Monday, June 17, 2024
Homeराजनीति'चुनाव नतीजों के बाद TMC के गुंडों द्वारा BJP कार्यकर्ताओं पर हमला बंगाल की...

‘चुनाव नतीजों के बाद TMC के गुंडों द्वारा BJP कार्यकर्ताओं पर हमला बंगाल की संस्कृति बन गई’: सुवेंदु अधिकारी ने राज्यपाल को लिखी चिट्ठी, कहा- 2021 जैसी घटनाएँ रोकें

सुवेंदु अधिकारी ने कहा, "स्थिति बेहद भयावह है और राज्य मशीनरी ने जानबूझकर तैनात केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को स्थिति को नियंत्रित करने नहीं दिया है और टीएमसी के गुंडों को भाजपा के कार्यकर्ताओं को आतंकित करने की खुली छूट दे रही है। राज्य पुलिस हमेशा की तरह मूकदर्शक बनी हुई है और गहरी नींद में रहकर इस तरह के अत्याचारों को अंजाम देने की अनुमति दे रही है।"

पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने गुरुवार (6 जून 2024) को राज्यपाल सीवी आनंद बोस को पत्र लिखकर चुनाव बाद की हिंसा में सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की कथित भूमिका पर चिंता जताई। उन्होंने अपने पत्र में राज्यपाल से साल 2021 में चुनाव के बाद ऐसी स्थिति की पुनरावृत्ति रोकने के लिए कदम उठाने का आग्रह किया।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल को लिखे पत्र में भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि 4 जून 2024 के संसदीय चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद पश्चिम बंगाल में ‘सत्तारूढ़ सरकार के गुंडे’ भाजपा के कार्यकर्ताओं को लेकर पागल हो गए हैं। उन्होंने कहा कि यह हिंसा पश्चिम बंगाल के लिए पर्याय बन चुकी है।

भाजपा नेता ने कहा, “यह बंगाल में 2021 के विधानसभा चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद हुई घटनाओं की पुनरावृत्ति प्रतीत होती है, जिसके परिणामस्वरूप कई भाजपा कार्यकर्ताओं की मौत हो गई थी।” उन्होंने कहा कि चुनावों के बाद केंद्रीय सशस्त्र बलों का उपयोग बिगड़ती स्थिति को नियंत्रित करने के लिए नहीं किया जा रहा है और सत्तारूढ़ पार्टी के गुंडे भाजपा कार्यकर्ताओं को निशाना बना रहे हैं।

It has now become the culture of West Bengal, that the TMC Party goons will attack the BJP Karyakartas after the declaration of results.
In a repeat of the incidents which had transpired after the declaration of the 2021 Assembly Election results, which caused deaths of several… pic.twitter.com/3czEYAjODb

— Suvendu Adhikari (Modi Ka Parivar) (@SuvenduWB) June 6, 2024

सुवेंदु अधिकारी ने कहा, “चुनाव के बाद भी केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों को तैनाती की गई है, लेकिन बिगड़ती स्थिति को नियंत्रित करने के लिए ऐसे बलों का उपयोग नहीं किया जा रहा है।” उन्होंने कहा कि मतगणना के 24 घंटे के भीतर राज्य भर में 20 से अधिक घटनाएँ सामने आई हैं। ये घटनाएँ आसनसोल, दुर्गापुर, मेदनीपुर, झारग्राम, बाँकुरा, कूच बिहार, हुगली, बैरकपुर, बारासात और उत्तर 24 परगना में हुई हैं।

अपने पत्र में उन्होंने आगे लिखा, “शुरुआती संकेतों से ऐसा लगता है कि टीएमसी से जुड़े गुंडे उन्हीं भयावह घटनाओं को दोहराने की योजना बना रहे हैं, जो 2021 में विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद हुई थीं, ताकि भाजपा के कार्यकर्ताओं और कार्यकर्ताओं में डर की भावना पैदा की जा सके।” अधिकारी ने राज्यपाल से उन क्षेत्रों का दौरा करने का आग्रह किया जहाँ चुनाव के बाद हिंसा हो रही है।

बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता ने कहा, “मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि आप उन क्षेत्रों का दौरा करें, जहाँ से चुनाव के बाद की हिंसा की खबरें आ रही हैं। ये सुनिश्चित करें कि निर्दोष लोगों की जान न जाए और 2021 के विधानसभा चुनावों के बाद हुई चुनाव के बाद की हिंसा की भयावहता फिर से न दोहराई जाए।”

उन्होंने आरोप लगाया, “स्थिति बेहद भयावह है और राज्य मशीनरी ने जानबूझकर तैनात केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को स्थिति को नियंत्रित करने नहीं दिया है और टीएमसी के गुंडों को भाजपा के कार्यकर्ताओं को आतंकित करने की खुली छूट दे रही है। राज्य पुलिस हमेशा की तरह मूकदर्शक बनी हुई है और गहरी नींद में रहकर इस तरह के अत्याचारों को अंजाम देने की अनुमति दे रही है।”

साल 2024 के लोकसभा चुनाव में टीएमसी ने पश्चिम बंगाल की 42 संसदीय सीटों में से 29 सीटें हासिल की हैं, जबकि भाजपा ने केवल 12 सीटों पर जीत दर्ज की है। वहीं, कॉन्ग्रेस के खाते में सिर्फ एक सीट आई है। साल 2019 के लोकसभा चुनाव में टीएमसी ने राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 22 सीटें जीती थीं और भाजपा ने 18 सीटें जीती थीं। कॉन्ग्रेस ने सिर्फ 2 सीटें जीती थीं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -