Thursday, May 23, 2024
Homeराजनीतिबंगाल में एक दूसरे से भिड़े इंडी गठबंधन वाले, TMC कार्यकर्ता की हत्या का...

बंगाल में एक दूसरे से भिड़े इंडी गठबंधन वाले, TMC कार्यकर्ता की हत्या का इल्जाम CPI (M) पर लगा: कड़ी सुरक्षा के बीच 8 सीटों पर मतदान जारी

बीरभूम में बताया जा रहा है कि टीएमसी ने दावा किया है उनके कार्यकर्ता को सीपीआई (एम) वाले ने पोलिंग स्टेशन पर मारा। वहीं कृष्णा नगर में इसके उलटा है। वहाँ सीपीआई (एम) ने हिंसा के लिए टीएमसी पर आरोप लगाया है। हिंसा से एक रात पहले टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या की घटना भी सामने आई थी।

पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के मतदान के बीच हिंसा की घटनाएँ सामने आई हैं। बीरभूम में भाजपा ने आरोप लगाया कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने उनका स्टॉल तोड़ दिया, दुर्गापुर में कहा है कि उनके पोलिंग एजेंटों को बाहर कर दिया गया। अजीब बात ये है कि ये झड़पें केवल टीएमसी और बीजेपी के बीच नहीं हो रहीं बल्कि इंडी गठबंधन के दल भी आपस में एक दूसरे के खिलाफ भिड़े हुए हैं।

खबर है कि बंगाल में बीरभूम और कृष्णानगर में भी तृणमूल कॉन्ग्रेस और सीपीआई (एम) के कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे पर हिंसा का आरोप लगाया है। बीरभूम में बताया जा रहा है कि टीएमसी ने दावा किया है उनके कार्यकर्ता को सीपीआई (एम) वाले ने पोलिंग स्टेशन पर मारा। वहीं कृष्णा नगर में इसके उलटा है। वहाँ सीपीआई (एम) ने हिंसा के लिए टीएमसी पर आरोप लगाया है।

इससे पहले बंगाल के पूर्वी बरदवान में रविवार (12 मई 2024) रात एक टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या की घटना सामने आई थी। कार्यकर्ता की पहचान 50 साल के मिंटू शेख के तौर पर हुई थी। मिंटू की हत्या का इल्जाम भी टीएमसी ने सीपीआईएम पर ही लगाया था।

टीएमसी प्रवक्ता ने सीपीआई(एम) के लिए कहा था कि सीपीआई (एम) कार्यकर्ताओं को लगता है कि ये लोग इस बार चुनाव जीत जाएँगे, इसलिए हिंसा कर रहे हैं। वहीं सीपीआईएम ने तो सारे आरोपों को खारिज किया है।

याद दिला दें कि राष्ट्रीय स्तर पर नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले विपक्षी दलों का इंडी गठबंधन राज्य स्तर पर आकर छिन्न-भिन्न होता दिखता है। कभी ममता बनर्जी खुद जनता के सामने आकर अपील करती हैं कि राज्य में कॉन्ग्रेस और सीपीआई (एम) को वोट न दिया जाए तो कभी सारे दल खुद ही एक दूसरे पर इल्जाम लगाते हुए मिलते हैं।

चौथे चरण की वोटिंग में भी यही सब हो रहा है। सारी हिंसक घटनाओं के देखते हुए बंगाल में सुरक्षा टाइट है। मतदान वाले इलाकों में चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाकर्मी जुटे हैं। आज सुबह 7 बजे से वहाँ बहरामपुर, कृष्णानगर, राणाघाट, कृष्णानगर, बर्धमान पूर्व, बर्धमान दुर्गापुर, आसनसोल, बोलपुर और बीरभूम में वोटिंग चल रही है।

चौथे चरण में 9 बजे तक वोटिंग

लोकसभा चुनावों के चौथे चरण में आज 10 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों की 96 सीटों पर वोटिंग चल रही है। इनमें तेलंगाना की 17, आंध्र प्रदेश की 25, उत्तर प्रदेश की 13, बिहार की 5, झारखंड की 4, मध्य प्रदेश की 8, महाराष्ट्र की 11, ओडिशा की 4, पश्चिम बंगाल की 8 और जम्मू कश्मीर की श्रीनगर लोकसभा सीट पर मतदान जारी है।

7 बजे से शुरू हुई वोटिंग का आँकड़ा यदि 9 बजे तक में देखें तो पता चलता है कि आंध्र प्रदेश में 9.05% वोट डले, बिहार में 10.18%, जम्मू-कश्मीर में 5.07%, झारखंड में 11.78 फीसदी, मध्य प्रदेश में 14.97%, महाराष्ट्र में 6.45 %, ओडिशा में 9.23%, तेलंगाना में 9.51% उत्तर प्रदेश में 11.67% और बंगाल में 15.24%।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोहिणी आचार्य के पहुँचने के बाद शुरू हुई हिंसा, पूर्व CM का बॉडीगार्ड लेकर घूम रही थीं: बिहार पुलिस ने दर्ज की 7 FIR,...

राबड़ी आवास पर उपस्थित बॉडीगार्ड और पुलिसकर्मियों से पूरे मामले में पूछताछ की इस दौरान विशेष अधिकारी मौजूद रहे।

मी लॉर्ड! भीड़ का चेहरा भी होता है, मजहब भी होता है… यदि यह सच नहीं तो ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारों के साथ ‘काफिरों’ पर...

राजस्थान हाईकोर्ट के जज फरजंद अली 18 मुस्लिमों को जमानत दे देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि चारभुजा नाथ की यात्रा पर इस्लामी मजहबी स्थल के सामने हमला करने वालों का कोई मजहब नहीं था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -