Wednesday, July 28, 2021
Homeराजनीतिउत्तर प्रदेश के उप-चुनाव में भाजपा के हाथ लगी बड़ी जीत: 11 में से...

उत्तर प्रदेश के उप-चुनाव में भाजपा के हाथ लगी बड़ी जीत: 11 में से 8 BJP के खाते में

रामपुर में सपा नेता और भू-माफिया आज़म खान के किले को भेदने में भाजपा असमर्थ रही। रामपुर की सीट पर सपा नेता आज़म खान की पत्नी तंजीम फातिमा ने जीत दर्ज की।

उत्तर प्रदेश में 11 सीटों पर हुए उपचुनाव में तमाम राजनीतिक दलों के संघर्ष के बाद आज नतीजों का एलान किया गया। कड़ी सुरक्षा के बीच हुई मतगणना के शुरुआती रुझानों में सुबह खबर आई कि 11 में से 6 सीटों पर भाजपा ने बढ़त बनाई हालाँकि आखरी परिणाम आते-आते स्थिति स्पष्ट हुई और कुल 11 में से 8 सीटों पर भाजपा ने जीत दर्ज की। जबकि समाजवादी पार्टी के खाते में 3 सीटें आई हैं। मतगणना परिणामों के अनुसार प्रतापगढ़ सदर की सीट पर अपना दल ने जीत दर्ज की, बता दें कि अपना दल से अनुप्रिया पटेल केंद्र की मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में मंत्री भी रह चुकी हैं। वहीं उपचुनाव में पहली बार अपना दाँव अजमाने वाले बसपा को एक भी सीट न जीत पाने के चलते करारी हार का सामना करना पड़ा।

बता दें कि आंबेडकर नगर में जलालपुर सीट से बसपा प्रत्याशी छाया वर्मा लगातार निर्णायक बढ़त बनाए हुए थीं मगर एकाएक उन्हें हराकर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी सुभाष राय ने बसपा की छाया को 823 वोटों से पछाड़ते हुए जीत दर्ज की। जबकि कॉन्ग्रेस सहारनपुर की गंगोह सीट पर कोशिश ही कर पाई। बता दें कि इस इलाके में भाजपा के कीरत सिंह ने कॉन्ग्रेस पार्टी के नोमान मसूद को हराकर इस सीट पर बड़ी जीत हासिल कर दी। अपने प्रत्याशी को हारता देख प्रियंका गाँधी ने प्रदेश की योगी सरकार पर चुनाव में धाँधली के आरोप लगा दिए।

अलीगढ़ के इग्लास में भाजपा प्रत्याशी राजकुमार सहयोगी ने बसपा प्रत्याशी को कड़ी टक्कर दी और अंततः पछाड़ते हुए जीत दर्ज कर ली। हालाँकि, बसपा प्रत्याशी ने काफी समय से बढ़त बनाई हुई थी। कई राउंड होने के बाद बसपा प्रत्याशी इसे अंत तक बरक़रार नहीं रख पाए और हार गए। यूपी उप-चुनाव की एक और सीट से भी भाजपा को जीत मिली है, बता दें कि लखनऊ कैंट से बीजेपी के सुरेश तिवारी ने सपा के आशीष चतुर्वेदी को हराकर एक बार फिर कमल खिलाया है। दरअसल, भाजपा के लिए यह जीत इसलिए अहम है क्योंकि प्रयागराज से रीता बहुगुणा जोशी के सांसद चुने जाने के बाद यह सीट खाली हुई थी।

उत्तर प्रदेश के मऊ से भी कमल खिलने की खबर सामने आई है जहाँ विजय राजभर ने जीत हासिल की। बता दें कि पहली बार चुनाव लड़ने वाले विजय पहले से ही काफी सुर्खियों में थे। इस उपचुनाव में भाजपा की जीत की पताका फहराते हुए माणिकपुर से आनंद शुक्ला, बहराइच के बलहा से सरोज सोनकर, कानपुर के गोविंदनगर से सुरेन्द्र मैथानी ने जीत दर्ज की। बता दें कि रामपुर में सपा नेता और भू-माफिया आज़म खान के किले को भेदने में भाजपा असमर्थ रही। रामपुर की सीट पर सपा नेता आज़म खान की पत्नी तंजीम फातिमा ने जीत दर्ज की। वहीं जैदपुर में भी भाजपा की सीट पर समाजवादी पार्टी ने जीत दर्ज की जहाँ सपा के गौरव कुमार ने भाजपा के अम्बरीश कुमार को 4165 मतों से शिकस्त दी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बद्रीनाथ नहीं, वो बदरुद्दीन शाह हैं…मुस्लिमों का तीर्थ स्थल’: देवबंदी मौलाना पर उत्तराखंड में FIR, कभी भी हो सकती है गिरफ्तारी

मौलाना के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 153ए, 505, और आईटी एक्ट की धारा 66F के तहत केस किया गया है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि उसके बयान से हिंदू भावनाएँ आहत हुईं।

बसवराज बोम्मई होंगे कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री: पिता भी थे CM, राजीव गाँधी के जमाने में गवर्नर ने छीन ली थी कुर्सी

बसवराज बोम्मई के पिता एस आर बोम्मई भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं, जबकि बसवराज ने भाजपा 2008 में ज्वाइन की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,573FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe