Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजछोटे कपड़े पहनकर नाइट पार्टी में जाने को कहता था इमरान, नूरी ने नहीं...

छोटे कपड़े पहनकर नाइट पार्टी में जाने को कहता था इमरान, नूरी ने नहीं मानी बात तो दे दिया तीन तलाक!

"मुस्‍तफा चाहता था कि मैं छोटे कपड़े पहनूँ, रात में पार्टी में चलूँ और शराब का सेवन करूँ। जब मैंने ऐसा करने से मना कर दिया तो उसने हर दिन मेरी पिटाई की।"

देश में एक ओर जहाँ तीन तलाक पर कानून बनने के बाद भी उस पर बहस नहीं रुक रही, वहीं दूसरी ओर इससे जुड़े मामले भी कम होने का नाम नहीं ले रहे। हालिया मामला बिहार के पटना का है। जहाँ नूरी फातमा नाम की महिला को उसके पति ने सिर्फ़ इसलिए तलाक दे दिया क्योंकि उसने मॉर्डन बनने और शराब पीने से मना कर दिया था। मिली जानकारी के अनुसार महिला ने इस संबंध में महिला आयोग को शिकायत की है और अपने पति को नोटिस भी भेजा।

नूरी फातमा के अनुसार उसका निकाह इमरान मुस्तफा से 2015 में हुआ था। इसके बाद दोनों दिल्ली शिफ्ट हो गए थे। लेकिन यहाँ आने के कुछ दिन बाद उसने मुझसे मॉडर्न लड़कियों की तरह रहने को कहा, वो चाहता था कि नूरी छोटे कपड़े पहने, नाइट पार्टी में जाएँ, और शराब पिए। लेकिन जब उसने ऐसा करने से मना किया तो वो उसे हर रोज मारने लगा।

“मुस्‍तफा चाहता था कि मैं छोटे कपड़े पहनूँ, रात में पार्टी में चलूँ और शराब का सेवन करूँ। जब मैंने ऐसा करने से मना कर दिया तो उसने हर दिन मेरी पिटाई की।”

महिला ने आरोप लगाया, “कई सालों तक मुझपर अत्याचार करने के बाद, कुछ दिन पहले उसने मुझे उसका घर छोड़ने को कहा। लेकिन जब मैंने मना किया, तो उसने मुझे तीन तलाक दे दिया।”

इस मामले के संबंध में बिहार राज्य की महिला आयोग अध्यक्ष दिलमानी मिश्रा ने बताया कि महिला का पति उसे हमेशा परेशान करता था और वे उसका जबरन दो बार गर्भपात भी करवा चुका था। लेकिन अब आयोग ने इस मामले पर संज्ञान ले लिया है। उन्होंने बताया कि एक सितम्बर को तलाक दिया गया था और उन्होंने महिला के पति को नोटिस भेज दिया है।

गौरतलब है कि 1 अगस्त को राष्ट्रपति कोविंद ने तीन तलाक को अपराध करार देने वाले ऐतिहासिक विधेयक को अपनी मंजूरी दी थी। उनके हस्ताक्षर के साथ ही तीन तलाक कानून बन गया था। जिसको 19 सितंबर 2018 से लागू माना जाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

जातिवाद, सांप्रदायिकता, परिवारवाद… PM मोदी ने देश को INDI गठबंधन की 3 बीमारियों से किया आगाह, कहा- ये कैंसर से भी अधिक विनाशक

पीएम मोदी ने कहा कि मोदी घर-घर पानी पहुँचा रहा है, सपा-कॉन्ग्रेस वाले आपके घर की पानी की टोंटी भी खोल कर ले जाएँगे और इसमें तो इनकी महारत है।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -