Friday, July 23, 2021
Homeराजनीतिबाबर रोड का नाम बदलकर किया जाए '5 अगस्त मार्ग', BJP नेता विजय गोयल...

बाबर रोड का नाम बदलकर किया जाए ‘5 अगस्त मार्ग’, BJP नेता विजय गोयल ने की गृह मंत्रालय से माँग

पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री विजय गोयल ने कहा कि '5 अगस्त' नाम सिर्फ एक सुझाव है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय और एनडीएमसी को अगर किसी दूसरे का भी नाम अच्छा लगता है तो उसे रखा जाना चाहिए। उनका यह दावा है कि ट्रेडर एसोसिएशन मार्केट एसोसिएशन इस बात पर राजी है कि इस रोड का नाम बदला जाना चाहिए।

दिल्ली के पूर्व बीजेपी अध्यक्ष विजय गोयल ने मंगलवार (अगस्त 4, 2020) को गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर दिल्ली स्थित बाबर रोड का नाम बदलकर ‘5 अगस्त मार्ग’ करने की माँग की है। साथ ही, भाजपा नेता विजय गोयल ने यह भी कहा है कि बाबर रोड का नाम बदलकर उसकी जगह किसी भी महापुरुष का नाम रखा जा सकता है।

पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री विजय गोयल ने कहा कि ‘5 अगस्त’ नाम सिर्फ एक सुझाव है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय और एनडीएमसी को अगर किसी दूसरे का भी नाम अच्छा लगता है तो उसे रखा जाना चाहिए। उनका यह दावा है कि ट्रेडर एसोसिएशन मार्केट एसोसिएशन इस बात पर राजी है कि इस रोड का नाम बदला जाना चाहिए।

विजय गोयल ने मंगलवार को बाबर रोड के साइन बोर्ड पर ‘5 अगस्त मार्ग’ का साइनबोर्ड लगा दिया। तस्वीर में देखा जा सकता है कि ‘बाबर रोड’ पर काली स्याही से क्रॉस का चिन्ह लगा दिया है। विजय गोयल ने ट्वीट किया, “दिल्ली के बंगाली मार्किट में ‘बाबर रोड’ का नाम बदलकर ‘5 अगस्त मार्ग’ रखा जाए। बाबर विदेशी आक्रांता था, उसने अयोध्या में राम मंदिर का विध्वंस करवाया। कल 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम के भव्य मंदिर का शिलान्यास प्रधानमंत्री करेंगे ऐसे में NDMC को बाबर रोड का नाम बदलना चाहिए।”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, “मैंने सरकार से माँग रखी है कि बाबर एक विदेशी आक्रांता था। जिसने प्राचीन राम मंदिर का विध्वंस करवाया था। इसलिए दिल्ली के बंगाली मार्केट में बाबर रोड का नाम बदल कर 5 अगस्त मार्ग रखा जाना चाहिए।”

विजय गोयल ने दिल्ली में बाबर रोड का नाम बदलने का प्रस्ताव ऐसे समय रखा है जब अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को भूमि पूजन का कार्यक्रम होने वाला है। अयोध्या में श्री राम के भव्य मंदिर का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे।

बता दें कि पिछले साल सितंबर में सेंट्रल दिल्ली के मंडी हाउस इलाके के पास स्थित बाबर रोड के साइनबोर्ड पर कालिख पोत दी थी। बंगाली मार्केट में बाबर रोड के साइनबोर्ड पर हिंदू सेना से जुड़े लोगों पर कालिख पोतने का आरोप लगा था। दरअसल दक्षिणपंथी संगठन मुगल शासक बाबर के नाम पर बने इस रोड के नाम को बदलने की लंबे समय से माँग कर रहे हैं।

गौरतलब है कि साल 2015 में दिल्ली के औरंगजेब रोड का नाम बदलकर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के नाम पर कर दिया गया। इसके बाद से बाबर रोड के नाम को भी बदलने की माँग उठती रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी विश्वनाथ मंदिर की हुई ज्ञानवापी मस्जिद की 1700 फीट जमीन

काशी विश्‍वनाथ मंदिर प्रशासन और ज्ञानवापी मस्जिद पक्ष की ओर से पहले ही इस मामले पर सहमति बातचीत के दौरान बनी थी।

‘कौन है स्वरा भास्कर’: 15 अगस्त से पहले द वायर के दफ्तर में पुलिस, सिद्धार्थ वरदराजन ने आरफा और पेगासस से जोड़ दिया

इससे पहले द वायर की फर्जी खबरों को लेकर कश्मीर पुलिस ने उनको 'कारण बताओ नोटिस' जारी किया था। उन पर मीडिया ट्रॉयल में शामिल होने का भी आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,891FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe