Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजसबरीमाला: सोनिया ने लगाई अपने ही सांसदों को फ़टकार, विरोध प्रदर्शन करने से भी...

सबरीमाला: सोनिया ने लगाई अपने ही सांसदों को फ़टकार, विरोध प्रदर्शन करने से भी कर दिया साफ़ मना

सबरीमाला विवाद इस समय देश के बड़े विवादों में से एक बन चुका है। केरल के सबसे पुराने सबरीमाला मंदिर में हाल ही में 40 वर्षीय दो महिलाओं ने प्रवेश कर लिया था। जिसका विरोध जगह-जगह किया गया। जिसमें केरल में कांग्रेस सांसदों ने तो इस बात का विरोध करने के लिए काले दिवस का भी आह्वान किया था।

कांग्रेस के सांसद इस दिशा में लोकसभा में काली पट्टी को बांध कर संसद भी पहुंचे थे, लेकिन यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उन सबको विरोध प्रदर्शन करने से मना कर दिया। सोनिया गांधी का मानना है कि उनकी पार्टी एक ऐसी पार्टी है, जो महिलाओं के अधिकार के बारे में बात करती है। इसलिए कांग्रेस के किसी भी शख्स को ऐसे विरोध नहीं करना चाहिए, क्योंकि ऐसा करना पार्टी के खिलाफ जा सकता है।

आपको बता दें कि फिलहाल लोकसभा में केरल के 7 सांसद हैं। अब से तीन महीने पहले सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए सभी उम्र वाली महिलाओं के लिए एंट्री खोल दी थी। इस दौरान मुख्यमंत्री पिनरई विजयन की सरकार ने औरतों को मंदिर में प्रवेश देने के फैसले का समर्थन किया था, जबकि अब केरल कांग्रेस के अध्यक्ष और लोकसभा सांसद मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने सीएम पर आरोप लगाते हुए कहा है कि मंदिर में दो महिलाओं का इस तरह प्रवेश कर लेना एक साजिश है, जिसको रचने वाले खुद सीएम महोदय हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष की यदि मानें तो वह ये सब करके हिंदू वोट बैंक को बाँट देना चाहते हैं। वहीं, दूसरी तरफ राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस ने सबरीमाला केस पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का समर्थन किया था। लेकिन अब दो महिलाओं के मंदिर में घुसने के कारण काला दिवस का आह्वान उनके दो रूपों को जनता के समक्ष लेकर आता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,576FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe