Thursday, September 23, 2021
Homeराजनीतियेदियुरप्पा ने किया कर्नाटक के CM पद से इस्तीफे का ऐलान, BJP के लिए...

येदियुरप्पा ने किया कर्नाटक के CM पद से इस्तीफे का ऐलान, BJP के लिए खोला था दक्षिण का दरवाजा

मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने राज्य में सरकार के 2 साल पूरे होने पर आयोजित एक कार्यक्रम में अपनी इच्छा रखी। उन्होंने कहा, "मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया है। मैं लंच के बाद राज्यपाल से मुलाकात करूँगा।"

कर्नाटक में दो साल सरकार चलाने के बाद मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने एक कार्यक्रम में ऐलान किया है कि वह अपना सीएम का पद छोड़ने वाले हैं। वह आज (जुलाई 26, 2021) लंच के बाद इस संबंध में राज्यपाल से मुलाकात करेंगे, यह जानकारी भी उन्होंने खुद दी है।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, उन्होंने कर्नाटक में सरकार के 2 साल पूरे होने पर आयोजित एक कार्यक्रम में अपनी बात रखी। उन्होंने कहा, “मैंने इस्तीफा देने का फैसला किया है। मैं लंच के बाद राज्यपाल से मुलाकात करूँगा।”

अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि उन्हें कर्नाटक के लोगों के लिए काफी काम करना है। भावुक मन से हुए येदियुरप्पा ने कहा कि वह हमेशा अग्निपरीक्षा से गुजरे हैं।

कार्यक्रम में वह बोले, “मैं हमेशा अग्नि परीक्षा से गुज़रा हूँ। दो महीने (2019 में) मुझे अपना मंत्रिमंडल बनाने को नहीं मिला। बाढ़ आई और मैं पागलों की तरह घूमता रहा। बाद में मंत्रिमंडल का गठन किया गया।”

बता दें कि साल 2019 में करीब 1 माह की हलचल के बाद बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा ने 26 जुलाई 2019 को सीएम पद की शपथ ली थी। शपथ के साथ ही उन्होंने चौथी बार मुख्यमंत्री पद की कमान संभाली थी। लेकिन हाल में 16 जुलाई को प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद उन्होंने 17 जुलाई भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। इसके बाद गृह मंत्री अमित शाह ने भी उन्हें राज्य में कड़ी मेहनत करने की सलाह दी थी। उस दौरान सीएम येदियुरप्पा ने कहा था कि अगर पीएम मोदी कहेंगे तो वो इस्तीफा देने को भी तैयार हैं।

मालूम हो कि 26 जुलाई को कर्नाटक में भाजपा सरकार के दो साल पूरे होने से पहले ही इस इस्तीफे के कयास लग चुके थे। हालाँकि, जब पीएम मोदी से मिलने के बाद उन्होंने कहा कि वह सभी निर्देश मानने को तैयार हैं और आगामी चुनावों में कड़ी मेहनत करेंगे तो इन कयासों पर कुछ विराम लगा। लेकिन आज सीएम ने कार्यक्रम में खुद अपने इस्तीफा देने की बात कह दी। इससे पहले वह कह चुके हैं कि वह भाजपा की विचारधारा के प्रति प्रतिबद्ध हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,782FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe