Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजसंभल में भाई के फाँसी लगाने के बाद दूसरा भी फँदे पर झूला: सूचना...

संभल में भाई के फाँसी लगाने के बाद दूसरा भी फँदे पर झूला: सूचना मिलने पर पंजाब से घर लौट रहा था बड़ा भाई, रास्ते में उसने भी कर ली सुसाइड, कहा- घर की लाज रखना

संभल में 19 से 22 साल के बीच के तीन भाइयों ने एक के बाद एक फाँसी लगा ली, जिसमें से दो की मौत हो गई और एक भाई की हालत गंभीर है। छोटे भाई ने जंगल में शाम चार बजे के आसपास फाँसी लगाकर जान दे दी। सभी लोग छोटे भाई के शव को लाने गए तो बीच वाले भाई ने घर के कमरे में फाँसी लगा ली।

उत्तर प्रदेश के संभल में 19 से 22 साल के बीच के तीन भाइयों ने एक के बाद एक फाँसी लगा ली, जिसमें से दो की मौत हो गई। वहीं, एक भाई की हालत गंभीर है। दरअसल, छोटे भाई पान सिंह यादव ने फाँसी लगाकर आत्महत्या ली। इसी सदमे में बीच वाले भाई ने भी फाँसी लगा ली। वहीं, पंजाब में रहने वाले बड़े भाई को जब इसकी जानकारी मिली तो वह घर के लिए ट्रेन पकड़ ली, लेकिन रास्ते में उतर कर रेलवे पुलिया पर फाँसी लगा ली।

ये मामला संभल जिले के धनारी थाना क्षेत्र के औरंगाबाद गाँव की है। रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुवार (28 दिसंबर 2023) को 19 साल के पान सिंह, उससे बड़े बृजेश सिंह और सबसे बड़े भाई 22 साल के मुनेश सिंह ने फाँसी लगा ली। पिता से विवाद के बाद छोटे भाई पान सिंह ने जंगल में शाम चार बजे के आसपास फाँसी लगाकर जान दे दी। इसकी सूचना जब घर पर पहुँची तो कोहराम मच गया।

सभी लोग छोटे भाई के शव को लाने गए तो बीच वाले भाई बृजेश सिंह ने शाम को करीब 6 बजे घर के कमरे में फाँसी लगा ली। उसे घरवालों ने किसी तरह से बचाया और अस्पताल में भर्ती कराया, जहाँ उसकी हालत गंभीर है। इन सबकी जानकारी बड़े भाई मुनेश सिंह को लगी तो वह पंजाब से गाँव के लिए ट्रेन पकड़ लिया, लेकिन संभल के धनारी रेलवे स्टेशन पर उतरा रेलवे पुल के पास फाँसी लगा ली।

सबसे बड़े भाई मुनीश ने रेलवे पुलिया पर गमछे से फाँसी लगाने से पहले अपने परिजनों को कॉल किया था और आकर शव ले जाने के लिए कहा था। मुनेश के चचेरे भाई अनेकपाल के मुताबिक, “मुनीश ने घर पर कॉल करके कहा कि एक भाई मर गया और दूसरा भी मरने वाला है। दो भाई नहीं रहेंगे तो मैं अकेले जीकर क्या करूँगा। मैं फाँसी लागने जा रहा हूँ। मेरी डेडबॉडी आकर ले जाना।”

घटना पान सिंह और मुनेश सिंह की मौत हो गई है। वहीं, परिजनों ने पुलिस को सूचित किए बिना ही इनका अंतिम संस्कार कर दिया। वहीं, बृजेश सिंह की हालत गंभीर है और एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। एक के बाद एक करके तीनों भाइयों के फाँसी लगाने से विजय सिंह यादव के घर में मातम पसरा हुआ है और पूरे इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बड़े भाई मुनेश सिंह ने फाँसी लगाने से पहले अपने हाथ पर ही एक सुसाइड नोट लिखा है। सुसाइड नोट में उसने लिखा है, “हम दोनों भाइयों की आत्मा को शांति मिले। हमारे घर की लाज रखना। सब लोगों को राम-राम।” इस घटना के पीछे असली वजह क्या है, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आई है। परिवार भी खुलकर कुछ बता नहीं रहा है।

फाँसी लगाने की इन घटनाओं की जानकारी मिलते ही एसपी, एसडीएम और तहसीलदार मौके पर पहुँचे। इस मामले में पुलिस ने जाँच शुरू कर दी है। वहीं, मृतक के चचेरे भाई ने बताया कि तीनों भाइयों में सबसे छोटे पान सिंह ने पंजाब जाने की जिद की थी, लेकिन पिता ने मना कर दिया था। इसकी वजह से बुधवार (27 दिसंबर 2023) को उसका पिता के साथ विवाद हुआ और दूसरे दिन उसने फाँसी लगा ली।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -