Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजफलों को मुँह में डालकर फिर रखा ठेले पर; वीडियो हुआ वायरल तो माँगी...

फलों को मुँह में डालकर फिर रखा ठेले पर; वीडियो हुआ वायरल तो माँगी माफ़ी… मुज़फ्फरनगर में हिन्दू संगठनों द्वारा बाप-बेटे पर एक्शन की माँग

आरोपित ने कहा, "जल्दी के चक्कर में मैं और मेरे बेटे ने सेब के कुछ डंठल मुँह से तोड़ दिए। मैं क्षमा चाहूँगा। जूठे सेबों को बेचने का मेरा कोई इरादा नहीं हैं। आज के बाद कभी जिंदगी में ऐसा नहीं होगा।"

उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर जिले में फलों को जूठा करके ठेले पर बेचने का मामला सामने आया है। आरोपित का नाम आशु है, जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में फलों पर आशु के साथ उसका बेटा भी थूकता दिख रहा है। मामला सामने आने के बाद आशु ने वीडियो जारी करके माफ़ी माँगी है और दोबारा ऐसा न करने का वादा है। ऑपइंडिया से बातचीत के दौरान बजरंग दल ने आशु को मुस्लिम समुदाय का बताया है और कार्रवाई की माँग की है। घटना शनिवार (7 अक्टूबर 2023) की है।

यह मामला मुजफ्फरनगर जिले के कोतवाली नगर थाना क्षेत्र का है। वायरल वीडियो यहाँ के हिंदू बाहुल्य क्षेत्र कहे जाने वाले भगत सिंह रोड स्थित हनुमान चौक का है। 7 अक्टूबर 2023 को एक वीडियो तेजी से वायरल से हो रहा है, जिसे इस जगह का बताया जा रहा है। वायरल वीडियो में एक बाप-बेटा ठेले पर रखे सेब पर मुँह लगाते नजर आ रहे हैं। आसपास व्यस्त माहौल है, जहाँ लोग आते-जाते दिखाई दे रहे हैं। दूर खड़े किसी व्यक्ति ने इस वीडियो को बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

वीडियो वायरल होने के बाद हिन्दू संगठनों ने नाराजगी जताई। VHP और बजरंग दल का एक प्रतिनिधिमंडल कोतवाली नगर पहुँचकर आरोपित के खिलाफ कार्रवाई की माँग करने लगा। ऑपइंडिया से बात करते हुए बजरंग दल पदाधिकारी शुभम वर्मा ने पुलिस पर आरोप लगाया कि वो आरोपित आशु को बचा रही है। आशु को मुस्लिम समुदाय का बताते हुए शुभम ने माफ़ी को नाकाफी बताया। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस मामले को दबाने की साजिश रच रही है।

वहीं, इस मामले के तूल पकड़ने के बाद खुद आरोपित आशु सामने आया। उसने वीडियो जारी करके लोगों से अपनी हरकत के लिए माफ़ी माँगी। आशु ने फलों में मुँह लगाने की गलती स्वीकार की। उन्होंने कहा, “जल्दी के चक्कर में मैं और मेरे बेटे ने सेब के कुछ डंठल मुँह से तोड़ दिए। मैं क्षमा चाहूँगा। जूठे सेबों को बेचने का मेरा कोई इरादा नहीं हैं। आज के बाद कभी जिंदगी में ऐसा नहीं होगा।” फिलहाल अभी तक इस मामले में पुलिस का पक्ष सामने नहीं आया है। पुलिस का वर्जन आने के बाद उसे खबर में अपडेट किया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

‘आपातकाल तो उत्तर भारत का मुद्दा है, दक्षिण में तो इंदिरा गाँधी जीत गई थीं’: राजदीप सरदेसाई ने ‘संविधान की हत्या’ को ठहराया जायज

सरदेसाई ने कहा कि आपातकाल के काले दौर में पूरे देश पर अत्याचार करने के बाद भी कॉन्ग्रेस चुनावों में विजयी हुई, जिसका मतलब है कि लोग आगे बढ़ चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -