Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजस्कूल के प्यार ने तोड़ दी मजहब की दीवार, फराह अंसारी सात फेरे ले...

स्कूल के प्यार ने तोड़ दी मजहब की दीवार, फराह अंसारी सात फेरे ले बनी राम की जानकी, बरेली के अयोध्या धाम में पूरा हुआ दोनों का ‘वनवास’

जानकी का कहना है कि वो राम को लंबे वक्त से जानती है। वो दोनों बचपन में एक प्राइवेट स्कूल में साथ ही पढ़ते थे। वो आगे कहती हैं कि वो राम से शादी करना चाहती थी, इसलिए उन्होंने हिंदू धर्म अपनाकर अपना नाम बदलकर जानकी रख लिया।

उत्तर प्रदेश के बरेली में फराह अंसारी नाम की मुस्लिम लड़की ने इस्लाम छोड़ हिंदू धर्म ही नहीं अपनाया बल्कि हिंदू लड़के राम से शादी कर वो उनकी जानकी भी बन गई। भुता थाने के अयोध्या धाम मंदिर में दोनों 30 दिसंबर, 2023 को सात फेरे लेकर जीवनसाथी बन गए।

इस विवाह में दोनों के परिवारवाले नहीं पहुँचे। प्रेमी युगल ने पुलिस को तहरीर देकर सुरक्षा की माँग की है। उनका कहना है कि उन्हें जान का खतरा है। ऐसे हालात में उन्हें सुरक्षा की जरूरत है। भले ही परिवार वाले न पहुँचे हों, लेकिन दोनों के एक होने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हैं। जानकी का कहना है कि वो राम को लंबे वक्त से जानती है। वो दोनों बचपन में एक प्राइवेट स्कूल में साथ ही पढ़ते थे। वो आगे कहती हैं कि वो राम से शादी करना चाहती थी, इसलिए उन्होंने हिंदू धर्म अपनाकर अपना नाम बदलकर जानकी रख लिया।

वो कहती हैं कि अब उन्हे फराह नहीं बल्कि जानकी के नाम से जाना जाएगा। फराह यानी जानकी 23 साल की है। वो कहती हैं कि उन्होंने जो किया अपनी मर्जी से किया। प्रेमी युगल का का कहना है कि साथ पढ़ने के दौरान ही दोनों को प्यार हो गया था। ये प्यार बीतते वक्त के साथ बढ़ता रहा और दोनों ने साथ मरने-जीने की कसमें तक खा लीं। बीते 6 साल से दोनों इस प्यार के रिश्ते में थे। जानकी के बालिग होने का राम ने 5 साल इतंजार किया।

बीटेक की पढ़ाई के बाद राम भुता कस्बे के कोचिंग चला रहे थे। दोनों के प्यार की जानकारी होने पर फरहा की पढ़ाई भी 10 वीं के बाद बंद करा दी गई। उसका बाहर निकलना भी बंद करा दिया गया। घरवालों ने फराह के लिए पूरनपुर से आए एक रिश्ते के लिए हामी भी भर दी थी।

फराह इस रिश्ते से इंकार करती रहीं। नहीं मानी तो उसके घरवालों अम्मी और मामू ने उसकी राम से शादी होने के तीन दिन पहले कमरे में बंद कर पिटाई की और गला दबाया। इसकी खबर होते ही पेशे से राम वहाँ और फराह के साथ मारपीट पर विरोध जताया।

इसके बाद पेशे से इंजीनियर राम फराह अंसारी को लेकर भुता थाने पहुँचे। दोनों के बीच मजहब की दीवार आ रही थी तो दोनों ने कानून का सहारा लेकर शादी की। भुता इंस्पेक्टर राजेश मिश्रा की मौजूदगी में पूजा के बाद फराह अंसारी का नाम जानकी रखा गया।

भुता थाने के अयोध्या धाम मंदिर में ब्राह्मणों के मंत्रोच्चारण संग हिंदू रीति रिवाज से राम के साथ जानकी ने सात फेरे हुए। इस दौरान नवविवाहित जोड़े को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के भुता प्रचारक सर्वेंद्र, खंड कार्यवाह परमात्मा स्वरुप सहित कई लोगों ने आशीर्वाद दिया।

पुलिस विभाग में राम के पिता मदनलाल फॉलोअर हैं। बताते चलें कि राम ने बीते साल बीजेपी की टिकट से वार्ड 54 से जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव भी लड़ा था। दोनों की शादी पुलिस पुलिस की मौजूदगी में गाजे-बाजे के साथ हुई। काफी लोग भी उनके विवाह के गवाह बने।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वकील चलाता था वेश्यालय, पुलिस ने की कार्रवाई तो पहुँचा हाई कोर्ट: जज ने कहा- इसके कागज चेक करो, लगाया ₹10000 का जुर्माना

मद्रास हाई कोर्ट में एक वकील ने अपने वेश्यालय पर कार्रवाई के खिलाफ याचिका दायर की। कोर्ट ने याचिका खारिज करके ₹10,000 का जुर्माना लगा दिया।

माजिद फ्रीमैन पर आतंक का आरोप: ‘कश्मीर टाइप हिंदू कुत्तों का सफाया’ वाले पोस्ट और लेस्टर में भड़की हिंसा, इस्लामी आतंकी संगठन हमास का...

ब्रिटेन के लेस्टर में हिन्दुओं के विरुद्ध हिंसा भड़काने वाले माजिद फ्रीमैन पर सुरक्षा एजेंसियों ने आतंक को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -