Thursday, June 30, 2022
Homeदेश-समाजKK के सिर और चेहरे पर मिले चोट के निशान, 'अप्राकृतिक मौत' का केस...

KK के सिर और चेहरे पर मिले चोट के निशान, ‘अप्राकृतिक मौत’ का केस दर्ज: होटल से अस्पताल के बीच क्या हुआ, जानिए हर डिटेल

लाइव परफॉर्मेंस के बाद होटल पहुँचे केके की तबीयत अचानक बिगड़ गई। उन्हें CMRI अस्पताल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

31 मई 2022 की रात गायक कृष्णकुमार कुन्नथ उर्फ केके (singer KK) की मौत की खबर आई। इसकी वजह हार्ट अटैक (Singer KK Heart Attack) बताई गई। लेकिन अब जो मीडिया रिपोर्टें सामने आ रही हैं, उसमें बताया गया है कि गायक (Singer Krishna Kumar Kunnath) के सिर और चेहरे पर चोट के निशान मिले हैं। कोलकाता पुलिस ने इस मामले में ‘अप्राकृतिक मौत’ (KK Unnatural Death) का केस दर्ज किया है। कोलकाता के SSKM हॉस्पिटल में ही उनका पोस्टमॉर्टम होना है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उनके निधन पर दुख जताया है। पीएम ने ट्वीट कर कहा है, “केके के निधन से दुखी हूँ, उनके गानों से हर उम्र के लोग जुड़े हुए हैं। वो अपने गानों के जरिए हमारे दिल में हमेशा जिंदा रहेंगे। ईश्वर उनके परिवार को शक्ति दे।”

सिर और चेहरे पर चोट के निशान मिलने के बाद कोलकाता पुलिस ने न्यू मॉर्केट थाने में अप्राकृतिक मौत का केस दर्ज किया है। पुलिस होटल के स्टाफ से पूछताछ करने में जुट गई है। बताया जा रहा है कि केके 2 दिन से कोलकाता में थे, इससे पहले वह पुणे में परफॉर्म कर रहे थे। केके ने कोलकाता में दो कॉलेज फेस्ट में परफॉर्म किया था। एक स्टूडेंट ने बताया कि केके शो-स्टॉपर थे। शुरुआती जानकारी में केके की मौत की वजह कार्डियक अरेस्ट बताई जा रही है। हालाँकि डॉक्टर्स अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं। सिंगर केके एकदम फिट और फाइन थे और वह स्मोकिंग और ड्रिकिंग से भी दूर रहते थे। मीडिया में उनके अचानक निधन को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे हैं।

खबरों के मुताबिक, गायक केके के परिजन कोलकाता पहुँच चुके हैं। अब से थोड़ी ही देर में एसएसकेएम अस्पताल में केके का पोस्टमार्टम होगा। इसके बाद ही उनकी मौत की वजह को लेकर स्थिति साफ होगी। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मंगलवार (31 मई 2022) को कोलकाता में एक लाइव कॉन्सर्ट के बाद सिंगर का निधन हो गया। एक कॉलेज की तरफ से नजरुल मंच में एक समारोह का आयोजन किया गया था, वहाँ परफॉर्मेंस देने के बाद जब वह होटल पहुँचे तो अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई, जिसके बाद उन्हें CMRI (कोलकाता मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट) अस्पताल ले जाया गया। यहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। 53 वर्षीय सिंगर के निधन की खबर मिलते ही उनके फैंस में शोक की लहर दौड़ गई।

सोशल मीडिया पर सिंगर केके के अंतिम परफॉर्मेंस की कई झलकियाँ शेयर की जा रही हैं। कॉन्सर्ट के दौरान केके ने, “हम रहे या ना रहें कल, कल याद आएँगे ये पल, आशाएँ खिले दिल की, उम्मीदें हँसे दिल की, तू जो मिला तो हो गया सब हासिल… जैसे गाने गाए थे।”

केके ने बॉलीवुड फिल्म ‘काइट्स’ में जिंदगी दो पल की, ‘ओम शांति ओम’ फिल्म में आँखों में तेरी, फिल्म ‘बचना ऐ हसीनों’ में खुदा जाने, फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ में तड़प तड़प और ‘तू ही मेरी शब है’ जैसे तमाम गाने गाए थे। इसके अलावा उन्होंने हिंदी समेत तमिल, तेलुगु, कन्नड़ और बंगाली भाषाओं में कई गाने भी रिकॉर्ड किए थे।

मालूम हो कि 23 अगस्त 1968 को दिल्ली में जन्मे मशहूर प्लेबैक सिंगर कृष्णकुमार कुन्नथ को ने फिल्मों में ब्रेक मिलने से पहले करीब 3500 जींगल्स गाए थे। केके ने फिल्म ‘माचिस’ के गाने ‘छोड़ आए हम वो दुनिया’ गाने से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ के गाने ‘तड़प तड़प’ से उन्हें इंडस्ट्री में बड़ा ब्रेक मिला था। साल 2000 में केके को ‘तड़प-तड़प’ गाने के लिए बेस्ट प्लेबैक सिंगर के लिए गिल्ड फिल्म अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था। वर्ष 2008 में भी ‘ओम शांति ओम’ फिल्म के गाने ‘आँखों में तेरी’ और 2009 में ‘बचना ए हसीनो’ फिल्म के गाने ‘खुदा जाने’ के लिए उन्हें बेस्ट प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड मिला था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe