Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजUPSC के इंटरव्यू राउंड के असफल छात्रों को मिलेगी नौकरी, जानने के लिए पढ़ें...

UPSC के इंटरव्यू राउंड के असफल छात्रों को मिलेगी नौकरी, जानने के लिए पढ़ें पूरी ख़बर

हर साल क़रीब 11 लाख उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं। जिसमें से विभिन्न चरणों से गुज़रते हुए केवल 600 उम्मीदवारों का ही चयन हो पाता है।

दिन-रात मेहनत करके संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए अच्छी ख़बर है। दरअसल, सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू में चूकने वाले अभ्यर्थियों को नौकरी मिल सके इसके लिए संघ लोक सेवा आयोग ने एक नई पहल की है, जिससे अभ्यर्थियों को नौकरी मिल सकेगी। आयोग ने केंद्र सरकार से उसके मंत्रालयों में सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू में फेल होने वाले आवेदकों को भर्ती करने की सिफ़ारिश की है।

UPSC चेयरमैन अरविंद सक्सेना ने की पहल

अब अगर सरकार इस सिफ़ारिश को मान लेती है तो बड़ी संख्या में नौकरी से वंचित रहे युवाओं का सरकारी नौकरी मिल सकेगी। न्यू इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार ओडिशा में आयोजित राज्य लोक सेवा आयोग के 23वें सम्मेलन में UPSC के चेयरमैन अरविंद सक्सेना ने बताया है कि हमने केंद्र सरकार और मंत्रालयों से सिफ़ारिश की है, कि वे सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू में फेल होने वाले उम्मीदवारों की भर्ती करें।

उन्होंने जानकारी दी कि हर साल क़रीब 11 लाख उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं। जिसमें से विभिन्न चरणों से गुजरते हुए केवल 600 उम्मीदवारों का चयन हो पाता है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार उम्मीदवारों को दूसरे मंत्रालयों/विभागों में भर्ती पर विचार करती है तो इससे युवाओं का तनाव कम होगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe