने दिखाया ठेंगा: दिल्ली जल संकट में हिमाचल...

दिल्ली सरकार ने कहा है कि टैंकर माफिया तो यमुना के उस पार यानी हरियाणा से ऑपरेट करते हैं, वो दिल्ली सरकार का इलाका ही नहीं है।

पापुआ न्यू गिनी में चली गई 2000 लोगों की जान, भारत ने भेजी करोड़ों की राहत (पानी, भोजन, दवा सब कुछ) सामग्री

प्राकृतिक आपदा के कारण संसाधनों की कमी से जूझ रहे पापुआ न्यू गिनी के एंगा प्रांत को भारत ने बुनियादी जरूरतों के सामान भेजे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -