Thursday, July 7, 2022
Homeराजनीतिकर्नाटक के बाद अब आंध्र प्रदेश: TDP के 18 विधायक और 30 MLC बीजेपी...

कर्नाटक के बाद अब आंध्र प्रदेश: TDP के 18 विधायक और 30 MLC बीजेपी में हो सकते हैं शामिल

पिछले दिनों देवधर ने कहा था कि कैश-फॉर-वोट घोटाले से लेकर विभिन्न विवादास्पद सरकारी अनुबंधों की वजह से टीडीपी सरकार गले तक भ्रष्टाचार में डूबी हुई है। यही वजह है कि अधिकांश विधायक, यहाँ तक कि उनके करीबी सहयोगी भी पार्टी को छोड़ रहे हैं।

केंद्र में दोबारा सरकार गठन के बाद जहाँ देश भर में बीजेपी नेताओं के हौसले बुलंद हैं, वहीं क्षेत्रीय पार्टियों की हालत दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। कर्नाटक में कॉन्ग्रेस-जेडीएस गठबंधन में जारी उथल-पुथल जहाँ अब खुलकर सामने आ गई है, वहीं आंध्र प्रदेश में तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) की हालत भी कुछ ऐसी ही है, जहाँ पार्टी के विधायक और नेताओं में हलचल मची हुई है। इस बीच बीजेपी ने दावा किया है कि टीडीपी के 18 विधायक और 30 एमएलसी पार्टी के साथ संपर्क में है। आंध्र प्रदेश की सत्ता हाथ से निकलने के बाद अब चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी पर भी संकट के बादल छाए हुए हैं।

आंध्र प्रदेश के भाजपा प्रभारी सुनील देवधर ने दावा किया है कि टीडीपी के 18 विधायक और 30 एमएलसी उनके संपर्क में हैं और वो जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि टीडीपी अब एक ऐसी पार्टी है, जिसका कोई भविष्य नहीं है, क्योंकि नायडू का भ्रष्टाचार सामने आ चुका है। अगले 2 साल में नायडू जेल जाएँगे। देवधर के इस दावे ने राज्य की राजनीति में खलबली मचा दी है।

पिछले दिनों देवधर ने कहा था कि कैश-फॉर-वोट घोटाले से लेकर विभिन्न विवादास्पद सरकारी अनुबंधों की वजह से टीडीपी सरकार गले तक भ्रष्टाचार में डूबी हुई है। यही वजह है कि अधिकांश विधायक, यहाँ तक कि उनके करीबी सहयोगी भी पार्टी को छोड़ रहे हैं। राज्यसभा के 4 सांसद पहले ही भाजपा में शामिल हो चुके हैं और अब अन्य नेता पार्टी से जुड़ने के लिए संपर्क कर रहे हैं।

गौरतलब है कि पार्टी के चार राज्यसभा सांसद हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए थे। टीडीपी के कुल 6 राज्यसभा सांसद थे, जो अब 2 रह गए हैं। टीडीपी के एम रमेश, टीजी वेंटकेश, जी मोहन राव और वाईएस चौधरी पिछले महीने बीजेपी में शामिल हुए थे। जिससे चंद्रबाबू नायडू को तगड़ा झटका लगा था। जिस समय ये दल-बदल हुआ था, उस समय नायडू अपने परिवार के साथ विदेश में छुट्टियाँ मना रहे थे। बता दें कि, राज्य में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में वाईएसआर कॉन्ग्रेस को प्रचंड बहुमत हासिल हुई है, जिसके बाद जगन मोहन रेड्डी सीएम का पदभार संभाल रहे हैं। वाईएसआर कॉन्ग्रेस ने 175 विधानसभा सीटों में से 151 सीटों पर जीत हासिल की, जबकि एन चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी 102 से 23 सीटों पर सिमटकर रह गई थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इस्लामी कट्टरपंथी काटते रहे और हिंदू आत्मरक्षा भी न करें… आखिर ये किस तरह की ‘शांति’ चाहता है TOI

भारत आज उथल-पुथल के दौर से गुजर रहा है। इस्लामवादियों के हौसले भी लगातार बढ़ रहे हैं और वे लोगों को धमकियाँ दे रहे हैं।

‘ह्यूमैनिटी टूर’ पर प्रोपेगेंडा, कश्मीर फाइल्स ‘इस्लामोफोबिक’: द क्विंट को विवेक अग्निहोत्री ने किया बेनकाब

"हम इन फे​क FACT-CHECKERS को नजरअंदाज करते थे, लेकिन सच्ची देशभक्ति इन देशद्रोही Urban Naxals (अर्बन नक्सलियों) को बेनकाब करना और हराना है।”

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,341FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe