Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजआतंकी मसूद अजहर के नाम से यूपी के वीर सावरकर स्कूल को उड़ाने की...

आतंकी मसूद अजहर के नाम से यूपी के वीर सावरकर स्कूल को उड़ाने की धमकी

भारत ने हाल ही में यूएपीए कानून के तहत जैश सरगना को आतंकी घोषित किया गया है। पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हमले के बाद मसूद अजहर को यूएन ने भी ग्लोबल आतंकी घोषित किया था ।

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी के सतरिख थाना इलाके में एक निजी स्कूल को बम से उड़ाने की धमकी के बाद हड़कंप मच गया। स्कूल के मैनेजर के अनुसार, स्कूल की दीवार पर एक पत्र चिपका मिला, जिसमें लिखा था, “मैं मसूद अजहर (जैश-ए-मोहम्मद का सरगना) यह सूचित कर रहा हूँ कि स्कूल में बम लगाया गया है और उसका रिमोट मेरे हाथ में है। 16 सितंबर को 15 लाख रुपए लेकर लखनऊ के पास इंदिरा नहर से 100 मीटर की दूरी पर पहुँच जाना। वहाँ मेरा आदमी खड़ा मिलेगा। अगर कोई होशियारी की तो ध्यान रखना बम का रिमोट मेरे हाथ में है।”

मामला सतरिख थाना क्षेत्र के वीर सावरकर स्कूल का है। पत्र मिलते ही स्कूल के मैनेजर ने इसकी सूचना पुलिस को दी। जानकारी मिलते ही कई थानों की पुलिस और अधिकारी मौके पर पहुँचे। डॉग स्क्वॉड दस्ता भी मौके पर पहुँचा। जिसके बाद मामले की जाँच शुरू हुई। स्कूल में काफी देर तक जाँच-पड़ताल की गई, लेकिन मौके पर कुछ भी संदिग्ध सामान नहीं मिला। पुलिस का कहना है कि यह काम किसी शरारती तत्व का लगता है, लेकिन पत्र के आधार पर केस दर्ज कर पूरे मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी

गौरतलब है कि, कुछ महीने पहले ही आतंकी मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र ने ग्लोबल आतंकी घोषित किया है। इसके साथ ही भारत सरकार ने भी पिछले दिनों यूएपीए कानून के तहत जैश सरगना को आतंकी घोषित किया गया है। पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हमले के बाद भारत लगातार मसूद अजहर पर दबाव बना रहा था जिसके बाद जैश सरगना को यूएन ने ग्लोबल आतंकी घोषित किया। मसूद के संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने पुलवामा में आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कोरोना से अनाथ हुई लड़कियों के विवाह का खर्च उठाएगी योगी सरकार: शादी से 90 दिन पहले/बाद ऐसे करें आवेदन

योजना का लाभ पाने के लिए लड़कियाँ खुद या उनके माता/पिता या फिर अभिभावक ऑफलाइन आवेदन करेंगे। इसके साथ ही कुछ जरूरी दस्तावेज लगाने आवश्यक होंगे।

बंगाल की गद्दी किसे सौंपेंगी? गाँधी-पवार की राजनीति को साधने के लिए कौन सा खेला खेलेंगी सुश्री ममता बनर्जी?

ममता बनर्जी का यह दौरा पानी नापने की एक कोशिश से अधिक नहीं। इसका राजनीतिक परिणाम विपक्ष को एकजुट करेगा, इसे लेकर संदेह बना रहेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,780FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe