Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक में भीड़ ने स्वतंत्रता सेनानी की प्रतिमा उखाड़ी, 20 गाड़ियाँ तोड़ी: मराठा समूह...

कर्नाटक में भीड़ ने स्वतंत्रता सेनानी की प्रतिमा उखाड़ी, 20 गाड़ियाँ तोड़ी: मराठा समूह पर शक, ‘शिवाजी के अपमान’ पर थे नाराज़

आधी रात में विरोध प्रदर्शन के दौरान भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी और सरकारी व पुलिस की गाड़ियों को निशाना बनाया। इस घटना में कम से कम 20 गाड़ियाँ तोड़ डाली गईं। लाठीचार्ज भी हुआ।

कर्नाटक के बेलगावी में स्वतंत्रता सेनानी संगोल्ली रायन्ना की प्रतिमा के साथ तोड़फोड़ की गई है। हिंसक भीड़ ने ‘शिवाजी के अपमान’ का बदला लेने के लिए ऐसा किया। बता दें कि बेलगावी कर्नाटक और महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित है, जो दोनों राज्यों के बीच चल रहे सीमा-विवाद के बीच एक संवेदनशील इलाका भी है। पुलिस ने बताया कि शनिवार (18 दिसंबर, 2021) को ये घटना सामने आई। भीड़ का कहना था कि बेंगलुरु के शिवाजीनगर में छत्रपति शिवाजी की प्रतिमा तोड़े जाने के विरोध में उन्होंने ऐसा किया है।

बेलगावी में रविवार शाम 6 बजे तक कुछ पाबंदियाँ लगाई गई हैं। पुलिस ने बताया की कनकदास कॉलोनी में संगोल्ली रायन्ना की प्रतिमा लगी हुई थी, जिसे उखाड़ दिया गया है। प्रतिमा के साथ लगी तलवार और ढाल को भी वहाँ से दूर फेंक दिया गया। जब भीड़ की इस करतूत के बाद स्थानीय लोग बाहर आए तो भीड़ बदमाश वहाँ से भाग खड़े हुए। इससे बेलगावी में और तनाव होने की आशंका है। कन्नड़ और मराठी समुदाय के बीच तनातनी भी बढ़ती जा रही है।

कर्नाटक के गृह मंत्री अरगा जननेन्द्र ने इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बदमाशों के बीच कानून का भय व्याप्त किया जाएगा। उन्होंने पुलिस द्वारा उचित कार्रवाई करने की बात करते हुए कहा कि एक भी बदमाश को नहीं छोड़ा जाएगा और सभी के खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि ये कुछ ही बदमाशों का काम है, जिन्हें ‘सीधा’ कर दिया जाएगा। 3 पुलिस थानों में 100 बदमाशों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। भाषा और क्षेत्र के आधार पर तनाव कायम करने के आरोप भी लगाए गए हैं।

शुक्रवार की आधी रात में विरोध प्रदर्शन के दौरान भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी और सरकारी व पुलिस की गाड़ियों को निशाना बनाया। इस घटना में कम से कम 20 गाड़ियाँ तोड़ डाली गईं। पुलिस ने हिंसक भीड़ पर लाठीचार्ज भी किया, ताकि स्थिति नियंत्रित किया जा सके। कर्नाटक में फ़िलहाल विधानसभा सत्र भी चल रहा है। कर्नाटक पुलिस को संदेह है कि इस घटना के पीछे ‘महाराष्ट्र एकीकरण समिति (MES)’ हो सकती है, जो दोनों राज्यों के बीच नए सिरे से तनाव पैदा करने की कोशिश में हो।

CrPc की धारा-144 के तहत इलाके में सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक पाबंदियाँ लगाई गई हैं। बेलगावी के सुवर्ण विधान सभा में ही फ़िलहाल सत्र चल रहा है। घटना को ‘उपद्रवी करतूत’ बताते हुए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्री को कार्रवाई के आदेश दिए हैं। इस घटना में 27 लोगों की गिरफ़्तारी हुई है। उन्होंने कहा कि संगोल्ली रायन्ना जैसे स्वतंत्रता सेनानी सभी समुदायों के हैं। पूर्व मुख्यमंत्रियों येदियुरप्पा और सिद्दारमैया ने भी इस घटना की निंदा की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -