Wednesday, June 29, 2022
Homeराजनीतिठुमका लगाते 'केजरीवाल' का वीडियो क्यों डिलीट किया AAP ने?

ठुमका लगाते ‘केजरीवाल’ का वीडियो क्यों डिलीट किया AAP ने?

AAP का यह दाँव बीजेपी का मज़ाक उड़ाना था, लेकिन इसका शिकार वो ख़ुद ही हो गए, तभी तो पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल से शाहरुख खान की बॉडी पर केजरीवााल के चेहरे वाला फ़ोटो झट से हटा लिया।

दिल्ली में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव के मतदान की तारीख नज़दीक आ रही है, राजनीतिक गलियारे में हलचल तेज़ होती जा रही है। ऐसे में आम आदमी पार्टी (AAP) की गुलाटियाँ तो ग़ज़ब ही ढाए हुए है। दरअसल, पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की एक ऐसा वीडियो शेयर किया जिसके बाद यूज़र्स ने उनसे सोशल मीडिया पर सवालों की झड़ी लगा दी। इस वीडियो में बॉलीवुड की फ़िल्म ‘चलते-चलते’ के एक गीत का इस्तेमाल किया गया था। इसमें डांस करते शाहरुख खान के शरीर पर मुख्यमंत्री का चेहरा लगा दिया गया।

AAP ने इस वीडियो को डिलीट कर दिया है

बता दें कि AAP पार्टी ने इस वीडियो को शेयर करते हुए कैप्शन लिखा गया था कि केजरीवाल इस इंतज़ार में हैं कि बीजेपी दिल्ली में मुख्यमंत्री के पद पर किसका नाम आगे करेगी। इससे वो बीजेपी का यह कहते हुए मज़ाक उड़ाना चाहते थे कि बीजेपी के सीएम उम्मीदवार का अभी तक कोई अता-पता नहीं है।

AAP का यह दाँव बीजेपी का मज़ाक उड़ाना था, लेकिन इसका शिकार वो ख़ुद ही हो गए, तभी तो पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल से शाहरुख खान की बॉडी पर केजरीवााल के चेहरे वाला फ़ोटो झट से हटा लिया।

AAP पार्टी के इस पैंतरे को जल्द ही सोशल मीडिया पर यूज़र्स ने आड़े हाथों ले लिया। यूज़र्स ने AAP पार्टी से उन वादों के बारे में पूछ डाला, जो पाँच साल पहले सत्ता पर क़ाबिज़ होने से पहले किए गए थे, जिनका अब कुछ अता-पता नहीं है।

ट्विटर यूजर @pokershah ने AAP द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो को ही ट्वीट किया और लोकपाल, फ्री वाईफाई, CCTV, क्लीन यमुना और दिल्ली में 10000 बसों से जुड़े सवाल पूछे। इसके तुरंत बाद, AAP ने अपने केजरीवाल-SRK का वीडियो हटा लिया।

वादों पर खरी नहीं उतरी केजरीवाल सरकार, RTI के सिलसिलेवार जवाबों से ख़ुलासा

Free ही Free… अरविंद केजरीवाल, वो नेता जो ‘मुफ्त’ की राजनीति और झूठे वादे का चैंपियन है

हैलो… मैं अरविंद केजरीवाल बोल रहा हूँ और मेरा काम है अफ़वाह फैलाना


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस्लाम ज़िंदाबाद! नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं’: कन्हैया लाल का सिर कलम करने का जश्न मना रहे कट्टरवादी, कह रहे – गुड...

ट्विटर पर एमडी आलमगिर रज्वी मोहम्मद रफीक और अब्दुल जब्बार के समर्थन में लिखता है, "नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं।"

कमलेश तिवारी होते हुए कन्हैया लाल तक पहुँचा हकीकत राय से शुरू हुआ सिलसिला, कातिल ‘मासूम भटके हुए जवान’: जुबैर समर्थकों के पंजों पर...

कन्हैयालाल की हत्या राजस्थान की ये घटना राज्य की कोई पहली घटना भी नहीं है। रामनवमी के शांतिपूर्ण जुलूसों पर इस राज्य में पथराव किए गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
200,225FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe