Wednesday, June 19, 2024
Homeदेश-समाजउपद्रवियों के मोबाइल में कोचिंग सेंटरों के वीडियो, पटना DM ने दिए जाँच के...

उपद्रवियों के मोबाइल में कोचिंग सेंटरों के वीडियो, पटना DM ने दिए जाँच के आदेश: व्हाट्सएप्प कॉल से पुलिस को दिया जा रहा चकमा

दानापुर रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ और आगजनी के मामले में पुलिस ने 170 मामले दर्ज किए हैं और 46 उपद्रवियों को गिरफ्तार भी किया है।

भारत सरकार की अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) को लेकर बिहार (Bihar) में वबाल पर अब वहाँ के कोचिंग सेंटर सरकार के रडार पर आ गए हैं। पटना जिला प्रशासन को शक है कि हो सकता है अग्निपथ योजना के खिलाफ आग कोचिंग सेंटरों से ही भड़की हो। इसी को देखते हुए पटना के जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखकर ने इनकी भूमिका की जाँच का आदेश जारी किया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, डॉ चंद्रशेखर ने सख्त लहजे में चेतावनी दी है कि अगर कहीं भी कोचिंग चलाने वालों की भूमिका इस हिंसक आंदोलन में नजर आई तो कोचिंग संचालकों के खिलाफ कड़े से कड़ा एक्शन लिया जाएगा। वीडियो फुटेज के जरिए उपद्रवियों की तलाश की जा रही है।

क्यों रडार पर हैं बिहार के कोचिंग सेंटर

‘अग्निपथ’ योजना के विरोध में बिहार सुलग रहा है। दानापुर रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ और आगजनी के मामले में पुलिस ने 170 मामले दर्ज किए हैं और 46 उपद्रवियों को गिरफ्तार भी किया है। पटना के डीएम चंद्रशेखर के मुताबिक, गिरफ्तार किए गए उपद्रवियों के मोबाइल की जाँच करने पर कुछ कोचिंग सेंटरों के वीडियो फुटेज और मैसेज मिले हैं। इसी कारण से अब इस हिंसा को लेकर कोचिंग सेंटरों पर शक गहरा गया है।

‘दैनिक भास्कर’ की रिपोर्ट के मुताबिक, इस बार युवाओं के विरोध का पैटर्न जरूर बदला है, लेकिन पटना के कोचिंग हब कहे जाने वाले मछुआ टोली, भखनी पहाड़ी समेत कई अन्य जगहों में जहाँ भी कोचिंग सेंटर हैं, वहीं से इसकी हिंसा की आग फैली है। हालाँकि, RRB NTPC के विरोध प्रदर्शनों से सबक लेकर इस बार विरोध के टेंड्र को बदलकर सतर्कता पर फोकस किया गया है। प्रदर्शनकारी सोशल मीडिया, मैसेज आदि से परहेज कर रहे हैं और वो अब व्हाट्सएप कॉल का सहारा ले रहे हैं। ताकि पुलिस को चकमा दे सकें।

गौरतलब है कि शनिवार (18 जून, 2022) को बिहार में बंद का आह्वान किया गया है। जबकि एक दिन पहले शुक्रवार को हुई हिंसा में रेलवे की 8 बोगियों, 27 रेलवे स्टेशनों और 14 ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -