Saturday, July 24, 2021
Homeदेश-समाज'मंदिर में लाउडस्पीकर क्यों बजा रहे हो, बंद करो' - अफजल, शराफ और गुलजार...

‘मंदिर में लाउडस्पीकर क्यों बजा रहे हो, बंद करो’ – अफजल, शराफ और गुलजार ने स्वराज सिंह को बुरी तरह पीटा

स्वराज सिंह को मंदिर में लाउडस्पीकर से भजन और आरती करने के लिए गुलज़ार, अफज़ल और शराफ़ ने उनकी बेटी के सामने खूब पीटा। दोबारा ऐसा करने (लाउडस्पीकर पर भजन या आरती करने) पर जान से मारने की धमकी भी दी।

उत्तर प्रदेश के गौतम बुद्ध नगर स्थित एक गाँव में मंदिर के भीतर लाउडस्पीकर बजाने की वजह से कुछ युवकों ने स्वराज सिंह को बुरी तरह पीट दिया। मारपीट करने वाले गुलज़ार, अफज़ल, शराफ़ समेत कुछ अन्य लोग हैं। पुलिस अभी तक इस मामले में 3 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। 

घटना गौतम बुद्ध नगर के थाना दनकौर क्षेत्र स्थित अच्छेजा गाँव की है। गाँव के ही एक मंदिर में स्वराज सिंह पूजा पाठ करते हैं। बुधवार 9 सितंबर को दोपहर में गुलज़ार, अफज़ल, शराफ़ समेत अन्य युवकों ने उनके साथ मारपीट की। मारपीट की वजह थी कि मंदिर में लाउडस्पीकर बजाया जाता था। इसके बाद स्वराज सिंह की शिकायत पर पुलिस ने 3 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। 

उन्होंने अपनी शिकायत में यह बताया था कि वह रोज़ाना लाउडस्पीकर से भजन और आरती करते थे। बुधवार (4 सितंबर 2020) की सुबह गाँव के कुछ युवक आए और उन्होंने लाउडस्पीकर न बजाने की धमकी दी। इस पर उन्होंने विरोध किया, जिसके बाद आरोपितों ने जबरन लाउडस्पीकर बंद करवा दिया।  

दोपहर के वक्त वह अपनी बेटी के साथ खेत में चारा लेने के लिए गए थे। तभी कई युवक मौके पर लाठी और डंडे लेकर आए और उन्होंने बेटी के सामने खूब पीटा। फिर गुलज़ार, अफज़ल और शराफ़ नाम के युवकों ने उनको लाउडस्पीकर न बजाने के लिए कहा और ऐसा करने पर जान से मारने की धमकी दी।

घटना पर बात करते हुए अपर पुलिस उपायुक्त विशाल पांडे ने कहा, “हमें जानकारी मिली थी कि गाँव के एक पुजारी के साथ लाउडस्पीकर बजाने को लेकर मारपीट हुई। घटना दनकौर थाना क्षेत्र के अच्छेजा गाँव की है और इस मामले में मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। इसके अलावा आरोपितों को गिरफ्तार किया का चुका है और मामले की जाँच जारी है।” सावधानी के लिहाज़ से पूरे इलाके में भारी मात्रा में पुलिसबल तैनात कर दिया गया है।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कीचड़ मलती ‘गोरी’ पत्रकार या श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग… समाज/मदद के नाम पर शुद्ध धंधा है पत्रकारिता

श्मशानों से लाइव रिपोर्टिंग और जलती चिताओं की तस्वीरें छापकर यह बताने की कोशिश की जाती है कि स्थिति काफी खराब है और सरकार नाकाम है।

ओलंपिक में मीराबाई चानू के सिल्वर मेडल जीतने पर एक दुःखी वामपंथी की व्यथा…

भारत की एक महिला भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीता है। ये विज्ञान व लोकतंत्र के खिलाफ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe