कैंसर पीड़ित माँ ने कहा- मेरे बेटे को माफ कर दो, बाबुल सुप्रियो ने दिया आश्वासन- नहीं कराउँगा FIR चाची

"चिंता मत करो चाची, मैं आपके बेटे को कोई नुकसान नहीं पहुँचाऊँगा। मैं उसकी गलतियों से सीखना चाहता हूँ। मैंने किसी के खिलाफ कोई एफआईआर नहीं की है। मैं किसी को कुछ भी नहीं होने दूँगा। आप चिंता मत करो। जल्द ही ठीक हो जाओ चाची।"

पश्चिम बंगाल की जाधवपुर यूनिवर्सिटी में भाजपा नेता व केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो पर गुरुवार (सितंबर 19, 2019) को हमला हुआ था। लेफ्ट समर्थित छात्रों ने उनके साथ धक्का-मुक्की और बदसलूकी की। छात्रों ने करीब 6 घंटे तक मंत्री को घेरे रखा। बाबुल सुप्रियो ने शुक्रवार (सितंबर 20, 2019) को ट्वीट कर कहा था कि जिस लड़के ने जादवपुर विश्वविद्यालय में उनके साथ मारपीट की है वो उसे खोजकर निकालेंगे, फिर देखते हैं कि सीएम ममता बनर्जी इस पर क्या कार्रवाई करती है।

मगर, इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है। दरअसल, अब बाबुल सुप्रियो ने कहा है कि वो अपने ऊपर हमला करने वाले एक छात्र पर मामला दर्ज नहीं कराएँगे। बता दें कि, सुप्रियो ने ये फैसला हमला करने वाले छात्र की माँ की भावुक अपील के बाद लिया है। बताया जा रहा है कि छात्र की माँ कैंसर से पीड़ित है और उन्होंने एक वीडियो के माध्यम से सोशल मीडिया में भावुक अपील की है। जिसमें उन्होंने कहा कि वो खुद कैंसर की बीमारी से पीड़ित हैं। ऐसे में उनके बेटे के खिलाफ बाबुल मामला दर्ज न कराएँ।

छात्र की माँ के वीडियो को ट्वीट करते हुए बाबुल सुप्रियो ने जवाब दिया, “चिंता मत करो चाची, मैं आपके बेटे को कोई नुकसान नहीं पहुँचाऊँगा। मैं उसकी गलतियों से सीखना चाहता हूँ। मैंने किसी के खिलाफ कोई एफआईआर नहीं की है। मैं किसी को कुछ भी नहीं होने दूँगा। आप चिंता मत करो। जल्द ही ठीक हो जाओ चाची।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

दरअसल, बाबुल सुप्रियो ने देबंजन बल्लव चटर्जी नाम के छात्र की फोटो ट्विटर पर पोस्ट करते हुए उसे खोज निकालने की बात कही थी। बाबुल के पोस्ट के वायरल होने के बाद देबंजन की माँ रुपाली बल्लव, जो कि 3 साल से कैंसर पीड़ित है, ने बीजेपी नेता से बेटे को माफ कर देने की गुहार लगाई। और उनकी गुहार पर बाबुल सुप्रियो ने छात्र के खिलाफ एफआईआर न कराने की बात कही। देबंजन उत्तरी कोलकाता में संस्कृत कॉलेज के द्वितीय वर्ष का छात्र है। उसके पिता कोलकाता से लगभग 100 किलोमीटर दूर बंगाल के पूर्वी बर्दवान जिले के एक स्कूल के शिक्षक हैं।

गौरतलब है कि, बाबुल सुप्रियो गुरुवार रात अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यक्रम में हिस्सा लेने गए थे। जहाँ उन्हें वामपंथी छात्र संगठनों से जुड़े छात्रों के एक समूह ने घेर लिया और उन पर हमला कर दिया। बाबुल सुप्रियो के साथ हुए बदसलूकी के खिलाफ बीजेपी ने रैली निकाली और ममता बनर्जी के राज में कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। 

बीजेपी कार्यकर्ता बड़ी संख्या में हाथों में पोस्टर बैनर लेकर सड़कों पर उतरे। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और लेफ्ट छात्र संगठनों के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी की सरकार को गैर जवाबदेह सरकार करार दिया। उन्होंने कहा कि ये खराब गवर्नेंस का सबसे बड़ा उदाहरण है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

ओवैसी, बाबरी मस्जिद
"रिव्यू पिटिशन पर जो भी फ़ैसला होगा, वो चाहे हमारे हक़ में आए या न आए, हमको वो फ़ैसला भी क़बूल है। लेकिन, यह भी एक हक़ीक़त है कि क़यामत तक बाबरी मस्जिद जहाँ थी, वहीं रहेगी। चाहे वहाँ पर कुछ भी बन जाए। वो मस्जिद थी, मस्जिद है... मस्जिद ही रहेगी।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

117,663फैंसलाइक करें
25,872फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: