Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिशारदा चिट-फंड घोटाला: CBI ने SIT की जाँच पर उठाए सवाल

शारदा चिट-फंड घोटाला: CBI ने SIT की जाँच पर उठाए सवाल

सीबीआई यह जानना चाहती है कि मई 2014 तक दर्ज किए गए 75 मामलों में से जब यह मामला सीबीआई को स्थानांतरित किया गया था तो एसआईटी ने केवल शारदा मामले को ही क्यों लिया और बाकी सभी को क्यों छोड़ दिया?

करोड़ों रुपये के शारदा चिट-फंड घोटाले के सिलसिले में कोलकाता पुलिस आयुक्त राजीव कुमार आज लगातार दूसरे दिन पूछताछ के लिए शिलॉन्ग स्थित सीबीआई कार्यालय पहुँचे। कुमार से सीबीआई ने कल आठ घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की थी और टीएमसी के पूर्व सांसद कुणाल घोष को भी पूछताछ के लिए सीबीआई कार्यालय में पेश होने के लिए कहा गया था।

सीबीआई द्वारा कुमार से कई कड़े सवाल पूछे जाने की संभावना है। सीबीआई कुमार को कुणाल घोष जैसे प्रमुख अभियुक्तों के बयानों के साथ मिलान करेगी, जिन्होंने दावा था किया कि पुलिस आयुक्त जाँच के सभी पहलुओं में बहुत सक्रिय थे।

सीबीआई यह भी जानना चाहती है कि मई 2014 तक दर्ज किए गए 75 मामलों में से जब यह मामला सीबीआई को स्थानांतरित किया गया, तो एसआईटी ने केवल शारदा मामले को ही क्यों लिया और बाकी सभी को क्यों छोड़ दिया? क्या ऐसा किसी राजनीतिक नेतृत्व के निर्देश पर किया गया था? सीबीआई के अनुसार एसआईटी की जाँच में गैप है, क्योंकि जाँच से जुड़े महत्वपूर्ण व्यक्तियों को एसआईटी द्वारा कभी बुलाया ही नहीं गया। एजेंसी यह भी पता लगाना चाहती है कि कहीं राजीव कुमार किसी के निर्देशों के तहत तो ऐसा नही कर रहे थे?

सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घोटाला सामने आने पर राज्य पुलिस पहले शारदा समूह के परिसर में प्रवेश करने वाली थी। इस पर सीबीआई ने आरोप लगाया है कि सबूतों को दबाने के लिए मामले से जुड़े महत्वपूर्ण दस्तावेज़ों को वहाँ से हटाया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भिंडराँवाले के बाद कॉन्ग्रेस ने खोजा एक नया ‘संत’… तब पैसा भेजते थे, अब संसद में कर रहे खुला समर्थन: समझिए कैसे नेहरू-गाँधी परिवार...

RA&W और सेना के पूर्व अधिकारी कह चुके हैं कि कॉन्ग्रेस ने पंजाब में खिसकती जमीन वापस पाने के लिए भिंडराँवाले को पैदा किया। अब वही फॉर्मूला पार्टी अमृतपाल सिंह के साथ आजमा रही। कॉन्ग्रेस के बड़े नेता जरनैल सिंह के सामने फर्श पर बैठते थे। संजय गाँधी ने उसे 'संत' बनाया था।

‘वनवासी महिलाओं से कर रहे निकाह, 123% बढ़ी मुस्लिम आबादी’: भाजपा सांसद ने झारखंड में NRC के लिए उठाई माँग, बोले – खाली हो...

लोकसभा में बोलते हुए सांसद निशिकांत दुबे ने कहा, विपक्ष हमेशा यही बोलता रहता है संविधान खतरे में है पर सच तो ये है संविधान नहीं, इनकी राजनीति खतरे में है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -