Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजदरगाह में गंदी लुंगी के कारण हत्या: शारिक आलम ने 12 किलो वजनी पत्थर...

दरगाह में गंदी लुंगी के कारण हत्या: शारिक आलम ने 12 किलो वजनी पत्थर से सिर पर 2 बार किया वार

आरोपित शारिक आलम सनकी किस्म का है। उसने खलील के माथे पर 12 किलो के पत्थर से वार कर के बेरहमी से उसकी हत्या कर दी थी।

कोटा के अधरशिला दरगाह क्षेत्र में एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई थी, जिसका अब पुलिस ने खुलासा किया है। खलील नामक युवक के हत्यारे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया गया है कि आरोपित सनकी किस्म का है। उसने खलील के माथे पर 12 किलो के पत्थर से वार कर के बेरहमी से उसकी हत्या कर दी थी। खलील ने आरोपित को दरगाह में गन्दी लुंगी पहन कर आने से रोका था, इसीलिए उसने गुस्से में आकर उसकी हत्या कर दी।

‘दैनिक भास्कर’ की खबर के अनुसार, एसपी गौरव यादव ने जानकारी दी कि बजाजखाना रामपुरा के रहने वाले शौकत अली अधरशिला दरगाह का खिदमतगार है, जिसने बुधवार (नवंबर 4,2020) को पुलिस को दी गई रिपोर्ट में बताया कि करीब 20-25 दिन पहले कल्लू खान का बेटा 48 वर्षीय खलील खान आकर सोने लगा था। वो कच्ची बस्ती से आता था। मंगलवार की रात उसने उसे चाय पिलाई और फिर चला गया।

इसके अगले दिन दरगाह के खिदमतगार को नूर अली नामक व्यक्ति ने बताया कि खलील की हत्या कर दी गई है। उसने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी। सीआई ताराचंद ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया और मामला दर्ज किया। इसके साथ ही आरोपित की तलाश के लिए पुलिस टीम का भी गठन किया गया। इसके लिए एक दर्जन सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खँगाली गई। अधरशिला व चंबल गार्डन क्षेत्र में आने-जाने वाले झपटमारों एवं संदिग्ध बदमाशों से पूछताछ भी की गई।

इसके बाद पुलिस ने आरोपित शारिक आलम उर्फ़ बल्लू को गिरफ्तार किया। मध्य प्रदेश के ग्वालियर स्थित तलवंडी के जवाहर नगर के रहने वाले 43 वर्षीय बल्लू भी 10-15 दिनों से दरगाह पर ही सोता था। शारिक सनकी है और उसकी आदत है कि वो हर किसी से लड़ पड़ता है। शारिक ने गिरफ़्तारी के बाद पूछताछ में खुलासा किया कि एक दिन वो गन्दी लुंगी पहन कर कोटा के अधरशिला दरगाह आया था तो खलील ने उसे टोक दिया और इसीलिए उसने हत्या की।

उसने बताया कि इसी का बदला लेने के लिए मंगलवार की रात करीब 12:30 बजे उसने 10-12 किलो का पत्थर उठाया और सो रहे खलील के सिर पर दो बार वार कर के बेरहमी से उसकी हत्या कर दी। इसके बाद वो सुबह ही वहाँ से निकल गया और किसी तरह अजमेर शरीफ दरगाह जा पहुँचा। हत्या के बाद पुलिस उसके परिजनों पर नजर रख रही थी। रुपए ख़त्म होने के बाद वो जैसे ही अपनी बहन के पास आया, पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वो ससुराल जाने की तैयारी में था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केंद्र सरकार की नौकरी के मजे? अब 15 मिनट से ज्यादा की देरी पर आधे दिन की छुट्टी: ऑफिस टाइमिंग को लेकर कड़ा फैसला

भारत सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (DoPT) ने आदेश जारी किया है कि जिन दफ्तरों के खुलने का समय 9 बजे है, वहाँ अधिकतम 15 मिनट का ही ग्रेस पीरियड मिलेगा।

ईदगाह का गेट निकाले जाने उग्र हुई भीड़ ने जला डाला दुकान और ट्रैक्टर, पुलिस पर भी पत्थरबाजी: जोधपुर में धारा-144 लागू, 40 आरोपित...

ईदगाह के पीछे की दीवार से 2 दरवाजों को निकाले जाने का काम शुरू किया गया था। पुलिस ने बताया कि बस्ती में रहने वाले कुछ लोगों ने इसका विरोध किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -