Saturday, October 16, 2021
Homeराजनीतिदलित होने के कारण केशव मौर्या को BJP ने भूमिपूजन में नहीं बुलाया: AAP...

दलित होने के कारण केशव मौर्या को BJP ने भूमिपूजन में नहीं बुलाया: AAP सांसद संजय सिंह ने फैलाया झूठ

यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने 5 अगस्त को ट्वीट कर बताया था कि वे भूमिपूजन में मौजूद हैं। बावजूद 7 अगस्त को संजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा कि दलित होने के कारण उन्हें नहीं बुलाया गया।

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने सोशल मीडिया पर झूठ फैलाया है। उन्होंने भाजपा को दलित विरोधी पार्टी ठहराने के लिए ट्विटर पर झूठ फैलाया। इसके बाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ‘संजय सिंह झूठा है’ ट्रेंड करने लगा। आप नेता ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या को अयोध्या स्थित राम जन्मभूमि कार्यक्रम में बुधवार (अगस्त 5, 2020) को नहीं बुलाया गया, क्योंकि वो दलित हैं।

दरअसल, ये झूठ है। मौर्या ने उसी दिन ट्विटर पर फोटो डाल कर बताया था कि वो श्री राम जन्मभूमि परिसर में आयोजित भूमि पूजन कार्यक्रम के साक्षी बन रहे हैं। उन्होंने ट्वीट किया था, “श्री राम जन्मभूमि परिसर में आयोजित भूमि पूजन कार्यक्रम के भव्य पंडाल में ऐतिहासिक दिन का साक्षी बन रहा हूॅं। परम सौभाग्य एवं अद्भुत और अलौकिक आनंद की अनुभूति कर रहा हूॅं।”

मौर्या ने 5 अगस्त को ही यह ट्वीट किया था। बावजूद 7 अगस्त को संजय सिंह ने ट्विटर पर लिखा कि उन्हें एक दलित नेता ने बताया है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को राम मंदिर भूमिपूजन कार्यक्रम में इसीलिए नहीं बुलाया गया क्योंकि वो दलित हैं और केशव प्रसाद मौर्या को भी इसीलिए नहीं बुलाया गया। उन्होंने पूछा कि भाजपा ऐसा क्यों करती है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा दलितों को मंदिर के बाहर रखना चाहती है।

उन्होंने ये भी ग़लत बोला कि केशव प्रसाद मौर्या दलित हैं। वो ओबीसी ओबीसी समुदाय से आते हैं। उनके प्रदेश अध्यक्ष रहते ही भाजपा को उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत से जीत मिली थी, जिसके बाद उन्हें उप-मुख्यमंत्री बनाया गया। अपने गरीबी के दिनों में चाय और अखबार बेच र गुजर-बसर चलाने वाले केशव प्रसाद मौर्या ने RSS से जुड़ने के बाद राम मंदिर और अयोध्या आंदोलन में हिस्सा लिया था।

जानने वाली बात ये भी है कि यजमान के रूप में भूमिपूजन में हिस्सा ले रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ओबीसी समुदाय से ही आते हैं। बावजूद इसके संजय सिंह ने केशव मौर्या को दलित बताया और साथ ही उन्हें भूमिपूजन में न बुलाए जाने की बात कही।

इससे पहले शाहीन बाग में हुई फायरिंग की घटना के तुरंत बाद आप नेता संजय सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा था कि यह सब बीजेपी की चाल है। बाद में तस्वीरों में कपिल गुर्जर को आप नेता आतिशी और संजय सिंह के साथ देखा गया था। वहीं तस्वीरों में आप नेता आतिशी, संजय सिंह और दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया को फायरिंग करने वाले कपिल गुर्जर और उनके पिता का स्वागत करते हुए दिखाई दे रहे थे।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरी से निकाला गया सैयद अली शाह गिलानी का पोता, J&K में रिसर्च ऑफिसर बन कर बैठा था: आतंकियों के समर्थन का आरोप

अलगाववादी नेता रहे सैयद अली शाह गिलानी के पोते अनीस-उल-इस्लाम को जम्मू कश्मीर में सरकारी नौकरी से निकाल बाहर किया गया है।

मुस्लिम बहुल किशनगंज के सरपंच से बनवाया था आईडी कार्ड, पश्चिमी यूपी के युवक करते थे मदद: Pak आतंकी अशरफ ने किए कई खुलासे

पाकिस्तानी आतंकी ने 2010 में तुर्कमागन गेट में हैंडीक्राफ्ट का काम शुरू किया। 2012 में उसने ज्वेलरी शॉप भी ओपन की थी। 2014 में जादू-टोना करना भी सीखा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,004FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe