Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिमुस्लिम बहुल इलाके में 31 साल से बंद पड़ा था शिव मंदिर, भाजपा MLA...

मुस्लिम बहुल इलाके में 31 साल से बंद पड़ा था शिव मंदिर, भाजपा MLA बालमुकुंद ने ताला तोड़ की पूजा: विरोध में कट्टरपंथी मुस्लिमों ने ‘अल्लाह हु अकबर’ के नारे लगाए

राजस्थान के जयपुर के हवामहल से भाजपा विधायक आचार्य बालमुकुंद एक बार फिर से चर्चा में हैं। इस बार चर्चा की वजह महाशिवरात्रि पर लम्बे समय से बंद एक प्राचीन शिव मंदिर में जाकर पूजा करना है। यह मंदिर मुस्लिम बहुल इलाके में स्थित है। वे मंदिर पर लटक रहे ताले को आरी से काटकर अंदर घुसे। इस दौरान उन्होंने कॉन्ग्रेस के स्थानीय विधायक रफीक खान को जमकर कोसा।

राजस्थान के जयपुर के हवामहल से भाजपा विधायक आचार्य बालमुकुंद एक बार फिर से चर्चा में हैं। इस बार चर्चा की वजह महाशिवरात्रि पर लम्बे समय से बंद एक प्राचीन शिव मंदिर में जाकर पूजा करना है। यह मंदिर मुस्लिम बहुल इलाके में स्थित है। वे मंदिर पर लटक रहे ताले को आरी से काटकर अंदर घुसे। इस दौरान उन्होंने कॉन्ग्रेस के स्थानीय विधायक रफीक खान को जमकर कोसा।

पूजा के दौरान मुस्लिम पक्ष ने नाराजगी जताई और ‘अल्लाह हु अकबर’ के नारे लगाए। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह प्राचीन मंदिर जयपुर के आदर्श नगर इलाके में स्थित है। यहाँ से कॉन्ग्रेस विधायक रफीक खान चुनाव जीते हैं। आचार्य बालमुकुंद का दावा है कि पहले मंदिर के आसपास हिन्दू समाज की अच्छी-खासी आबादी थी, जो एक-एक करके वहाँ से विभिन्न कारणों से चले गए।

ऐसी स्थिति में मंदिरों के संरक्षण को अपनी जिम्मेदारी बताते हुए आचार्य बालमुकुंद इस मंदिर में पहुँच गए। मंदिर के गेट पर बड़ा-सा ताला लटक रहा था। लम्बे समय से वह मंदिर खुला भी नहीं था। विधायक ने कुछ देर तक चाबी न मिलने के बाद मंदिर में लगे ताले को आरी से काट डाला। मंदिर के अंदर जाने पर वहाँ काफी गंदगी दिखी। इसमें लम्बे समय से साफ-सफाई भी नहीं हुई थी।

धर्मस्थल की इस दुर्दशा पर भाजपा विधायक को काफी गुस्सा आया। उन्होंने रफीक खान पर मंदिरों के प्रति उपेक्षा बरतने का आरोप लगाया। इस दौरान विधायक आचार्य बालमुकुंद ने समर्थकों से मंदिर की सफाई करवाई और फिर भगवान महादेव की पूजा अर्चना की। एक स्थानीय व्यक्ति का कहना है कि यह मंदिर 1993 यानी 31 साल से बंद है।

इस दौरान आसपास के मुस्लिम वहाँ जमा हो गए। आरोप है कि जब आचार्य बालमुकुंद भगवान शिव की पूजा कर रहे थे, तब ‘अल्लाह हु अकबर’ के नारे लगाए जा रहे थे। इसके बावजूद मोहल्ले के मुस्लिम तबके के कुछ लोगों ने माहौल खराब करने का आरोप भाजपा विधायक पर ही मढ़ने की कोशिश की। दलील के तौर पर उन्होंने महाशिवरात्रि के दिन अपने जुमे का दिन होना बताया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -