Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजमुंबई में चोरों ने दिन-दहाड़े खोद डाला फुटपाथ, चुरा लिए लाखों रुपए के ताँबे...

मुंबई में चोरों ने दिन-दहाड़े खोद डाला फुटपाथ, चुरा लिए लाखों रुपए के ताँबे के तार: पुलिस ने 5 को दबोचा, अन्य इलाकों में भी चोरी की आशंका

एमटीएनएल ने भी शिकायत की कि दादर-माटुंगा क्षेत्र में 400 से अधिक फ़ोन लाइनें ट्रिप हो गईं। जाहिर तौर पर तारों की चोरी के कारण ऐसा हुआ। माटुंगा पुलिस ने ताँबे की इस चोरी के लिए पाँच लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है। तारों की कीमत बाज़ार में ₹845 प्रति किलोग्राम है। अब संदेह है कि मुंबई के दूसरे इलाकों में भी ऐसी ही चोरियाँ हो सकती हैं, जहाँ सड़कें खोदी गई हैं।

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई जैसे महानगर में निर्माण कार्य कहीं ना कहीं चलते रहता है। सड़कों का काम भी कभी नहीं रूकता। भारत की वित्तीय राजधानी में खोदी हुई सड़कें आम बात हैं। जब कोई सड़क या फुटपाथ खोदा जाता है तो उसकी तरफ शायद ही किसी का ध्यान जाता होगा, लेकिन लुटेरों का इन पर पैनी नजर होती है।

कुछ इसी तरह का मुंबई के दादर इलाके से चोरी का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहाँ लुटेरों ने फुटपाथ खोदकर उसके नीचे दबे केबल से 6 से 7 लाख रुपए की कीमत के ताँबा के तार (कॉपर वायर) चुरा लिए। यह घटना डॉक्टर बाबासाहेब अंबेडकर रोड के दादर-माटुंगा खंड का है।

यहाँ फुटपाथ पर उखड़े हुए पेवर ब्लॉकों की नियमित जाँच के दौरान फुटपाथ के नीचे बिछाई गई यूटिलिटी केबल से ताँबे के तार चोरी होने का पता चला। लोगों ने सोचा कि यह मुंबई महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण (MMRDA) द्वारा किया जा रहा नियमित काम है, लेकिन यह चोरी का मामला निकला।

चोरों ने सड़क के किनारे फुटपाथ खोदकर उसके नीचे दबी एमटीएनएल की केबल से कई लाख रुपए का कॉपर चुरा लिया। दिलचस्प बात यह है कि मुंबई के बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने लगभग एक पखवाड़े तक उसी फुटपाथ पर काम किया था और फिर से उसे समतल कर दिया था। इस चोरी का पता तब चला जब एक स्थानीय व्यक्ति ने कुछ गड़बड़ देखी।

स्थानीय निवासियों ने इसके बारे में नगर निगम को जानकारी दी। इसकी सूचना मिलने के बाद नागरिक निकाय ने अपने कर्मचारियों को यह जाँच करने के लिए भेजा कि क्या हो रहा है। तभी उन्हें पता चला कि चोर फुटपाथ के नीचे यूटिलिटी केबल से ताँबे के तार चुरा रहे थे।

बाद में एमटीएनएल ने भी शिकायत की कि दादर-माटुंगा क्षेत्र में 400 से अधिक फ़ोन लाइनें ट्रिप हो गईं। जाहिर तौर पर तारों की चोरी के कारण ऐसा हुआ। माटुंगा पुलिस ने ताँबे की इस चोरी के लिए पाँच लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है। तारों की कीमत बाज़ार में ₹845 प्रति किलोग्राम है। अब संदेह है कि मुंबई के दूसरे इलाकों में भी ऐसी ही चोरियाँ हो सकती हैं, जहाँ सड़कें खोदी गई हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हमारे बारह’ पर जो बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, वही हम भी कह रहे- मुस्लिम नहीं हैं अल्पसंख्यक… अब तो बंद हो देश के...

हाई कोर्ट ने कहा कि उन्हें फिल्म देखखर नहीं लगा कि कोई ऐसी चीज है इसमें जो हिंसा भड़काने वाली है। अगर लगता, तो पहले ही इस पर आपत्ति जता देते।

NEET पर जिस आयुषी पटेल के दावों को प्रियंका गाँधी ने दी हवा, उसके खुद के दस्तावेज फर्जी: कहा था- NTA ने रिजल्ट नहीं...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में झूठी साबित होने के बाद आयुषी पटेल ने अपनी याचिका भी वापस लेने का अनुरोध किया। कोर्ट ने NTA को छूट दी है कि वह आयुषी पटेल के खिलाफ नियमानुसार एक्शन ले।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -