Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजमुर्गे की दुकान पर अनवर, शाहिद ने राहुल को दी 'जाति वाली गाली', भड़की...

मुर्गे की दुकान पर अनवर, शाहिद ने राहुल को दी ‘जाति वाली गाली’, भड़की हिंसा: 5 हिरासत में

मुर्गे की दुकान के बाहर खड़े अनवर और शाहिद ने राहुल उर्फ काजू कन्नौजिया को जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली दी और उसे मारने की बात कही। इसके बाद...

उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के चिरैयाकोट में शनिवार (अगस्त 22, 2020) को साम्प्रदायिक तनाव जैसा माहौल पैदा हो गया। वहाँ मुर्गे की दुकान के बाहर खड़े अनवर और शाहिद ने राहुल कनौजिया उर्फ काजू के ऊपर कथित तौर पर जातिसूचक टिप्पणी की।

इसके बाद झगड़ा इतना बढ़ गया कि वहाँ देखते ही देखते कई लोग इकट्ठा हो गए। बाद में पुलिस ने घटनास्थल पर पहुँचकर मामला शांत करवाया और कुछ उपद्रवियों को हिरासत में लिया।

अमर उजाला की रिपोर्ट बताती है कि यह लड़ाई किसी बड़े मुद्दे पर नहीं भड़की थी लेकिन माहौल शांत होते-होते 10 लोग घायल हो गए। स्थिति देखते हुए पुलिस को गाँव में फोर्स की तैनाती करनी पड़ी। हालाँकि हैरानी की बात है कि दोनों तरफ से किसी पक्ष ने पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं करवाई। लेकिन बताया जा रहा है कि पुलिस ने 5 लोगों को हिरासत में लिया है और इस मामले पर आगे कार्रवाई भी की जाएगी।

पूरा मामला छपरा गाँव में मुर्गे की एक दुकान से शुरू हुआ। यहाँ गाँव के ही तीन युवक अनवर, शाहिद और राहुल उर्फ काजू कन्नौजिया खड़े थे। इस दौरान अनवर और शाहिद ने जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए राहुल को मारने की बात कही।

इतना ही नहीं, बीते 3 अगस्त को नहाने के दौरान पानी में डूबने से हुई मौत की घटना का जिक्र करते हुए लड़कों ने अपशब्दों का प्रयोग किया। इन बातों को सुन वहाँ खड़े व्यक्ति ने विरोध किया।

इस पर दोनों पक्षों के बीच कहासुनी के बाद हाथापाई हो गई। मारपीट होने पर दोनों युवकों के परिवार के सदस्य भी वहाँ पहुँचे और दोनों तरफ से जमकर ईंट-पत्थर और लाठी-डंडा चला।

घटना में एक तरफ से अंकुर (18), पंकज (50), ऊषा (55), अनूप (30), राहुल (28), निशा (30), जबकि दूसरे तरफ से साकीना (22), साबिया (45), कासिम (40), महताब (19) आदि घायल हुए।

बता दें कि 3 अगस्त के जिस मामले को लेकर दो पक्षों में बहस बढ़ी, उसमें अमन कनौजिया नाम के एक युवक की मौत हो गई थी और कनौजिया के परिवार ने इस मामले में आरोप लगाया था कि गाँव के ही दो युवक उसे नदी पर लेकर गए थे और वहाँ जबरदस्ती उसे पुल से छलांग लगवाई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रंजनगाँव का गणपति मंदिर: गणेश जी ने अपने पिता को दिया था युद्ध में विजय का आशीर्वाद, अष्टविनायकों में से एक

पुणे के इस स्थान पर भगवान गणेश ने अपनी पिता की उपासना से प्रसन्न होकर उन्हें दर्शन दिया था। इसके बाद भगवान शिव ने...

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe