Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीतिपिता मुलायम के समधी को बेटे अखिलेश ने पार्टी से बाहर निकाला, कहा -...

पिता मुलायम के समधी को बेटे अखिलेश ने पार्टी से बाहर निकाला, कहा – विधायक कर रहे थे BJP से साँठगाँठ

विधायक हरिओम यादव के बेटे विजय प्रताप को समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने का आरोप लगाते हुए पहले ही पार्टी से बाहर कर दिया था।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सिरसागंज, फिरोजाबाद से समाजवादी पार्टी विधायक हरिओम सिंह यादव को 06 साल के लिए कथित तौर पर पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते निष्कासित कर दिया। फीरोजाबाद जिले के सपा नेताओं मुलायम सिंह यादव के समधी हरिओम सिंह यादव के खिलाफ एकजुट होकर पार्टी हाईकमान से उन्हें निष्कासित करने की माँग की थी।

अखिलेश यादव ने हरिओम सिंह यादव पर पर भाजपा का साथ देने और साँठगाँठ करने का आरोप लगाया है। सोमवार (फरवरी 15, 2021) को पार्टी द्वारा यह कार्रवाई समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर की गई है। रिपोर्ट्स के अनुसार, विधायक हरिओम यादव के बेटे विजय प्रताप को समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने का आरोप लगाते हुए पहले ही पार्टी से बाहर कर दिया था। विजय प्रताप पर पार्टी विरोधी और अनुशासनहीनता के आरोप लगे थे। 

Image
सपा द्वारा जारी आदेश

पार्टी द्वारा जारी किए गए आदेश के अनुसार, “समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय अखिलेश यादव जी के निर्देशानुसार समाजवादी पार्टी के विधायक सिरसागंज, श्री हरिओम सिंह यादव, जनपद फिरोजाबाद को पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त होने तथा भाजपा से साँठगाँठ करने के कारण पार्टी से 06 वर्ष के लिए निष्काषित किया जाता है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,696FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe