Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीतिनूपुर शर्मा पर 'शरीर' वाली टिप्पणी, हमले के लिए उकसाया: अखिलेश यादव पर महिला...

नूपुर शर्मा पर ‘शरीर’ वाली टिप्पणी, हमले के लिए उकसाया: अखिलेश यादव पर महिला आयोग सख्त, DGP से कहा – कार्रवाई कीजिए

"इस शख्स को देखिए जो खुद को एक पार्टी का नेता बताता है। वह लोगों को नूपुर शर्मा पर हमला करने के लिए उकसा रहा है। यूपी पुलिस और डीजीपी उसके खिलाफ कार्रवाई करें।"

बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा (Nupur Sharma) के खिलाफ ट्वीट करके समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव बुरा फँस गए हैं। राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के ट्वीट पर संज्ञान लिया है। यह ट्वीट उन्होंने 1 जुलाई को किया था। एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर उनके खिलाफ कानून के संबंधित प्रावधानों के तहत तत्काल कार्रवाई करने को कहा है। साथ ही निष्पक्ष और समयबद्ध जाँच को भी कहा। एनसीडब्ल्यू ने यह भी कहा है कि कार्रवाई के बाद आयोग को भी इससे अवगत कराया जाए।

एनसीडब्ल्यू की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने सोमवार (4 जुलाई 2022) को यूपी पुलिस और डीजीपी यूपी को टैग करते हुए ट्वीट किया, “इस शख्स को देखिए जो खुद को एक पार्टी का नेता बताता है। वह लोगों को नूपुर शर्मा पर हमला करने के लिए उकसा रहा है। यूपी पुलिस और डीजीपी उसके खिलाफ कार्रवाई करें। माननीय सर्वोच्च न्यायालय से अनुरोध है कि उनके खिलाफ स्वतः संज्ञान (Suo Moto action) लें।”

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने 1 जुलाई को नूपुर शर्मा के खिलाफ ट्वीट किया था, “सिर्फ मुख को नहीं शरीर को भी माफी माँगनी चाहिए। देश में अशांति और सौहार्द बिगाड़ने की सजा भी मिलनी चाहिए।”

गौरतलब है कि पैगंबर मुहम्मद को लेकर की गई टिप्पणी के ​कारण बीजेपी की राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पिछले महीने पार्टी से निलंबित कर दिया गया था। इसके बाद से उन्हें लगातार जान से मारने की ध​मकियाँ मिल रही हैं। इसी बीच 2 जुलाई को नुपूर शर्मा के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने लुकआउट नोटिस जारी कर दिया था। कोलकाता की दो थानों की पुलिस ने नुपूर शर्मा को कुछ दिन पहले समन भेजकर उनसे वहाँ पेश होने को कहा था। हालाँकि जान का खतरा होने के कारण नुपूर थानों में नहीं गई, जिसके बाद कोलकाता पुलिस ने ये नोटिस जारी किया ताकि नुपूर देश छोड़कर कहीं न जा पाएँ।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर में फिर से 370 बहाल करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कहा- फैसला सही था: CJI की बेंच ने पुनर्विचार याचिकाओं को किया...

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर दिए गए निर्णय को लेकर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया।

‘दिखाता खुद को सेकुलर है, पर है कट्टर इस्लामी’ : हिंदू पीड़िता ने बताया आकिब मीर ने कैसे फँसाया निकाह के जाल में, ठगे...

पीड़िता ने ऑपइंडिया को बताया कि आकिब खुद को सेकुलर दिखाता है, लेकिन असल में वो है इस्लामवादी। उसने महिला से कहा हुआ था वह हिंदू देवताओं को न पूजे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -