Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजसपा नेता आज़म खान के 'ड्रीम प्रोजेक्ट' आला हजरत हज हाउस के निर्माण की...

सपा नेता आज़म खान के ‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ आला हजरत हज हाउस के निर्माण की होगी जाँच: योगी सरकार ने दिए आदेश

योगी आदित्यनाथ सरकार ने समाजवादी पार्टी के कार्यकाल के दौरान गाजियाबाद में 51 करोड़ रुपए की लागत से निर्माण किए गए आला हजरत हज हाउस की जाँच के आदेश दिए है। राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंद गोपाल नंदी ने हज हाउस के निर्माण में जरूरत से ज्यादा खर्च हुए धनराशि का पता चलने के बाद एसआईटी को जाँच के आदेश दिए है।

सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान की मुश्किलें और भी बढ़ने वाली है। योगी आदित्यनाथ सरकार ने समाजवादी पार्टी के कार्यकाल के दौरान गाजियाबाद में 51 करोड़ रुपए की लागत से निर्माण किए गए आला हजरत हज हाउस की जाँच के आदेश दिए है। राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंद गोपाल नंदी ने हज हाउस के निर्माण में जरूरत से ज्यादा खर्च हुए धनराशि का पता चलने के बाद एसआईटी को जाँच के आदेश दिए है।

राज्य सरकार ने 31 अगस्त को यूपी पुलिस महानिदेशक एचसी अवस्थी को जारी किए आदेश में कहा कि विशेष जाँच दल (एसआईटी) को दो महीने के भीतर अपनी रिपोर्ट जमा करनी है।

गृह विभाग के अनुसार, यूपी राज्य हज समिति के सचिव और कार्यकारी अधिकारी राहुल गुप्ता ने 11 जून को एक विज्ञप्ति में योगी सरकार को हज हाउस के निर्माण में हुई गड़बड़ी के बारे में सचेत किया था। उन्होंने लिखा था कि निर्माण पर भारी धनराशि खर्च करने के बावजूद, कमियों को सुधारने और आम जनता के लिए प्रतिष्ठान को तैयार करने का कोई प्रयास नहीं किया गया। उन्होंने यह भी बताया कि एग्जेक्युटिंग एजेंसी, कंस्ट्रक्शन एंड डिज़ाइन सर्विसेज (C& DS) ने अब तक निर्माण के दौरान हुए खर्च का कोई विवरण नहीं दिया है।

गौरतलब है गाजियाबाद में यह हज हाउस सपा के कार्यकाल के दौरान बनाया गया था। उस वक्त सपा मुखिया अखिलेश यादव को तमाम तरह के मामलों से घिरे थे। वहीं चोरी और जालसाजी जैसे कई मामलों में आरोपित सपा नेता आज़म खान उनके मंत्रिमंडल का हिस्सा थे। सऊदी अरब के मक्का की तीर्थयात्रा पर जाने वाले मुस्लिमों को सहायता देने के लिए 51 करोड़ रुपए की लागत से आला हजरत हज हाउस का निर्माण किया गया था।

4.3 एकड़ के क्षेत्र में फैले इस परिसर में 47 डोरमेट्री हॉल और 36 वीआईपी कमरे शामिल हैं। हज हाउस में 1,886 व्यक्ति बैठ सकते हैं। इस हज हाउस का उद्घाटन यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और राज्य के पूर्व अल्पसंख्यक मंत्री आज़म खान ने 4 सितंबर 2016 को किया था। इसे सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट न होने के कारण फरवरी 2018 में नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने सील कर दिया था।

वहीं योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना वायरस को मद्देनजर रखते हुए गाजियाबाद के अर्थला में बने आलीशन आला हजरत हज हाउस को 500 बेड के आइसोलेशन सेंटर में बदलने की घोषणा की थी। ताकि इसमें कोरोना वायरस से संक्रमित या ग्रसित मरीजों को रखा जा सके।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe