Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजसड़क पर कोरोना संक्रमण के लिए चेकिंग: UP पुलिस लोगों को दे रही ग्लव्स...

सड़क पर कोरोना संक्रमण के लिए चेकिंग: UP पुलिस लोगों को दे रही ग्लव्स व मास्क, गाड़ियों को कर रही सैनिटाइज

ये है यूपी पुलिस। जहाँ एक तरफ वो अपराधियों को एनकाउंटर में मार गिराती है, वहीं दूसरी तरफ लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए उनकी जाँच करती है और उन्हें ज़रूरी चीजें मुहैया कराती है।

लोग लॉकडाउन का सख्ती से पालन करें और क़ानून तोड़ने वालों को सज़ा मिले, इसके लिए यूपी पुलिस तरह-तरह के क्रिएटिव आईडिया आजमा रही है। इससे पहले हमने देखा था कि कैसे इसका पालन न करने वालों और बेवजह सड़क पर भटकने वालों के हाथ में प्लाकार्ड थमा कर उनकी तस्वीरें क्लिक की जा रही है। इन प्लाकर्ड्स पर क़ानून तोड़ने वालों को कोरोना का दोस्त और समाज का दुश्मन बताया गया है। यूपी में कोरोना के अब तक 35 मामले सामने आ चुके हैं, इसीलिए पुलिस एहतियातन सख्त क़दम भी उठा रही है ताकि लोग इस खतरनाक वायरस के संक्रमण से बचें और घर में रहें। इधर, पुलिस ने मॉक-ड्रिल कर के भी अपने कर्मचारियों को लोगों के टेस्ट करने का प्रशिक्षण दिया।

लेकिन, साथ-साथ पुलिस अन्य तरीकों से भी लोगों का ख्याल रख रही है। पुलिस अनाउंसमेंट के लिए लाउडस्पीकर का प्रयोग कर रही है। नीचे संलग्न किए गए वीडियो में आप देख सकते हैं कि जैसे ही वो कार आई, पुलिस ने माइक से गाड़ी रोकने का निर्देश दिया ताकि अंदर के पैसेंजरों को चेक किया जा सके। जैसे ही लोग गाड़ी से उतरते हैं, पुलिस उनका टेम्परेचर चेक करती है। इसके लिए उन्हें एक निश्चित दूरी पर खड़ा किया जाता है और पुलिस अपने उपकरण से टेस्ट करती है।

इसके बाद लोगों को मास्क और ग्लब्स दिए जाते हैं और उन्हें पहनने को कहा जाता है। मामला संदिग्ध पाए जाने पर पुलिस उन्हें लेकर हॉस्पिटल जाती हैं। लेकिन हाँ, हॉस्पिटल ले जाने से पहले पुलिस स्प्रे मार कर गाड़ी को सैनिटाइज करना नहीं भूलती। ये है यूपी पुलिस। जहाँ एक तरफ वो अपराधियों को एनकाउंटर में मार गिराती है, वहीं दूसरी तरफ लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए उनकी जाँच करती है और उन्हें ज़रूरी चीजें मुहैया कराती है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्पष्ट निर्देश है कि लोगों को ज़रूरी चीजें उनके घर तक मुहैया कराई जाए ताकि उन्हें घर से बाहर निकल कर बाजार न जाना पड़े। उन्होंने कहा कि राज्य के स्टॉक में अनाज और सब्जियों या फलों व दूध की कमी नहीं है, इसीलिए जनता को पैनिक होने या घबरा कर अपने घर में स्टॉक जमा करने की आवश्यकता नहीं है। उत्तर प्रदेश के पुलिस व प्रशासन के इन क़दमों के कारण उनकी खूब वाहवाही हो रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -