Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजबंगाल में हिंसा के बाद बरामद हुई बम बनाने की सामग्री, पुलिस ने जब्त...

बंगाल में हिंसा के बाद बरामद हुई बम बनाने की सामग्री, पुलिस ने जब्त किए 7 बैग

बंगाल में पंचायत चुनाव नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन तक राज्य के विभिन्न हिस्सों में संघर्ष जारी रहा। जिसमें बीरभूम के अहमदपुर में खंड विकास कार्यालय में हिंसा जैसी घटनाएँ शामिल है। यहाँ कथित तौर पर देसी बम फेंके गए थे।

पश्चिम बंगाल के 24 परगना के भांगर में राज्य पुलिस को बम बनाने की सामग्रियाँ बरामद हुई है। पुलिस को ये सामग्री, राज्य में पंचायत चुनाव के लिए नामांकन के दौरान हुई हिंसा के बाद मिली। पुलिस ने कुल सात बैग बरामद किए जिसमें भूसी जैसी चीज मिली। अब पुलिस आगे जाँच कर रही है।

बता दें कि बंगाल में पंचायत चुनाव नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन तक राज्य के विभिन्न हिस्सों में संघर्ष जारी रहा। बीरभूम के अहमदपुर में खंड विकास कार्यालय में कथित तौर पर देसी बम फेंके गए थे। इसके अलावा कुछ जगह गोली चलने की बात भी सामने आई थी।

हालाँकि, अधिकारियों के मुताबिक, इस घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। सामने आई वीडियोज के मुताबिक, इलाके में देसी बम भी फेंके गए हैं। पुलिस ने मारपीट में शामिल कुछ लोगों को हिरासत में लिया है।

व्यवस्था बनाए रखने के प्रयास में दक्षिण 24 परगना जिले में भारी सुरक्षा तैनाती की गई है। पिछले दो दिनों में सत्तारूढ़ टीएमसी और नौशाद सिद्दीकी के नेतृत्व वाले इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के समर्थकों के बीच झड़पों के कारण कई क्षेत्रों, विशेष रूप से भांगर ब्लॉक में तनाव व्याप्त है।

पुलिस को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए संघर्ष करते हुए देखा गया। वहीं हिंसा करने पर उतारू लोगों ने पुलिस पर भी हमला किया। इस हमले में झड़प के दौरान एसडीपीओ सहित कुछ पुलिसकर्मियों को चोटें आईं।

कैनिंग उप-विभागीय पुलिस अधिकारी दिबाकर दास ने कहा, “दो समूहों के बीच झड़प हुई थी। भीड़ ने पुलिस पर भी हमला किया। उस दौरान मेरे हाथ में भी चोट आई थी। कुछ पुलिसकर्मियों को मामूली चोटें आई हैं। 2 लोग घायल हो गए। हमने 17-18 लोगों को गिरफ्तार किया है। घटना की जाँच की जा रही है।”

बता दें कि पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव 8 जुलाई को एक ही चरण में होंगे, जिसकी मतगणना 11 जुलाई को होनी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K में योग दिवस मनाएँगे PM मोदी, अमरनाथ यात्रा भी होगी शुरू… उच्च-स्तरीय बैठक में अमित शाह का निर्देश – पूरी क्षमता लगाएँ, आतंकियों...

2023 में 4.28 लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने बाबा अमरनाथ का दर्शन किया था। इस बार ये आँकड़ा 5 लाख होने की उम्मीद है। स्पेशल कार्ड और बीमा कवर दिया जाएगा।

परचून की दुकान से लेकर कई हजार करोड़ के कारोबार तक, 38 मुकदमों वाले हाजी इक़बाल ने सपा-बसपा सरकार में ऐसी जुटाई अकूत संपत्ति:...

सहारनपुर में मिर्जापुर का रहने वाला मोहम्मद इकबाल परचून की दुकान से काम शुरू कर आगे बढ़ता गया। कभी शहद बेचा, तो फिर राजनीति में आया और खनन माफिया भी बना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -