Thursday, May 30, 2024
Homeदेश-समाजतमिलनाडु: रथ यात्रा के दौरान बड़ा हादसा, हाईटेंशन तार की चपेट में आने से...

तमिलनाडु: रथ यात्रा के दौरान बड़ा हादसा, हाईटेंशन तार की चपेट में आने से 11 की मौत

वीडियो में देखा जा सकता है कि लाइव वायर के संपर्क में आने से रथ पूरी तरह से नष्ट हो गया। गौरतलब है कि हर साल तमिलनाडु में वार्षिक रथ उत्सव में बड़ी संख्या में भक्त भाग लेते हैं।

तमिलनाडु में एक हादसे में करंट लगने से 11 लोगों की मौत हो गई है। इनमें दो बच्चे भी हैं। 15 लोग घायल बताए जा रहे हैं। यह हादसा बुधवार (26 अप्रैल 2022) तड़के कालीमेदु गाँव में हुआ। अप्पर मंदिर से निकली रथ यात्रा के दौरान यह घटना हुई। घायलों का तंजावुर मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक रथ मुड़ने की कोशिश कर रही थी। इसी दौरान कोई बाधा आने से वह पलट गई। पुलिस और प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि पलटते समय रथ हाईटेंशन लाइन के संपर्क में आ गया। इसके बाद करंट पूरे रथ में फैल गया।

प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हादसे पर दुख जताते हुए PMNRF से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50,000 रुपए मुआवजे के तौर पर देने का ऐलान किया है।

तिरुचिरापल्ली के मध्य क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक वी बालकृष्णन ने बताया, “हादसे के संबंध में FIR दर्ज कर ली गई है। जाँच जारी है। फिलहाल यह बात सामने आई है कि संतुलन बिगड़ने के बाद रथ में करंट फैल गई जिसके कारण यह हादसा हुआ।” रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए, उन्होंने कहा, “सुबह लगभग 3.00 बजे यह त्रासदी हुई। यू-टर्न लेने की कोशिश करते समय रथ का संतुलन खो गया। हम अभी यकीनी तौर पर नहीं कह सकते कि रथ सीधे तार के संपर्क में आया था या बिजली के आर्क के संपर्क में। बिजली बोर्ड के अधिकारी मौके पर थे। हम पहले सटीक विवरण का पता लगाएँगे।”

घटना के एक वीडियो में देखा जा सकता है कि लाइव वायर के संपर्क में आने से रथ पूरी तरह से नष्ट हो गया। गौरतलब है कि हर साल तमिलनाडु में वार्षिक रथ उत्सव में बड़ी संख्या में भक्त भाग लेते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -