Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाज21 महीने की बच्ची से रेप, प्राइवेट अंगों के साथ क्रूरता… फिर हत्या: इस्माइल...

21 महीने की बच्ची से रेप, प्राइवेट अंगों के साथ क्रूरता… फिर हत्या: इस्माइल उर्फ ​​यूसुफ सलीम को कोर्ट ने सुनाई मौत की सजा

इस्माइल उर्फ ​​यूसुफ सलीम हाजत ने न सिर्फ 21 महीने की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म किया, बल्कि अपनी हवस मिटाने के लिए बच्ची के कोमल अंगों के साथ क्रूरता भी की। जिसके चलते आखिरकार लड़की की मौत हो गई।

सूरत जिला न्यायालय ने एक ऐतिहासिक फैसले में 21 महीने की बच्ची के अपहरण, बलात्कार और हत्या के दोषी को मौत की सजा सुनाई है। बुधवार (2 अगस्त, 2023) को कोर्ट ने इस्माइल उर्फ ​​यूसुफ सलीम हाजत को इस जघन्य अपराध के लिए मौत की सजा सुनाई।  

इस साल की शुरुआत में सूरत के सचिन इलाके में एक छोटी बच्ची के अपहरण, बलात्कार और हत्या के अपराध के दोषी इस्माइल यूसुफ हाजत को मौत की सजा सुनाई गई है। गौरतलब है कि दोषी इस्माइल उर्फ ​​यूसुफ सलीम हाजत ने न सिर्फ मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म किया, बल्कि अपनी हवस मिटाने के लिए बच्ची के कोमल अंगों के साथ क्रूरता भी की। जिसके चलते आखिरकार लड़की की मौत हो गई। 

21 महीने की बच्ची से बलात्कार और हत्या 

गौरतलब है कि इसी साल फरवरी महीने में सूरत के गाँव में रहने वाली 21 महीने की मासूम बच्ची की उसी गाँव में पड़ोस में रहने वाले 23 साल के इस्माइल नाम के युवक ने हत्या कर दी थी। दोषी इस्माइल उर्फ ​​यूसुफ सलीम हाजत अक्सर बच्ची के घर आता-जाता था। 27 फरवरी 2023 की शाम भी वह हर दिन की तरह बच्ची को खेलाने के लिए ले गया। 

जब इस्माइल देर तक नहीं लौटा तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। इसी बीच बच्ची का शव खुली जगह पर झाड़ियों में मिला। परिवार द्वारा तुरंत सूचना दिए जाने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों सहित पुलिस का काफिला मौके पर पहुँचा। वहाँ घटना के बाद आसपास के लोग भी जुट गए। मौके पर पहुँची पुलिस को बच्ची के माता-पिता ने बताया कि बच्ची को पड़ोस में रहने वाला इस्माइल खेलाने के लिए ले गया था। लिहाजा, पुलिस की गहन जाँच के बाद कुछ ही घंटों में दोषी इस्माइल उर्फ ​​यूसुफ को पकड़ लिया गया। 

11 दिन में पेश किया गया आरोप पत्र

जब यह घटना सामने आई तो सरकार, प्रशासन से लेकर पुलिस तक अलर्ट मोड में आ गई। महज 11 दिन की अल्प अवधि में आरोपित के खिलाफ आरोप पत्र पेश किया गया। मामले में पुलिस ने 85 दस्तावेजी सबूत पेश किए और 48 गवाहों के बयान लिए। बता दें कि इस मामले में आख़िरकार 431 पेज की चार्जशीट दायर की गई। 

पुलिस जाँच के दौरान कई चौंकाने वाली जानकारियाँ भी सामने आईं। उदाहरण के तौर पर दोषी इस्माइल यूसुफ हाजत के मोबाइल फोन से 200 से ज्यादा अश्लील फोटो और वीडियो मिले थे। इसके अलावा उसकी सर्च हिस्ट्री चेक करने पर पता चला कि उसने एक छोटे बच्चे को कैसे मारा जाए, इस पर भी सर्च किया था। 

मौत की सजा की माँग 

गौरतलब है कि इससे पहले 31 जुलाई को हुई सुनवाई में कोर्ट ने तमाम सबूतों के आधार पर आरोपित इस्माइल को दोषी करार दिया था। जिसके बाद सजा सुनाने के लिए 2 अगस्त का दिन तय किया गया था। 

बता दें कि सरकारी वकील ने इस मामले को दुर्लभतम मामलों में से एक माना और दोषी के लिए मौत की सजा की माँग की थी। इसके साथ ही सूरत में एक बच्ची के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या करने वाले इस्माइल के खिलाफ सीआरपीसी 73 के तहत कार्रवाई कर एकांत कारावास की प्राथमिक सजा की भी माँग की गई थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -