Wednesday, January 26, 2022
Homeराजनीतिऐसा लगता है राहुल के टुकड़े-टुकड़े गैंग वाले दोस्तों ने तैयार किया है घोषणापत्र:...

ऐसा लगता है राहुल के टुकड़े-टुकड़े गैंग वाले दोस्तों ने तैयार किया है घोषणापत्र: जेटली

जेटली ने कॉन्ग्रेस पार्टी की न्याय योजना एक धोखा बताया, क्योंकि घोषणा पत्र में साफ नहीं किया गया है कि इसके लिए बजट कहाँ से आएगा। उनका कहना है कि इस घोषणा पत्र के साथ कॉन्ग्रेस पार्टी राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ नई नीतियाँ लेकर आई है जिसका मकसद सिर्फ़ देश को कमज़ोर बनाना है।

कॉन्ग्रेस ने आज अपना चुनावी घोषणापत्र जारी किया। घोषणा पत्र को पार्टी ने ‘जन आवाज’ का नाम दिया। इस घोषणा पत्र में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। इस घोषणा पत्र को पढ़ने के बाद वित्त मंत्री ने इसमें मौजूद कई बातों को खतरनाक बताया। अरुण जेटली ने देशद्रोह के अपराध को खत्म कर देने वाली बात पर अपना मत रखा।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि कॉन्ग्रेस पार्टी के घोषणा पत्र में कई बातें ऐसी हैं जिन्हें देखकर ऐसा लगता कि घोषणापत्र के कुछ बिंदु राहुल गाँधी के टुकड़े-टुकड़े गैंग वाले दोस्तों द्वारा तैयार किए गए हैं।

उन्होंने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि वे एकता के ख़िलाफ़ और देश को तोड़ने वाला काम करते हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को लेकर गाँधी-नेहरू परिवार द्वारा जो ऐतिहासिक भूल हुई उसके लिए देश उन्हें कभी माफ़ नहीं कर सकता है।

जेटली ने देशद्रोह को अपराध श्रेणी से खत्म करने वाली बात पर कहा कि जो पार्टी इस तरह की बातें करती है वो देश के एक भी वोट पाने की हकदार नहीं हैं। कॉन्ग्रेस के घोषणापत्र को जेटली कहा कि इसमें माओवादियों और जेहादियों की रक्षा करने के लिए सीआरपीसी में बदलाव की बात हुई।

जेटली की माने तो कॉन्ग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में जम्मू-कश्मीर के लिए पूरा पेज लिख दिया है। लेकिन कश्मीरी पंडित के लिए एक जिक्र भी नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सेक्युलेरिज्म में कश्मीरी पंडितों के लिए आँसू नहीं है। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस का घोषणापत्र AFSPA को कमजोर करने की बात कर रहा है। बता दें इस घोषणा पत्र में सेना के अधिकारियों पर किसी सरकारी अनुमति के बिना मामला दर्ज़ होने की भी बात है। जिसपर वित्त मंत्री का तर्क है कि अगर ऐसा होता है तो किसी आतंकवादी को पकड़ने पर भी उनका संगठन बदसलूकी के आरोप लगाता है।

अरुण जेटली ने कॉन्ग्रेस पार्टी की न्याय योजना को एक धोखा बताया, क्योंकि घोषणा पत्र में साफ नहीं किया गया है कि इसके लिए बजट कहाँ से आएगा। वित्त मंत्री ने कहा कि उन्होंने राहुल गाँधी से ज्यादा बार कॉन्ग्रेस का घोषणा पत्र पढ़ा है। उनका कहना है कि इस घोषणा पत्र के साथ कॉन्ग्रेस पार्टी राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ नई नीतियाँ लेकर आई है जिसका मकसद सिर्फ़ देश को कमज़ोर बनाना है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गणतंत्र दिवस परेड: सेना की 73 साल पुरानी यूनिफॉर्म में दिखा राजपूत रेजीमेंट, हाथ में Pak के साथ हुए युद्ध में इस्तेमाल की गई...

स्वतंत्र भारत आज अपना 73वाँ गणतंत्र दिवस की खुशिया मना रहा है। राजपथ पर विराट भारत की तस्वीर देखने को मिल रही है।

माइनस 40 डिग्री हो या 15000 फीट की ऊँचाई… ITBP के हिमवीरों ने तिरंगा फहरा यूँ मनाया 73वाँ गणतंत्र दिवस

सीमाओं की रक्षा में तैनात भारतीय तिब्बत बॉर्डर पुलिस (ITBP) ने लद्दाख और उत्तराखंड की बर्फीली ऊँचाई वाली चोटियों में तिरंगा फहराया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,622FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe