Saturday, February 24, 2024

विषय

citizenship

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले लागू होगा सीएए, गृहमंत्री अमित शाह बोले- ‘विकसित भारत’ के लक्ष्य पर काम कर रही मोदी सरकार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ऐलान किया है कि लोकसभा चुनाव 2024 से पहले ही नागरिकता संसोधन विधेयक (सीएए) को लागू किया जाएगा।

विदेशी रहने और बसने का नहीं कर सकते दावा, कभी भी निकाल सकता है भारत: दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा- नागरिकों के बराबर उनके अधिकार...

अनुच्छेद 21 में शामिल "सभी" शब्द का अर्थ केवल भारतीय नागरिक हैं। अदालत ने कहा कि विदेशी नागरिकों का वीजा किसी भी समय रद्द किया जा सकता है।

ISIS आतंकी के ‘मानवाधिकार’ पर कोर्ट मेहरबान, ब्रिटेन की नागरिकता दी: पहचान छिपाकर रहने की आजादी भी

ISIS से लिंक के कारण इस 'आतंकी' का दो बार यूके ने पासपोर्ट रद्द किया था। बावजूद इसके ये यूके में दाखिल हुआ था।

‘इस जहाज के कप्तान हैं PM मोदी, उन्हें फॉलो कीजिए’: बोले अक्षय कुमार – हिन्दू हूँ, फ़िल्में नहीं चल रही थीं इसीलिए ली थी...

"मैं तो ये मानता हूँ आपने पीएम चुना है अब आप फॉलो करिए और ऐसा होना चाहिए। वैसे ही जैसे सेट पर डायरेक्टर आता है तो हम उन्हें फॉलो करते हैं। अभी वो 'कैप्टन ऑफ द शिप' हैं, हमें उन्हें फॉलो करना चाहिए।"

मिली भारत की नागरिकता, अब नहीं रहे कनाडा के सिटीजन: अक्षय कुमार के लिए खास बना 77वाँ स्वतंत्रता दिवस, 2019 में किया था आवेदन

अक्षय कुमार के लिए 77वाँ स्वतंत्रता दिवस खास बन गया है। उन्हें भारत की नागरिकता मिल गई है। 2019 में किया था आवेदन। इससे पहले वो कनाडा के सिटीजन थे।

PAB से गुजरात आए हिंदुओं और अन्य अल्पसंख्यकों को मिलेगी नागरिकता, मोदी सरकार का फैसला: 1955 का अधिनियम बना आधार

पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से गुजरात आए अल्पसंख्यकों को भारत की नागरिकता मिलेगी। केंद्र की मोदी सरकार ने यह निर्णय लिया है।

‘वहॉं नुकीले पत्थर निकले हैं… तो जमीन को समतल करना पड़ेगा, बैठने लायक करना पड़ेगा’

आज NRC और CAA पर जिस तरह भ्रम का माहौल बनाने की कोशिश हो रही। समुदाय विशेष को उकसाया जा रहा। ऐसा ही कभी अयोध्या में राम मंदिर को लेकर कॉन्ग्रेसियों और वामपंथियों ने किया था। तब संसद में वाजपेयी ने कहा था...

जय भीम-जय मीम: न जोगेंद्रनाथ मंडल से सीखा, न मरीचझापी में नामशूद्रों के नरसंहार से

जोगेंद्रनाथ मंडल के साथ जो कुछ हुआ वह बताता है कि 'जय भीम-जय मीम' दलितों के छले जाने का ही नारा है। मजहबी उन्मादी उनकी आड़ लेते हैं। कॉन्ग्रेसी और वामपंथी उनकी लाशों पर चढ़ 'मीम' का तुष्टिकरण करते हैं। #CAA के नाम पर जो हो रहा है वह इससे अलग नहीं।

CAA से नागरिकता पाने वाले 70-75% SC/ST, OBC गरीब, फिर रावण-कन्हैया जैसे इसका विरोध क्यों कर रहे

एससी/एसटी कमीशन के चेयरमैन ने बताया कि भारत में जिन शरणार्थियों को सीएए के तहत नागरिकता मिलने वाली है। उनमें 70 से 75 प्रतिशत दलित, ओबीसी और गरीब है। जिन्हें अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश से भगाया गया था।

‘हिंदू शब्द से ही देश में कुछ लोगों को एलर्जी, जो बिल्‍कुल सही नहीं, ऐसे लोगों की हम कोई सहायता नहीं कर सकते’

हिंदू एकमात्र धर्म है जो कहता है कि सभी धर्म सही हैं। यह इसकी महानता और इसकी खूबसूरती है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe