Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजबिहार के एक गाँव में मस्जिद की जाँच करने पहुँची पुलिस पर हमला, देखें...

बिहार के एक गाँव में मस्जिद की जाँच करने पहुँची पुलिस पर हमला, देखें Video

हिंसक भीड़ ने पुलिस की जीप को पास की तालाब में पलट दिया। गोली चलाए जाने की भी खबर है। बीडीओ, थानेदार सहित कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इस मामले में 15 लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर की गई है। चार लोगों को गिरफ्तार किए जाने की सूचना है।

Note: इस खबर में त्रुटिवश हमने गलत विडियो लगा दिया था। एक पाठक ने इस ओर हमारा ध्यान दिलाया, अब उसे हटा दिया गया है। इस घटना से संबंधित सही विडियो नीचे जोड़ा जा रहा है। हम ऐसे जागरुक पाठक का धन्यवाद करते हैं।

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के इज्तिमा में शामिल लोगों के कोरोना संक्रमित होने की बात सामने आने के बाद से पूरे देश में हड़कंप मचा हुआ है। इस घटना के बाद देश के अलग-अलग राज्यों में जमात के मरकज से निकले लोगों की तलाश की जा रही है, ताकि उनकी जॉंच की जा सके। इसी कड़ी में एक मस्जिद में जमात के लोगों के ठहरे होने और सामूहिक नमाज की सूचना मिलने पर बिहार पुलिस जॉंच के लिए पहुॅंची तो उस पर समुदाय विशेष की भीड़ ने हमला कर दिया।

घटना मधुबनी जिले के अंधराठाढ़ी ब्लॉक के गीदड़गंज गाँव की है। पुलिस को मंगलवार की शाम निशाना बनाया गया था। इस घटना के कई विडियो सामने आए हैं। इनमें औरतें और बच्चें भी भीड़ में शामिल दिख रहे हैं। विडियो में काफी शोरगुल के बीच मैथिली में गोली चलाए जाने और पुलिसकर्मियों के गाड़ी छोड़ कर भागने की बात कहते लोगों को आप सुन सकते हैं। एक शख्स पीएम मोदी का भी नाम ले रहा है।

मीडिया रिपोर्टों में हमलावर मदना पंचायत के पूर्व मुखिया और राजद प्रखंड अध्यक्ष के समर्थक बताए गए हैं। गीदड़गंज मदना पंचायत में ही आता है। जिस मस्जिद में जॉंच के लिए पुलिस टीम पहुॅंची थी वह राजद के इस नेता के घर के पास ही है। वही इसकी देखरेख भी करते हैं। बताया जाता है कि इस उपद्रव का फायदा उठाकर जमात के लोग फरार हो गए।

हिंसक भीड़ ने पुलिस की जीप को पास की तालाब में पलट दिया। गोली चलाए जाने की भी खबर है। बीडीओ, थानेदार सहित कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इस मामले में 15 लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर की गई है। चार लोगों को गिरफ्तार किए जाने की सूचना है। इस पूरी घटना को पूर्व नियोजित बताया जा रहा है, क्योंकि लोगों ने छतों पर पहले से पत्थर जमा कर रखे थे।

जमात के लोगों की तलाश में लगी पुलिस के कार्य में समुदाय विशेष के लोगों की तरफ से व्यवधान डाले जाने की घटना देश के अन्य राज्यों से भी सामने आई है। गुजरात के अहमदाबाद के गोमतीपुर में पुलिस पर पत्थरबाजी की गई। इसी तरह छत्तीसगढ़ के भिलाई में एक मस्जिद में चार महिलाओं सहित आठ लोग छिपे मिले। पश्चिम बंगाल के मिदनापुर के रहने वाले ये लोग मरकज से निकलने के बाद यहॉं पनाह लिए हुए थे। स्वास्थ्य विभाग की टीम जब इनकी जॉंच करने पहुॅंची तो इन्होंने हंगामा खड़ा कर दिया। पुलिस को भी गुमराह करने की कोशिश की।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

आज पाकिस्तान के लिए बैटिंग, कभी क्रिकेट कैंप में मौलवी से नमाज: वसीम जाफर पर ‘हनुमान की जय’ हटाने का भी आरोप

पाकिस्तान के साथ सहानुभूति रखने के कारण नेटिजन्स के निशाने पर आए वसीम जाफर पर मुस्लिम क्रिकेटरों को तरजीह देने के भी आरोप लग चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,586FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe