Tuesday, August 16, 2022
Homeराजनीतिसभी विधायकों का असम में स्वागत, उद्धव ठाकरे भी आएँ: असम के CM हिमंत...

सभी विधायकों का असम में स्वागत, उद्धव ठाकरे भी आएँ: असम के CM हिमंत सरमा, पुलिस से भिड़े कॉन्ग्रेसी

"मुझे नहीं पता कि वे कितने दिन यहाँ रहेंगे, लेकिन वे जितने भी दिन असम में बिताएँगे, मुझे खुशी होगी। उन्हें वहीं रहना चाहिए। मैं सभी को असम आमंत्रित करता हूँ। सभी को असम आना चाहिए।"

शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे पार्टी के अन्य विधायकों के साथ गुवाहाटी के होटल रेडिसन ब्लू में डेरा डाले हुए हैं। शिवसेना के बागी विधायकों के विरोध में असम कॉन्ग्रेस के नेता, कार्यकर्ता और कुछ वामपंथी दल शुक्रवार (24 जून 2022) को पुलिस से भिड़ गए। झड़प के दौरान एक पुलिसकर्मी घायल हो गया है, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं दूसरी ओर असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा पर बागी विधायकों को अपने राज्य में पनाह देकर संघीय ढाँचे को रौंदने के आरोप लगाए जा रहे हैं। इसको लेकर सरमा ने विपक्ष को करारा जवाब दिया है। उन्होंने कहा, “देश के सभी राज्यों के सभी विधायकों का असम में स्वागत है। उद्धव ठाकरे को भी छुट्टियाँ मनाने के लिए असम में आमंत्रित किया जाता है।”

दरअसल, एएनआई के रिपोर्टर ने सरमा से कहा कि असम के मुख्यमंत्री पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि वह शिवसेना के बागी विधायकों को अपने राज्य में पनाह देकर संघीय ढाँचे को रौंद रहे हैं। इस पर हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा, “मैंने आपसे सुना कि ज्यादातर विधायक गुवाहाटी पहुँच रहे हैं। मैं देश के सभी विधायकों को असम में आने और यहाँ रहने के लिए आमंत्रित करता हूँ।”

सरमा ने आगे कहा, “इसका संघीय ढाँचे से क्या लेना-देना है? मैं अपने राज्य के होटलों में लोगों के आने और ठहरने पर कैसे रोक लगा सकता हूँ? कल अगर आप होटल बुक करते हैं और मैं आपको मना कर देता हूँ और कहता हूँ कि देश में एक संघीय ढाँचा है। इसलिए आप असम के होटल में नहीं आ सकते हैं, तो क्या यह ठीक रहेगा? क्या आप इसे संघीय ढाँचा कहेंगे?”

सरमा ने सभी को असम आने के लिए आमंत्रित करते हुए कहा, “मुझे नहीं पता कि वे कितने दिन यहाँ रहेंगे, लेकिन वे जितने भी दिन असम में बिताएँगे, मुझे खुशी होगी। उन्हें वहीं रहना चाहिए। मैं सभी को असम आमंत्रित करता हूँ। सभी को असम आना चाहिए।” उद्धव ठाकरे के बारे में पूछे जाने पर, सीएम ने कहा, “उन्हें भी छुट्टी मनाने के लिए असम आना चाहिए।”

बताया जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष भूपेन बोरा के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता आज गुवाहाटी के होटल रेडिसन ब्लू पहुँचे, जहाँ एकनाथ शिंदे के साथ शिवसेना के बागी विधायक और महाराष्ट्र के कुछ निर्दलीय विधायक ठहरे हुए हैं। होटल के बाहर असम कॉन्ग्रेस के नेताओं, कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की। कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने ‘बीजेपी मुर्दाबाद’ और ‘गो बैक गो बैक’ के नारे लगाते हुए होटल परिसर में घुसने की कोशिश की। इस दौरान पुलिसकर्मियों के साथ उनकी झड़प हो गई, जिसमें एक पुलिसकर्मी घायल हो गया। कॉन्ग्रेस प्रदर्शनकारियों में आरपीआई और सीपीआईएम जैसे वामपंथी दलों के कार्यकर्ता और नेता भी शामिल हुए थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के शिवमोगा में लगे वीर सावरकर के पोस्टर तो काटा बवाल, प्रेम सिंह को चाकू घोंपा: धारा 144 लागू, अब्दुल, नदीम और जबीउल्लाह...

कर्नाटक में वीर सावरकर के पोस्टर पर हुए बवाल के बाद एक व्यक्ति को चाकू मारने की खबर आई है। पुलिस ने अब्दुल, नदीम, जबीउल्लाह को गिरफ्तार किया है।

‘पता नहीं 9 सितंबर को क्या होगा’: ‘लाल सिंह चड्ढा’ का हाल देख कर सहमे करण जौहर, ‘ब्रह्मास्त्र’ के डायरेक्टर को अभी से दे...

क्या करण जौहर को रिलीज से पहले ही 'ब्रह्मास्त्र' के फ्लॉप होने का डर सता रहा है? निर्देशक अयान मुखर्जी के नाम उनके सन्देश से तो यही झलकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
214,182FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe