Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीतिबिहार में 'खेला होगा' कहते रहे गए तेजस्वी यादव, इधर हर दिन लुट रही...

बिहार में ‘खेला होगा’ कहते रहे गए तेजस्वी यादव, इधर हर दिन लुट रही है RJD: 15 दिनों में 5 विधायकों ने छोड़ी पार्टी, अब एनडीए में भभुआ के MLA हुए शामिल

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जब महागठबंधन से नाता तोड़कर NDA के साथ आए तो सरकार में सहयोगी रही तेजस्वी यादव वाली राजद ने खेला होने की बात कही थी। हालाँकि, नीतीश कुमार एनडीए के साथ आ भी गए और सरकार भी चला रहे हैं। हालाँकि, इन सबके बीच राजद के साथ ही खेला हो रहा है। पिछले कुछ हफ्ते में राजद के विधायकों ने पाला बदलकर NDA का दामन थाम लिया।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जब महागठबंधन से नाता तोड़कर NDA के साथ आए तो सरकार में सहयोगी रही तेजस्वी यादव वाली राजद ने खेला होने की बात कही थी। हालाँकि, नीतीश कुमार एनडीए के साथ आ भी गए और सरकार भी चला रहे हैं। हालाँकि, इन सबके बीच राजद के साथ ही खेला हो रहा है। पिछले कुछ हफ्ते में राजद के विधायकों ने पाला बदलकर NDA का दामन थाम लिया।

ताजा मामले में बिहार के भभुआ से राजद विधायक भरत बिंद ने शुक्रवार (1 मार्च 2024) को पार्टी को झटका देते हुए उससे किनारा कर लिया। भरत बिंद ने अब बिहार के सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) का दामन थाम लिया है। पिछले 15 दिनों में राजद की यह पाँचवीं टूट है। इससे तेजस्वी यादव के पेशानी पर बल पड़ गए हैं।

बता दें कि इससे पहले राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के चार विधायक पाला बदलकर NDA में शामिल हो चुके हैं। इतना ही नहीं, कॉन्ग्रेस के भी दो विधायक एनडीए में शामिल हो चुके हैं। राजद के जिन चार विधायकों ने NDA का दामन थामा, उनमें प्रह्लाद यादव, चेतन आनंद, नीलम देवी और संगीता देवी हैं। वहीं, कॉन्ग्रेस विधायक सिद्धार्थ सौरभ और मुरारी गौतम ने पार्टी छोड़ दी है।

राष्ट्रीय जनता दल छोड़कर सत्ताधारी NDA में शामिल होने को लेकर भरत बिंद ने कहा, “हमारी इच्छा है तो हम आए हैं।” उन्होंने कहा कि सब लोग तो इधर-उधर आते-जाते रहता है। उन्होंने इशारों-इशारों में कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों से प्रभावित हैं। उन्होंने पार्टी बदलने को लेकर स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा।

दरअसल, शुक्रवार (1 मार्च 2024) को विधानसभा में विधायी कार्य का अंतिम दिन था। दोपहर के बाद राष्ट्रीय जनता दल के भभुआ से विधायक भरत बिंद सदन में पहुँचे और सत्ता पक्ष की बेंच पर जाकर बैठ गए। इस दौरान विपक्षी दल के विधायक उन्हें देखकर आवाक रह गए। सदन में मौजूद सदस्य कुछ समझते इसके पहले ही पास में बैठे भाजपा के विधायक नितिन नवीन ने इशारा किया।

भाजपा विधायक नितिन नवीन ने यह बताने का प्रयास किया कि राजद के और एक विधायक एनडीए में शामिल हो गए हैं। इसके बाद भरत बिंद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की। उन्होंने बुके देकर नीतीश कुमार को उनके जन्मदिन की शुभकामनाएँ दी। इसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लिया।

कैमूर जिले के चाँद थाना क्षेत्र के सिलौटा गाँव के रहने वाले भरत बिंद ने साल 2010 में अपने राजनैतिक करियर की शुरुआत की थी। साल 2010 में जिला परिषद का चुनाव जीतकर उन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वे साल 2015 में बसपा की टिकट पर भभुआ विधानसभा से मैदान में उतरे, लेकिन उन्हें हार का मुँह देखना पड़ा।

इसके बाद भरत बिंद लालू यादव की पार्टी राजद में शामिल हो गए। साल 2020 के विधानसभा चुनावों में राजद ने उन्हें भभुआ से टिकट दिया। इस चुनाव में उन्हें जीत हासिल हुई। हालाँकि, अगला विधानसभा चुनाव आने से पहले उन्होंने पार्टी बदल ली और राजद छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जूलियन असांजे इज फ्री… विकिलीक्स के फाउंडर को 175 साल की होती जेल पर 5 साल में ही छूटे: जानिए कैसे अमेरिका को हिलाया,...

विकिलीक्स फाउंडर जूलियन असांजे ने अमेरिका के साथ एक डील कर ली है, इसके बाद उन्हें इंग्लैंड की एक जेल से छोड़ दिया गया है।

‘जिन्होंने इमरजेंसी लगाई वे संविधान के लिए न दिखाएँ प्यार’: कॉन्ग्रेस को PM मोदी ने दिखाया आईना, आपातकाल की 50वीं बरसी पर देश मना...

इमरजेंसी की 50वीं बरसी पर पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस पर निशाना साधा। साथ ही लोगों को याद दिलाया कि कैसे उस समय लोगों से उनके अधिकार छीने गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -