Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिपरिणाम के एक दिन बाद ही तृणमूल के गुंडों ने भाजपा कार्यकर्ता की हत्या...

परिणाम के एक दिन बाद ही तृणमूल के गुंडों ने भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी

पश्चिम बंगाल में पिछले कई सालों से भाजपा कार्यकर्ता की हत्या के मामले सामने आते रहे हैं। 23 मई की शाम, चुनाव नतीजों के ठीक बाद भी बीजेपी कार्यकर्ताओं को पीटने की घटना की सामने आई थी। चुनावों के अंतिम चरण के एक रात पहले भी भाजपा नेता अर्जुन सिंह को टीएमसी के गुंडों ने गोली मार दी थी।

लोकसभा चुनाव खत्म होने और नतीजे सामने आने के बाद भी पश्चिम बंगाल में हिंसा लगातार जारी है। जानकारी के अनुसार, नादिया में भाजपा के एक कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। भाजपा के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने इस खबर को साझा करते हुए इस हत्या का आरोप तृणमूल कॉन्ग्रेस पर लगाया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि ममता बनर्जी की इस रक्त और हिंसा की राजनीति का जवाब जनता मौजूदा सरकार को जड़ से उखाड़ कर देगी। बीजेपी बंगाल के ट्विटर ने भी यही आरोप लगाया है कि भले ही चुनाव खत्म हो गया है, लेकिन टीएमसी द्वारा जारी हिंसा से कोई राहत नहीं मिली है।

खबर के अनुसार, जिस भाजपा कार्यकर्ता संतु घोष की गोली मारकर हत्या की गई है, वो हाल ही में टीएमसी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे। ये घटना शुक्रवार (मई 24, 2019) की रात की है। गोली लगने के बाद संतु घोष को घायल हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उनकी जान नहीं बच सकी। डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। फिलहाल पुलिस इस मामले की जाँच कर रही है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में पिछले कई सालों से भाजपा कार्यकर्ता की हत्या के मामले सामने आते रहे हैं। 23 मई की शाम, चुनाव नतीजों के ठीक बाद भी बीजेपी कार्यकर्ताओं को पीटने की घटना की सामने आई थी। चुनावों के अंतिम चरण के एक रात पहले भी भाजपा नेता अर्जुन सिंह को टीएमसी के गुंडों ने गोली मार दी थी। इस दौरान बम भी फेंके गए और दो वाहनों में आग भी लगा दी गई। पश्चिम बंगाल में चुनावों के दौरान व्यापक हिंसा के बाद, चुनाव आयोग को राज्य में सातवें चरण के चुनाव के लिए चुनाव प्रचार के समय सीमा में कटौती करने जैसे कड़े कदम उठाने पड़े।

लोकसभा चुनाव में बंपर जीत के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली बीजेपी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल और केरल में मारे गए कार्यकर्ताओं को जीत समर्पित की थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक गोल्ड मेडल अनवर सरदार को भी’: उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर अनु मलिक की धुनाई

उधर टोक्यो ओलंपिक में इजरायल का राष्ट्रगान बजा, इधर सोशल मीडिया पर बॉलीवुड के बड़े संगीतकारों में से एक अनु मलिक की लोगों ने धुनाई चालू कर दी।

इंडिया जीता… लेकिन सब गोल पंजाबी खिलाड़ियों ने किया: CM अमरिंदर सिंह के ट्वीट में भारत-पंजाब अलग-अलग क्यों?

पंजाब मुख्यमंत्री ने ट्वीट में कहा, ”इस बात को जानकर खुश हूँ कि सभी 3 गोल पंजाब के खिलाड़ी दिलप्रीत सिंह, गुरजंत सिंह और हार्दिक सिंह ने किए।”

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,620FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe