Monday, May 16, 2022
Homeदेश-समाजकाशी विश्वनाथ मंदिर के सामने नमाज पढ़ने लगी मुस्लिम महिला, पुलिस ने जबरन हटाया,...

काशी विश्वनाथ मंदिर के सामने नमाज पढ़ने लगी मुस्लिम महिला, पुलिस ने जबरन हटाया, बोले लोग- नमाजियों की ऐसी भीड़ यहाँ पहले नहीं देखी

कोर्ट द्वारा वीडियोग्राफी के आदेश के बाद वाराणसी में चप्पे-चप्पे पर पुलिस का सख्त पहरा लगा दिया गया है। खुद वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश सुरक्षा व्यवस्था को संभालने के लिए सड़क पर उतर आए हैं।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के वाराणसी स्थित काशी विश्वनाथ और ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का आज शुक्रवार (6 मई 2022) को अदालती आदेश के बाद वीडियोग्राफी का काम शुरू हो गया है। इस दौरान दोनों पक्षों की ओर से जमकर नारेबाजी भी हुई। इससे पहले वहाँ का माहौल तब गरमा गया जब काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर 4 के सामने एक मुस्लिम महिला नमाज पढ़ने लगी। वहाँ पर तैनात सुरक्षाबलों ने पहले तो उसे डिस्टर्ब नहीं किया, लेकिन काफी देर तक इंतजार करने के बाद उसे जबरन वहाँ से हटाना पड़ा

रिपोर्ट के मुताबिक, वाराणसी के जैतपुरा थाना क्षेत्र की रहने वाली मुस्लिम महिला का नाम आयशा बताया जा रहा है। थाना चौक पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपित महिला मानसिक रूप से बीमार है। फिलहाल उसे पुलिस की हिरासत में रखा गया है।

कोर्ट कमिश्नर की अगुआई में वीडियोग्राफी

दोपहर 3 बजे से कोर्ट कमिश्नर की अगुआई में वीडियोग्राफी सुनिश्चित है। इस दौरान हिंदू पक्ष और मुस्लिम पक्ष की ओर पहुँचे। इसमें अंजुमन इंतजामिया कमेटी के लोग भी शामिल रहेंगे। इसके अलावा, दोनों समुदाय के लोग भारी संख्या में वहाँ पहुँचे हैं। इस बीच मस्जिद को हरे पर्दे से ढंक दिया गया है। दरअसल काशी विश्वनाथ मंदिर धाम के गेट नंबर 4 के बगल से मस्जिद की ओर जाने का करीब 8 फीट चौड़ा रास्ता है। इस रास्ते से मस्जिद का पूरा हिस्सा दिखता है। इस हिस्से को हरे पर्दे और होर्डिंग लगा कर ढंक दिया गया।

इससे पहले नहीं दिखी ऐसी भीड़

जुमे की नमाज के कारण सामान्यतया यहाँ भीड़ होती है, लेकिन लोगों का कहना है कि इससे पहले इतनी भीड़ यहाँ पहले कभी नहीं देखी गई थी। माना जा रहा है कि मस्जिद के सर्वे को लेकर इतनी भीड़ इकट्ठा हुई थी। बता दें कि कोर्ट ने 30 अप्रैल 2022 को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर स्थित माता श्रृंगार गौरी एवं अन्य विग्रहों की स्थिति का पता लगाने के लिए वीडियोग्राफी कराने का आदेश दिया था।

सड़क पर उतरे पुलिस कमिश्नर

कोर्ट द्वारा वीडियोग्राफी के आदेश के बाद वाराणसी में चप्पे-चप्पे पर पुलिस का सख्त पहरा लगा दिया गया है। खुद वाराणसी के पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश सुरक्षा व्यवस्था को संभालने के लिए सड़क पर उतर आए हैं। इसके साथ ही एलआईयू की टीमों समेत इंटेलीजेंस ब्यूरो की टीमें भी सिविल ड्रेस में इलाके पर नजर रख रही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,227FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe