Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाज22 साल की लड़की जिसके यहाँ जाती थी ट्यूशन पढ़ाने, उसी मो. अफरोज ने...

22 साल की लड़की जिसके यहाँ जाती थी ट्यूशन पढ़ाने, उसी मो. अफरोज ने बंदूक के सहारे घर से किया किडनैप

ट्यूशन टीचर के घर के बगल में ही आरोपित मो. अफरोज का घर बन रहा है। छानबीन में पता चला है कि 22 साल की लड़की मो. अफरोज के घर पढ़ाने जाया करती थी। पटना में 20 की संख्या में बदमाशों ने रात में...

बिहार की राजधानी पटना में हथियार के बल पर 22 साल की युवती के अपहरण का मामला उजागर हुआ है। युवती ट्यूशन टीचर है। अपहरण के दौरान जब परिवार वालों ने उसको बचाना चाहा तो बदमाशों ने उन पर भी फायरिंग की। वारदात के पीछे अब तक मोहम्मद अफरोज उर्फ का हाथ बताया जा रहा है।

पूरा मामला फुलवारी शरीफ के नोहसा इलाके का है। वहाँ 20 की संख्या में बदमाशों ने पहुँच कर घटना को देर रात अंजाम दिया। बीच में लड़की के घर वालों ने शोर मचा कर उन्हें रोकने का प्रयास किया मगर दूसरी ओर से बदमाशों ने 5 से 6 राउंड गोलीबारी कर दी। इसके बाद सारे फरार हो गए।

युवती के अपहरण से गुस्साए लोगों ने इलाके में घटना के बाद जम कर हंगामा किया। सूचना पाते ही मौके पर पुलिस भी पहुँची और बड़ी मशक्कत के बाद सबको शांत कराया गया। बाद में मामले की जानकारी लेकर पुलिस ने अपनी जाँच शुरू की और सीसीटीवी फुटेज से बदमाशों के फरार होने वाली तस्वीरें इकट्ठा की गई।

बता दें कि घटना के बाद से इलाके में तनाव का माहौल है। लोगों में गुस्सा इस बात का भी है कि आखिर घर में घुस कर सबके सामने युवती का अपहरण कैसे किया जा सकता है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस का कहना है कि बंदूक के नोक पर बदमाशों ने युवती का अपहरण किया। युवती के घर के बगल में ही आरोपित फिरोज का घर बन रहा है, जो मूलत: सहरसा का निवासी बताया जा रहा है। छानबीन में पता चला है कि युवती फिरोज के घर में पढ़ाने जाया करती थी। अब पुलिस हर पहलू से जाँच में जुटी है।

युवती के परिजनों ने बताया कि अफरोज 20 की संख्या में हथियार से लैस अपने साथियों के साथ आया और घर का दरवाजा खटखटाया। इस दौरान युवती के भाई ने दरवाजा खोला तो उसके बाद घर में दहशत फैला कर अफरोज और उसके साथियों ने घर के सदस्यों की पिटाई की। बाद में उनमें से कुछ लोगों ने परिवार वालों को रस्सी से बाँधा और फिर युवती को जबरन हथियार के बल पर अपने साथ ले गए। जब भाई ने विरोध किया तो उसको हथियार की बट से मार कर घायल किया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

Tokyo Olympics: 3 में से 2 राउंड जीतकर भी हार गईं मैरीकॉम, क्या उनके साथ हुई बेईमानी? भड़के फैंस

मैरीकॉम का कहना है कि उन्हें पता ही नहीं था कि वह हार गई हैं। मैच होने के दो घंटे बाद जब उन्होंने सोशल मीडिया देखा तो पता चला कि वह हार गईं।

मीडिया पर फूटा शिल्पा शेट्टी का गुस्सा, फेसबुक-गूगल समेत 29 पर मानहानि केस: शर्लिन चोपड़ा को अग्रिम जमानत नहीं, माँ ने भी की शिकायत

शिल्पा शेट्टी ने छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए 29 पत्रकारों और मीडिया संस्थानों के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मानहानि का केस किया है। सुनवाई शुक्रवार को।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,935FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe