Friday, March 5, 2021
Home देश-समाज 'शव यात्रा पर पत्थरबाजी, अत्याचारों का विरोध करते तो जेल, लूट लेते थे सारा...

‘शव यात्रा पर पत्थरबाजी, अत्याचारों का विरोध करते तो जेल, लूट लेते थे सारा सामान, छोड़ना पड़ा पाकिस्तान’

"पाकिस्तान के शहर कोहाट में उनका कारोबार था। लेकिन उनका सब कुछ वहाँ लूट लिया गया। स्थिति इतनी भयावह हो गई कि उन्हें अपने बच्चों को और उनकी धार्मिक पहचान को छिपाना पड़ा। साथ ही अपनी करोड़ों की संपत्ति को हजारों में बेचना पड़ा।"

नागरिकता संशोधन कानून के ख़िलाफ़ हो रहे विरोध के बीच हरियाणा के यमुनानगर में रहने वाले कुछ पाकिस्तानी हिंदुओं ने रविवार को एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री रतन लाल कटारिया और विधायक घनश्याम दास अरोड़ा को अपनी आपबीती सुनाई। इन लोगों ने इस कार्यक्रम में नए कानून पर अपनी खुशी जाहिर करते हुए बताया कि आखिर किस तरह इन लोगों ने भारत में आकर खुलकर सांस ली। क्योंकि, पाकिस्तान में तो न केवल उनपर धर्म परिवर्तन के लिए जोर दिया जाता था, बल्कि उनके द्वारा श्मशान की ओर ले जा रही शव यात्रा पर भी पथराव होता था। इतना ही नहीं, इन लोगों ने ये भी बताया कि जब ये लोग अपने ऊपर हो रहे अत्याचारों का विरोध करते थे तो इन्हें जेल होती थी और इनके सामानों को लूट लिया जाता था।

हरियाणा के यमुनानगर में इस समय पाकिस्तान से आए करीब 22 हिंदू परिवार रह रहे हैं। जिनमें से 10 को नागरिकता मिल चुकी है और बाकी इंतजार में हैं। इनमें से कुछ ने केंद्रीय मंत्री रतन लाल कटारिया और विधायक घनश्याम दास अरोड़ा को अपनी आप बीती सुनाई और कहा कि इन्होंने बीते हरियाणा विधानसभा चुनावों में भूपेंद्र सिंह हुड्डा की पार्टी को समर्थन दिया था, क्योंकि उनका कहना था कि वे पाकिस्तान से आए हिंदुओं को नागरिकता दिलाने में मदद करेंगे। लेकिन अब जब मोदी सरकार ने ये बिल पास कर दिया तो वे उसका विरोध कर रहे हैं। इसलिए उन्होंने भाजपा का हाथ थाम लिया है।

पाकिस्तान और भारत के बीच फर्क़ बताते हुए नगर सुधार मंडल के पूर्व अध्यक्ष लक्ष्मण दास बहल (88) ने बताया कि पाकिस्तान में उन्होंने 3 बार जिला काउंसलर का चुनाव जीता और हर बार उन्हें बहुमत मिला। लेकिन फिर भी वहाँ उनकी बात नहीं मानी जाती। हिंदुओं द्वारा शव को श्मशान ले जाते समय उसपर पत्थर फेंके जाते, धर्म परिवर्तन के लिए लंबे समय तक जेल में रखा जाता, एवं तरह-तरह के अत्याचार होते। मगर, लक्ष्मण दास के अनुसार उन्होंने इतने सब के बावजूद कभी हार नहीं मानी और अपने परिवार के साथ हरियाणा के यमुनानगर पहुँचे।

बहल ने इस कार्यक्रम में बताया कि पाकिस्तान के शहर कोहाट में उनका कारोबार था। लेकिन उनका सब कुछ वहाँ लूट लिया गया। स्थिति इतनी भयावह हो गई कि उन्हें अपने बच्चों को और उनकी धार्मिक पहचान को छिपाना पड़ा। साथ ही अपनी करोड़ों की संपत्ति को हजारों में बेचना पड़ा। बहल के अनुसार साल 1988 में उन्होंने भारत आकर खुली हवा में सांस ली। यहाँ लोगों ने उनका काफी साथ दिया। हमीदा में उन्हें किराए पर मकान मिला और फिर उन्होंने अपना कारोबार शुरू किया। उनका कहना है कि आज पुराने दिन को याद करते हैं तो उनका मन घबरा जाता है।

इसके बाद दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार आजाद नगर में रहने वाले रणजीत बताते हैं कि उनके पिता 2 भाई हैं। जिनमें उनके चाचा दर्शन सिंह पहले ही यमुना नगर आ गए थे। लेकिन वे पाकिस्तान में फँस गए थे। इस बीच उनके घर की महिलाएँ बुर्का पहनकर घर से निकलती थीं और बिंदी भी नहीं लगाती थीं। क्योंकि अगर वहाँ के लोगों को पता चल जाता था कि वे हिंदू हैं तो उनके साथ बुरा बर्ताव होता था, जिसे सोचकर भी उनकी रूह कांपती हैं।

वहीं, इस कार्यक्रम में वैद्य जसबीर नाम के पाकिस्तानी हिंदू ने भी केंद्रीय मंत्री को आप बीती सुनाते हुए माँग उठाई कि पाकिस्तान में जब कोई हिंदू भारत आने के लिए वीजा लगाता है तो उनको क्लास वन अधिकारी का आइकार्ड साथ लगाना होता है। ये बहुत बड़ी चुनौती है, जिस कारण परेशानी का सामना करना पड़ता। इसलिए इस शर्त में भी संशोधन होना चाहिए। जिसके बाद केंद्रीय राज्यमंत्री रतन लाल कटारिया ने इस बारे में विदेश मंत्री एस जयशंकर से बात करने का आश्वासन दिया। साथ ही दूसरे देशों से आए अल्पसंख्यकों के लिए कैंप लगाने की बात भी कही।

गौरतलब है कि एक ओर नागरिकता संशोधन कानून के ख़िलाफ़ सड़कों पर उतरे विशेष समुदाय के लोग खुद की नागरिकता छिन जाने का डर दिखाकर मोदी सरकार को घेरने के लिए लगातार प्रयासरत हैं। वहीं, दूसरी ओर वे शरणार्थी हैं, जिन्हें इस कानून के बनने से फायदा होने वाला है और वे बार-बार मोदी सरकार को आभार कहने से थक नहीं रहे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘शिवलिंग पर कंडोम’ से विवादों में आई सायानी घोष TMC कैंडिडेट, ममता बनर्जी ने आसनसोल से उतारा

बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए टीएमसी ने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। इसमें हिंदूफोबिक ट्वीट के कारण विवादों में रही सायानी घोष का भी नाम है।

‘हिंदू भगाओ, रोहिंग्या-बांग्लादेशी बसाओ पैटर्न का हिस्सा है मालवणी’: 5 साल पहले थे 108 हिंदू परिवार, आज बचे हैं 7

मुंबई बीजेपी के अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा ने महाराष्ट्र विधानसभा में मालवणी में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार का मसला उठाया है।

तापसी की चिंता में डूबे बॉयफ्रेंड भी आए IT जाँच के दायरे में, असली वजह फेर सकती है ‘गैंग’ के सपनों पर पानी

तापसी पन्नू के बॉयफ्रेंड बो के अनुराग कश्यप सहित कई बॉलीवुड हस्तियों के खिलाफ चल रही आयकर विभाग की कार्रवाई से बहुत गहरा संबंध है। एक और मामले से बो का जुड़ाव पता चला है जो उसके परेशानी का वास्तविक कारण है।

केरल गोल्ड तस्करी में CM विजयन और 3 कैबिनेट मंत्री डायरेक्ट शामिल: मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश ने किया खुलासा

केरल के सोना और डॉलर तस्करी मामले में मुख्य आरोपित स्वप्ना सुरेश ने बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन खुद ही...

तापसी के बॉयफ्रेंड को PM मोदी के मंत्री ने समझाया देश का कानून, टैक्स मामले में ट्वीट कर बता रहा था परेशानी

“भूमि का कानून सर्वोच्च है और हमें उसका पालन करना चाहिए। यह विषय आपके और मेरे डोमेन से परे है। हमें भारतीय खेलों के सर्वोत्तम हित में अपने पेशेवर कर्तव्यों पर कायम रहना चाहिए।"

33 आरोपित-200 चश्मदीद, रिया चकवर्ती का भी नाम: सुशांत सिंह से जुड़े ड्रग्स मामले में चार्जशीट फाइल

अभिनेता सुशांत सिंह राजूपत की मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने चार्जशीट दाखिल कर दी है।

प्रचलित ख़बरें

तिरंगे पर थूका, कहा- पेशाब पीओ; PM मोदी के लिए भी आपत्तिजनक बात: भारतीयों पर हमले के Video आए सामने

तिरंगे के अपमान और भारतीयों को प्रताड़ित करने की इस घटना का मास्टरमाइंड खालिस्तानी MP जगमीत सिंह का साढू जोधवीर धालीवाल है।

‘मैं 25 की हूँ पर कभी सेक्स नहीं किया’: योग शिक्षिका से रेप की आरोपित LGBT एक्टिविस्ट ने खुद को बताया था असमर्थ

LGBT एक्टिविस्ट दिव्या दुरेजा पर हाल ही में एक योग शिक्षिका ने बलात्कार का आरोप लगाया है। दिव्या ने एक टेड टॉक के पेनिट्रेटिव सेक्स में असमर्थ बताया था।

16 महीने तक मौलवी ‘रोशन’ ने चेलों के साथ किया गैंगरेप: बेटे की कुर्बानी और 3 करोड़ के सोने से महिला का टूटा भ्रम

मौलवी पर आरोप है कि 16 माह तक इसने और इसके चेले ने एक महिला के साथ दुष्कर्म किया। उससे 45 लाख रुपए लूटे और उसके 10 साल के बेटे को...

अंदर शाहिद-बाहर असलम, दिल्ली दंगों के आरोपित हिंदुओं को तिहाड़ में ही मारने की थी साजिश

हिंदू आरोपितों को मर्करी (पारा) देकर मारने की साजिश रची गई थी। दिल्ली पुलिस ने साजिश का पर्दाफाश करते हुए दो को गिरफ्तार किया है।

‘जाकर मर, मौत की वीडियो भेज दियो’ – 70 मिनट की रिकॉर्डिंग, आत्महत्या से ठीक पहले आरिफ ने आयशा को ऐसे किया था मजबूर

अहमदाबाद पुलिस ने आयशा और आरिफ के बीच हुई बातचीत की कॉल रिकॉर्ड्स को एक्सेस किया। नदी में कूदने से पहले आरिफ से...

BBC के शो में PM नरेंद्र मोदी को माँ की गंदी गाली, अश्लील भाषा का प्रयोग: किसान आंदोलन पर हो रहा था ‘Big Debate’

दिल्ली में चल रहे 'किसान आंदोलन' को लेकर 'BBC एशियन नेटवर्क' के शो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी (माँ की गाली) की गई।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,951FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe