Sunday, July 12, 2020
Home विचार राजनैतिक मुद्दे बाप के बनाए काले कानून से बेटे के कैद होने का कर्मफल: फ़ारूक़ अब्दुल्ला...

बाप के बनाए काले कानून से बेटे के कैद होने का कर्मफल: फ़ारूक़ अब्दुल्ला और कश्मीरियत

पुराने दौर में तस्कर अगर पकड़े भी जाते थे, तो उनपर मामूली धाराएँ लगती और वो जल्दी ही छूटकर फिर से तस्करी के धंधे में जुट जाते। शायद उनकी अम्मा सिखाती होगी कि कोई भी धंधा छोटा नहीं होता और धंधे से बड़ा धर्म नहीं होता।

ये भी पढ़ें

Anand Kumarhttp://www.baklol.co
Tread cautiously, here sentiments may get hurt!

हाल के दौर में जिन्होंने फर्नीचर खरीदने की सोची होगी, उसे शायद कीमतों का अंदाजा होगा। मामूली प्लाईवुड का बना पाँच बाई तीन का टेबल भी चार-पाँच हज़ार का आता है। ऐसे में प्लाईवुड के बने चालीस-पचास हज़ार के पलंग/सोफे को अगर लकड़ी से बनवाया जाए तो कितनी कीमत आएगी? लाख में? ये लकड़ी अगर साधारण आम-जामुन के पेड़ के बदले शीशम की हो तब कितनी कीमत होगी? शीशम से भी महंगे सागवान का इस्तेमाल कर रहे हों तब?

शायद समझ में आ गया होगा कि चालीस हज़ार का पलंग दो लाख का हो चला है। अब सोचिए कि आपके पास ही जंगल हो, और ढेरों लकड़ी की तस्करी करने का मौका मिले तो स्थानीय माफिया क्या ऐसा मौका जाने देगा? हरगिज़ नहीं, जंगलों से लकड़ी चुराने के लिए पेड़ तो काटे ही जाएँगे।

करीब पचास साल पहले जम्मू-कश्मीर में भी ऐसा ही होता था। जंगलों की अवैध कटाई से पर्यावरण को तो नुकसान होता ही था ऊपर से तस्करों को पकड़ने वालों के लिए दूसरी समस्या भी थी। ये बिलकुल गौ-तस्करी या चोरी जैसा मामला था। एक बार गाय का अगर कीमा बना दिया, तो किसकी गाय थी, या गाय ही थी भैंस नहीं, ये कैसे सिद्ध होगा? लकड़ी का भी एक बार फर्नीचर बना डाला तो चोरी का पेड़, तस्करी की लकड़ी ये सब सिद्ध करना करीब नामुमकिन होता था।

अभी भी वैष्णो देवी जाने वाले कई युवा लौटते समय कटरा इत्यादि से क्रिकेट-बेसबॉल बैट या हॉकी स्टिक जैसी चीज़ें खरीदते आते हैं। पुराने दौर में तस्कर अगर पकड़े भी जाते थे, तो उनपर मामूली धाराएँ लगती और वो जल्दी ही छूटकर फिर से तस्करी के धंधे में जुट जाते। शायद उनकी अम्मा सिखाती होगी कि कोई भी धंधा छोटा नहीं होता और धंधे से बड़ा धर्म नहीं होता।

खैर 1970 के ऐसे ही दौर में जम्मू-कश्मीर में पब्लिक सेफ्टी एक्ट बना। पीएसए (1970) नाम से जाने जाने वाले इस एक्ट को भूतपूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला के अब्बू यानी शेख अब्दुल्ला ने लागू किया था। ये मुख्य रूप से लकड़ी के तस्करों के खिलाफ चला। शुरुआत में इसमें 16 साल से ऊपर के किसी भी व्यक्ति को दो साल तक के कारावास की सजा बिना मुकदमा चलाए ही दी जा सकती थी। बाद में (2011 में) न्यूनतम उम्र को 16 से बढ़ाकर 18 साल किया गया।

बाद में जब इलाके में कश्मीरियत (कश्मीर + शरियत) का बोलबाला हुआ तबसे ये एक्ट अलगाववादी, आतंकी, दहशतगर्द जेहादी, कश्मीरियत दिखाने वाले (यानि पत्थरबाज) सभी पर लगने लगा। हिजबुल मुजाहिद्दीन (इस्लाम की राह में लड़ने वाले पाक योद्धाओं का दल) के बुरहान वानी (जिसे एक कुख्यात पक्षकार हेडमास्टर का बेटा बता रही थी) के मारे जाने के बाद इसी कानून से पाँच सौ से ज्यादा अलगाववादी कैद किए गए थे।

पीएसए के तहत किसे कैद रखा जाए किसे नहीं, इसे बीच-बीच में एक समिति जाँचती रहती है। इसे हाई कोर्ट में चैलेंज भी किया जा सकता है। इस धारा में किसी को कैद करने के लिए स्थानीय डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट या डिवीज़नल कमिश्नर का आदेश काफी है। हाल में फारुख अब्दुल्ला के 83 की उम्र में कैद होने पर कई लोगों ने छाती कूट कुहर्रम मचाना शुरू किया है। तेरासी साल के व्यक्ति को रिटायर होने लायक, लाचार, बूढ़ा मानने वाले ये वही लोग हैं जो उससे ज्यादा उम्र के अडवानी के रिटायर होने की तरफ बढ़ने पर छाती कूटते इसे मोदी की साजिश बता रहे थे।

शोर यहाँ तक फैला कि बिहार में “हंसुए की शादी में खुरपी के गीत गाते” अपने छोटे मोदी (सुमो) ने आईएफएस अफसरों की मीडिया से संपर्क बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की गोष्ठी में भी मीडिया के बदले कश्मीर और फारुक अब्दुल्ला का जिक्र कर डाला।

बाकी जम्मू में एएफ(एसपी)ए लागू होने से करीब दो दशक पहले के कानून की तुलना नए ट्रैफिक जुर्मानों से करना भी हंसुए की शादी में खुरपी के गीत कहा भी जा सकता है। हाँ, बाप के बनाए काले कानून से बेटे के कैद होने में जो कर्मफल का सिद्धांत है, सो तो हइये है!

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Anand Kumarhttp://www.baklol.co
Tread cautiously, here sentiments may get hurt!

ख़ास ख़बरें

मध्य प्रदेश के 2 मिशनरी संस्थाओं को दी मान्यता: CARA सीईओ रहे दीपक और हनीट्रैप में फँसे अधिकारियों की जुगलबंदी

इन संस्थाओं में आने वाले बच्चों को शुरू से ही ईसाई बनाने की प्रक्रिया में डाल दिया जाता है। वे गले में क्रॉस लटकाते हैं। परिसर में ही चर्च में प्रेयर्स करते हैं।

माना, ठाकुर के हाथ नजर नहीं आते, पर ये हाथ न होता तो जय-वीरू आजाद न होते

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस जब सरकार बनाई थी, तब से ही सिंधिया, पायलट और सिंहदेव को लेकर कयास लगने शुरू हो गए थे।

गहलोत सरकार पर बढ़ा संकट: दिल्ली में पायलट-सिंधिया की मुलाकात, राहुल गाँधी से बातचीत अभी तय नहीं

अशोक गहलोत सरकार पर संकट गहराता जा रहा है। अपने गुट के विधायकों सहित बागी सुर लेकर दिल्ली पहुँचे उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने...

22 लोगों के लिए नौकरी, सब सीट पर मुस्लिमों की भर्ती: पश्चिम बंगाल या पाकिस्तान का ऑफिस? – Fact Check

22 के 22 सीटों पर जिन लोगों का चयन हुआ है, वो सब मुस्लिम हैं। पश्चिम बंगाल के नाडिया जिले में हुई चयन प्रक्रिया को लेकर सोशल मीडिया में...

‘BJP के संपर्क में सचिन पायलट’ और कपिल सिब्बल ने की ‘घोड़े’ की बात: कॉन्ग्रेस में भारी नुकसान की आशंका

गहलोत सरकार पर संकट मंडराते देख कपिल सिब्बल ने चिंता जाहिर की है। उन्होंने ट्विटर पर राजस्थान सरकार का जिक्र किए बगैर...

क्या अमिताभ अपने घर को साफ़ नहीं कर सकते: बिना प्रोटोकॉल समझे पत्रकार ने केंद्र पर लगाए आरोप, रोया टैक्स का रोना

अमिताभ बच्चन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार का देश के लिए उठाए गए हर क़दम के बाद समर्थन किया था। इसीलिए वामपंथी गैंग उनसे नाराज़ रहता है।

प्रचलित ख़बरें

मैं हिंदुओं को सबक सिखाना चाहता था, दंगों से पहले तुड़वा दिए थे सारे कैमरे: ताहिर हुसैन का कबूलनामा

8वीं तक पढ़ा ताहिर हुसैन 1993 में अपने पिता के साथ दिल्ली आया था और दोनों पिता-पुत्र बढ़ई का काम करते थे। पढ़ें दिल्ली दंगों पर उसका कबूलनामा।

व्यंग्य: विकास दुबे एनकाउंटर पर बकैत कुमार की प्राइमटाइम स्क्रिप्ट हुई लीक

आज सुबह खबर आई कि एनकाउंटर हो गया। स्क्रिप्ट बदलनी पड़ी। जज्बात बदल गए, हालात बदल गए, दिन बदल गया, शाम बदल गई!

टीवी और मिक्सर ग्राइंडर के कचरे से ‘ड्रोन बॉय’ प्रताप एनएम ने बनाए 600 ड्रोन: फैक्ट चेक में खुली पोल

इन्टरनेट यूजर्स ऐसी कहानियाँ साझा कर रहे हैं कि कैसे प्रताप ने दुनिया भर के विभिन्न ड्रोन एक्सपो में कई स्वर्ण पदक जीते हैं, 87 देशों द्वारा उसे आमंत्रित किया गया है, और अब पीएम मोदी के साथ ही डीआरडीपी से उन्हें काम पर रखने के लिए कहा गया है।

कांगड़ा में रातोरात अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने तोड़ा मंदिर, हिन्दुओं में भड़का आक्रोश: तनाव को देखते हुए जाँच में जुटी पुलिस

इंदौरा थाना क्षेत्र में समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने मंदिर को तहस-नहस कर दिया। जिसके चलते हिन्दू समुदाय के लोग भड़क गए और माहौल तनावपूर्ण हो गया।

कॉन्ग्रेस नेता उदित राज के संगठन ने किया ब्राह्मणों और न्यायपालिका का अपमान: जनेऊधारी ‘सूअर’ से की तुलना

उदित राज के इस परिसंघ ने न केवल ब्राह्मणो के खिलाफ घृणित टिप्पणी की बल्कि उनकी तुलना सूअर से कर डाली। इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट में देश की न्यायपालिका के खिलाफ भी अपमानजनक टिप्पणी की।

‘पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान याद करो’ – शिक्षिका शैला परवीन ने LKG और UKG के बच्चों को दिया टास्क

व्हाट्सप्प ग्रुप में पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान पोस्ट किया गया। बच्चों के लिए उन मुल्कों के राष्ट्रगान का यूट्यूब वीडियो डाला गया।

मध्य प्रदेश के 2 मिशनरी संस्थाओं को दी मान्यता: CARA सीईओ रहे दीपक और हनीट्रैप में फँसे अधिकारियों की जुगलबंदी

इन संस्थाओं में आने वाले बच्चों को शुरू से ही ईसाई बनाने की प्रक्रिया में डाल दिया जाता है। वे गले में क्रॉस लटकाते हैं। परिसर में ही चर्च में प्रेयर्स करते हैं।

एक तिहाई बहुमत से बनाएँगे सरकार: गुजरात कॉन्ग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बनते ही गणित भूले हार्दिक पटेल, हुई किरकिरी

गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को कॉन्ग्रेस ने राज्य में पार्टी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है। लेकिन, नियुक्ति के बाद किए गए ट्वीट में वह गणित ही भूल बैठे।

अब आकार पटेल ने अभिताभ बच्चन और सचिन तेंदुलकर के लिए दिखाई घृणा

अमिताभ बच्चन के कोरोना संक्रमित होने के बाद हर कोई उनकी सलामती की दुआ कर रहा है। पर आकार पटेल जैसों की न तो मानसिकता आम है और न तौर-तरीके।

राजस्थान में सियासी संकट के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट कर कॉन्ग्रेस और अशोक गहलोत पर साधा निशाना

"यह देखकर दुखी हूँ कि मेरे पुराने सहयोगी सचिन पायलट को भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा दरकिनार कर दिया गया। यह दिखाता है कि कॉन्ग्रेस में प्रतिभा और क्षमता पर कम ही भरोसा किया जाता है।"

माना, ठाकुर के हाथ नजर नहीं आते, पर ये हाथ न होता तो जय-वीरू आजाद न होते

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कॉन्ग्रेस जब सरकार बनाई थी, तब से ही सिंधिया, पायलट और सिंहदेव को लेकर कयास लगने शुरू हो गए थे।

गहलोत सरकार पर बढ़ा संकट: दिल्ली में पायलट-सिंधिया की मुलाकात, राहुल गाँधी से बातचीत अभी तय नहीं

अशोक गहलोत सरकार पर संकट गहराता जा रहा है। अपने गुट के विधायकों सहित बागी सुर लेकर दिल्ली पहुँचे उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने...

गाड़ी से नहीं, प्लेन से भेजा जाए कानपुर: विकास दुबे के साथी गुड्डन त्रिवेदी ने लगाई गुहार

विकास दुबे के एनकाउंटर से उसके साथी दहशत में हैं। अरविंद उर्फ़ गुड्डन त्रिवेदी ने मुंबई से कानपुर प्लेन से भेजने की गुहार कोर्ट से लगाई है।

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस MLA प्रद्युम्न लोधी ने पार्टी से दिया इस्तीफा, थामा BJP का हाथ

कॉन्ग्रेस को यह झटका ऐसे समय में लगा है जब उप-चुनाव होने ही वाले हैं। मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस विधायक प्रद्युम्न लोधी ने शिवराज सिंह से मिलकर...

ऐश्वर्या और आराध्या को भी कोरोना, जया बच्चन नेगेटिव, हेमा मालिनी ने खुद को बताया फिट

"ऐश्वर्या राय बच्चन और उनकी बेटी आराध्या बच्चन भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जया बच्चन की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आई है। हम बच्चन परिवार के जल्द ठीक होने की कामना करते हैं।"

22 लोगों के लिए नौकरी, सब सीट पर मुस्लिमों की भर्ती: पश्चिम बंगाल या पाकिस्तान का ऑफिस? – Fact Check

22 के 22 सीटों पर जिन लोगों का चयन हुआ है, वो सब मुस्लिम हैं। पश्चिम बंगाल के नाडिया जिले में हुई चयन प्रक्रिया को लेकर सोशल मीडिया में...

हमसे जुड़ें

238,717FansLike
63,428FollowersFollow
273,000SubscribersSubscribe