Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजशाम तक कोई पोस्ट न आए तो समझना गेम ओवर: सुशांत सिंह पर वीडियो...

शाम तक कोई पोस्ट न आए तो समझना गेम ओवर: सुशांत सिंह पर वीडियो बनाने वाले यूट्यूबर को मुंबई पुलिस ने ‘उठाया’

सुशांत की मौत के बाद साहिल चौधरी ने अभिनेता के मामले पर कई वीडियोज बनाई हैं। साथ ही राजनेताओं और बॉलीवुड हस्तियों को उसके लिए जिम्मेदार ठहराया। एक वीडियो में तो उन्होंने इस पूरे मामले में शिवसेना का भी हाथ बताया था। साथ ही प्रत्यक्ष रूप से सीएम ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे पर इल्जाम मढ़ा था।

हरियाणा के एक यूट्यूबर और मॉडल साहिल चौधरी को मुंबई पुलिस ने कथिततौर पर सोमवार को हिरासत में लिया। साहिल के इंस्टाग्राम पोस्ट के अनुसार, उन्होंने बताया कि सुशांत सिंह राजपूत पर वीडियो बनाने के लिए 28 सितंबर को बिना किसी नोटिस या वारंट के मुंबई पुलिस ने उन्हें उठा लिया। उन्होंने कहा कि अगर कल शाम तक उनका कोई पोस्ट नहीं आया तो इसका मतलब है कि उनका गेम ‘ओवर’ हो गया।

पोस्ट के अनुसार, क्राइम ब्रांच के 3 अधिकारी उन्हें लेने आए थे हालाँकि उनके साथ फ्लाइट में बस एक कॉन्सटेबल गया। उन्होंने आगे पोस्ट में लिखा कि उन्हें नहीं मालूम कि मुंबई पुलिस उनके साथ क्या करने वाली हैं, लेकिन फिर भी लड़ते रहना है। वह लिखते हैं, “यहाँ नहीं रुकूँगा अभी और कुर्बानियाँ देनी पड़ेंगी अगर सिस्टम को ठीक करना है।”

बता दें कि सुशांत की मौत के बाद साहिल चौधरी ने अभिनेता के मामले पर कई वीडियोज बनाई हैं। साथ ही राजनेताओं और बॉलीवुड हस्तियों को उसके लिए जिम्मेदार ठहराया। एक वीडियो में तो उन्होंने इस पूरे मामले में शिवसेना का भी हाथ बताया था। साथ ही प्रत्यक्ष रूप से सीएम ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे पर इल्जाम मढ़ा था।

गौरतलब है कि साहिल चौधरी की गिरफ्तारी के बाद से सोशल मीडिया पर उनके समर्थन में हैशटैग चलाया जा रहा है। साथ ही उन्हें रिहा करने की माँग हो रही हैं। 29 सितंबर को #ReleaseSaahilChoudhary जब अचानक ट्रेंड होना शुरू हुआ तो कई नेटीजन्स इस विषय पर गृह मंत्री से हस्तक्षेप करने की माँग करने लगे।

अर्चना भारद्वाज लिखती हैं, “अब मुझे पता चला कि कंगना ने मुंबई की पीओके से क्यों तुलना की थी। क्या मुंबई पुलिस में कोई शर्म बाकी बची है”

अनुराग लिखते हैं, “साहिल चौधरी को कहीं और ले जाया गया। वह बांद्रा के कुर्ला कॉम्प्लेक्स में अपने पिता के साथ थे। अभी उनकी लोकेशन किसी परिजन को नहीं मालूम। मदद कीजिए।”

यहाँ स्पष्ट कर दें कि ऑपइंडिया साहिल चौधरी के दावों को प्रमाणित नहीं करता। मगर, साहिल के बारे में पहले से मौजूद जानकारी के अनुसार, वह इससे पहले साल 2018 में मी टू मूवमेंट के कारण चर्चा में आए थे। उन्होंने डिजाइनर सदन पांडे और रोहित वर्मा पर यौन शोषण का आरोप लगाया था।

उन्होंने पांडे को लेकर बताया था कि उसने अपने फ्लैट पर साहिल को बॉक्सर उतारने को कहे जबकि वर्मा ने जबरदस्ती उन्हें किस करने की कोशिश की। हालाँकि, इन दोनों डिजाइनरों ने बाद में अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,090FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe