Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीति'महुआ, क्या आपने महुआ ले रखी है' - BJP के बाबुल सुप्रियो को हाई...

‘महुआ, क्या आपने महुआ ले रखी है’ – BJP के बाबुल सुप्रियो को हाई कोर्ट से राहत, महुआ मोइत्रा वाली चार्जशीट खारिज

आरोप यह था कि राष्ट्रीय टीवी पर हुई इस परिचर्चा में बाबुल सुप्रियो ने महुआ मोइत्रा पर टिप्पणी करते हुए कहा था, “महुआ, क्या आपने महुआ ले रखी है (महुआ से बनने वाली स्थानीय शराब)”? लेकिन हाई कोर्ट ने...

कोलकाता उच्च न्यायालय ने तृणमूल कॉन्ग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा को बड़ा झटका दिया है। न्यायालय ने उनके द्वारा भारतीय जनता पार्टी के केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के विरुद्ध दायर की गई चार्जशीट को सिरे से खारिज कर दिया। इसमें केन्द्रीय मंत्री पर आरोप लगाया गया था कि उन्होंने साल 2017 के दौरान हुई एक टेलीविज़न चर्चा (डिबेट) में तृणमूल कॉन्ग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।  

न्यायालय ने अपने आदेश में कहा, “अभी तक हुई चर्चा से यह निष्कर्ष निकल कर आता है कि प्राथमिकी (एफ़आईआर) में जितने आरोप लगाए गए हैं और आरोपों से जुड़े तमाम पहलू के आधार पर धारा 509 का उल्लंघन नहीं हुआ है। इसलिए चार्जशीट संख्या 27, तिथि 8 मार्च 2017 जो कि धारा 509 के तहत दायर की गई थी, इसे खारिज करने के अलावा कोई और विकल्प नहीं है।”

इसके बाद केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कोलकाता उच्च न्यायलय के इस आदेश का उल्लेख करते हुए ट्वीट किया। साथ ही उन्होंने 3 साल लगातार चली इस लड़ाई में महुआ मोइत्रा के विरुद्ध जीत दर्ज करने पर ख़ुशी भी जाहिर की। 

साल 2017 में तृणमूल कॉन्ग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने बाबुल सुप्रियो के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था। उन्होंने आरोप लगाया था कि एक टीवी चैनल पर हुई चर्चा के दौरान केन्द्रीय मंत्री ने उनके मान सम्मान को ठेस पहुँचाई थी। आरोप यह था कि राष्ट्रीय टीवी पर हुई इस परिचर्चा में बाबुल सुप्रियो ने महुआ मोइत्रा पर टिप्पणी करते हुए कहा था, “महुआ, क्या आपने महुआ ले रखी है (महुआ से बनने वाली स्थानीय शराब)”?

विवादित नेता महुआ मोइत्रा को यह टिप्पणी बेहद अपमानजनक लगी थी। नतीजतन उन्होंने इसके विरुद्ध अलीपुर पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराया था। जिसके बाद पश्चिम बंगाल पुलिस ने इस सम्बंध में मुकदमा दर्ज किया था और एक चार्जशीट भी दायर की थी। स्थानीय अदालत ने इस मामले में पुलिस को आदेश दिया था कि वह धारा 509 के तहत बाबुल सुप्रियो पर कार्रवाई करे।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe