Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजगंगा में बहती 21 दिन की नवजात को बचाया था, योगी सरकार से नाविक...

गंगा में बहती 21 दिन की नवजात को बचाया था, योगी सरकार से नाविक को मिला खास तोहफा, घर तक पक्की सड़क भी

सरकारी ऐलान के बाद गुरुवार (जून 17, 2021) को ही गाजीपुर के जिलाधिकारी एम पी सिंह गुल्लू चौधरी के घर उनसे जुड़ी जानकारी लेने पहुँचे, ताकि सुविधाएँ देने में देर न हो।

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में पिछले दिनों गंगा नदी में एक नाविक ने लकड़ी के डिब्बे में बहकर जा रही एक 21 दिन की नवजात बच्ची को बचाया था। बाद में योगी सरकार ने नाविक को आभार व्यक्त करते हुए ऐलान किया था कि सरकार उनकी योग्यता के हिसाब से उन्हें हर सरकारी योजना का लाभ देगी। अब खबर है कि, सरकार ने अपना वादा पूरा करने के क्रम में नाविक को नाव तोहफे में देने का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार (जून 16, 2021) को इस संबंध में अपने ट्वीट के जरिए जानकारी दी थी कि यूपी सरकार बच्ची की परवरिश का सारा खर्चा उठाएगी। साथ ही बच्ची को बचाने वाले गुल्लू चौधरी को सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जाएगा। इस ऐलान के बाद गुरुवार (जून 17, 2021) को ही गाजीपुर के जिलाधिकारी एम पी सिंह गुल्लू के घर उनसे जुड़ी जानकारी लेने पहुँचे, ताकि सुविधाएँ देने में देर न हो।

डिविजनल कमीशनर दीपक अग्रवाल ने कहा, “जिलाधिकारी गाजीपुर ने स्वयं चौधरी की आर्थिक स्थिति की जानकारी ली। पता चला है कि उनके पास एक घर है। इसलिए वह आवास योजना के लाभ हेतु पात्र नहीं पाए गए हैं। लेकिन पूछताछ में यह पता चला कि आजीविका कमाने के लिए कुछ अन्य व्यक्तियों की नाव को चलाते थे। ऐसे में प्रशासन ने सिफारिश करने का निर्णय लिया है कि उन्हें एक नाव दी जाए।”

इसके अलावा चौधरी ने अपने घर के बाहर पक्की सड़क बनाने की माँग की है। अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि इस मामले में जल्द सुनवाई की जाएगी। बता दें कि जिस रोड को लेकर गुल्लू ने माँग की है वह बेहद जर्जर अवस्था में है। अधिकारियों को इसके चलते चौधरी को दादरी घाट के पास बने मंदिर परिसर में बुलाना पड़ा।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मंगलवार (15 जून 2021) को गंगा में तैरता हुआ एक लकड़ी का बॉक्स दिखाई दिया। नदी किनारे रह रहे एक नाविक ने जब बॉक्स खोलकर देखा, तो उसमें एक नवजात बच्ची मिली। बॉक्स में माँ दुर्गा की फोटो के साथ कई देवी-देवताओं के फोटो लगे थे। इसमें बच्ची की जन्म कुंडली भी मिली। बच्ची को पुलिस आशा ज्योति केंद्र ले गई। जहाँ बच्ची को पूरी तरह स्वस्थ बताया गया।

नाविक गुल्लू चौधरी ने घटना के संबंध में पुलिस को बताया कि मंगलवार शाम उन्हें नदी के किनारे लकड़ी का बॉक्स मिला। उसमें से रोने की आवाज आ रही थी। मल्लाह को देख घाट पर मौजूद कुछ और लोग भी आ गए। लोगों ने बॉक्स खोला तो दंग रह गए। इसमें बच्ची चुनरी में लिपटी हुई रो रही थी। बॉक्स में माँ दुर्गा की फोटो के साथ एक पत्र भी लिखा हुआ था। पत्र में लिखा था माँ गंगा आपको कन्यादान कर रही हूँ। पत्र में ऊपर ‘ओम’ और नीचे ‘जय दुर्गा माँ’ लिखा हुआ था। नीचे बच्ची का नाम गंगा और जन्मदिन 21 मई 2021 लिखा हुआ था। साथ ही उसकी रा​शि, नक्षत्र, राशि का नाम व मन्नत का जिक्र किया हुआ ​था।।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

18 साल से ईसाई मजहब का प्रचार कर रहा था पादरी, अब हिन्दू धर्म में की घर-वापसी: सतानंद महाराज ने नक्सल बेल्ट रहे इलाके...

सतानंद महाराज ने साजिश का खुलासा करते हुए बताया, "हनुमान जी की मोम की मूर्ति बनाई जाती है, उन्हें धूप में रख कर पिघला दिया जाता है और बच्चों को कहा जाता है कि जब ये खुद को नहीं बचा सके तो तुम्हें क्या बचाएँगे।""

‘घेरलू खान मार्केट की बिक्री कम हो गई है, इसीलिए अंतरराष्ट्रीय खान मार्केट मदद करने आया है’: विदेश मंत्री S जयशंकर का भारत विरोधी...

केंद्रीय विदेश मंत्री S जयशंकर ने कहा है कि ये 'खान मार्केट' बहुत बड़ा है, इसका एक वैश्विक वर्जन भी है जिसे अब 'इंटरनेशनल खान मार्केट' कह सकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -