उत्तरकाशी के टिकोची में राहत कार्य में लगा हेलीकॉप्टर क्रैश, तीन दिनों में दूसरा हादसा

मोरी ब्लॉक में बादल फटने से 20 से भी अधिक गाँव प्रभावित हैं। एक आँकड़े के अनुसार, उत्तराखंड में बाढ़ से अब तक कम से कम 47 लोग अपनी जान गँवा चुके हैं।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में शुक्रवार (23 अगस्त) को दोपहर में एक हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया। उत्तरकाशी के डीएम आशीष चौहान ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि अराकोट, जहाँ बादल फटने की घटना हुई थी; उसके पास टिकोची इलाक़े में हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया। इस हादसे में पायलट और को-पायलट समेत बोर्ड के लोगों को मामूली चोटें आई हैं।

बीते तीन दिनों में हेलीकॉप्टर क्रैश होने की यह दूसरी घटना है। इससे दो दिन पहले ही बुधवार (21 अगस्त) को ज़िले के मोरी ब्लॉक, जोकि बादल फटने से प्रभावित इलाक़ा है, वहाँ राहत सामग्री ले जा रहा एक हेलीकॉप्टर हादसे का शिकार हो गया था। इस हेलीकॉप्टर में सवाल तीन लोगों की जान चली गई थी। इनमें कैप्टन लाल, को-पायलट शैलेश और एक स्थानीय नागरिक राजपाल की मृत्यु हो गई थी।

उत्तरकाशी में शनिवार (17 अगस्त) की रात को अराकोट, माकुड़ी और टिकोची में बादल फटा था। इसके चलते आसपास के गाँवों में भारी बारिश से तबाही मच गई थी। तभी से NDRF की टीमों के अलावा सेना के हेलीकॉप्टर उत्तरकाशी में राहत और बचाव अभियान में मुस्तैदी के साथ जुटे हुए हैं। भारी वर्षा के चलते उत्तरकाशी में नदियाँ उफान पर हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मोरी ब्लॉक में बादल फटने से 20 से भी अधिक गाँव प्रभावित हैं। एक आँकड़े के अनुसार, उत्तराखंड में बाढ़ से अब तक कम से कम 47 लोग अपनी जान गँवा चुके हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नीरज प्रजापति, हेमंत सोरेन
"दंगाइयों ने मेरे पति को दौड़ा कर उनके सिर पर रॉड से वार किया। इसके बाद वो किसी तरह भागते हुए घर पहुँचे। वहाँ पहुँच कर उन्होंने मुझे सारी बातें बताईं। इसके बाद वो अचानक से बेहोश हो गए।" - क्या मुख्यमंत्री सोरेन सुन रहे हैं मृतक की पत्नी की दर्द भरी आवाज़?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

145,306फैंसलाइक करें
36,933फॉलोवर्सफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: