Tuesday, May 21, 2024
Homeराजनीतिहिमाचल: राज्यपाल और विधानसभा उपाध्यक्ष से हाथापाई करने वाले 5 कॉन्ग्रेसी MLA निलंबित, बजट...

हिमाचल: राज्यपाल और विधानसभा उपाध्यक्ष से हाथापाई करने वाले 5 कॉन्ग्रेसी MLA निलंबित, बजट सत्र पर जमकर मचाया उत्पात

राज्यपाल के साथ बदसलूकी करते हुए कॉन्ग्रेसी विधायक उनकी गाड़ी के आगे खड़े हो गए और राज्यपाल दत्तात्रेय को गाड़ी में बैठने भी नहीं दिया।

कुछ कॉन्ग्रेसी विधायकों ने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय (Bandaru Dattatraya) के साथ उस समय बदसलूकी और हाथापाई की जब वह शुक्रवार (फ़रवरी 27, 2021) को बजट सत्र के उद्घाटन के दिन अपने संबोधन के बाद विधानसभा से बाहर निकल रहे थे। इसके बाद, विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने कॉन्ग्रेस के पाँच विधायकों को निलंबित कर दिया गया।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र आज शुरू हुआ। लेकिन कॉन्ग्रेसी नेताओं की बदसलूकी के कारण राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने अभिभाषण पूरा नहीं पढ़ा और सदन से बाहर चले गए। यही नहीं, कॉन्ग्रेसी विधायकों ने राज्यपाल के साथ बदसलूकी करते हुए नारेबाजी भी की और विधानसभा उपाध्यक्ष हंसराज के साथ हाथापाई पर उतर आए। रिपोर्ट्स के अनुसार, सदन परिसर में पुलिस और कॉन्ग्रेस विधायकों में धक्का-मुक्की भी हुई है।

राज्यपाल के साथ बदसलूकी करते हुए कॉन्ग्रेसी विधायक उनकी गाड़ी के आगे खड़े हो गए और राज्यपाल दत्तात्रेय को गाड़ी में बैठने भी नहीं दिया। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि राज्यपाल सत्र के बाद अपने वाहन पर जा रहे थे। इस बदसलूकी के लिए पाँच कॉन्ग्रेसी विधायकों – नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और विधायक हर्षवर्धन चौहान, सुंदर सिंह ठाकुर, सतपाल रायजादा और विनय कुमार को निलंबित कर दिया गया है।

विधानसभा सत्र शुरू होते ही सुबह 11 बजे सदन में विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री की अगुवाई में कॉन्ग्रेस के सदस्य अपनी सीट से खड़े हो गए और नोरबाजी करने लगे। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन सदन में कॉन्ग्रेस के विधायकों के हंगामे के बीच राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय अपने अभिभाषण की केवल आखिरी पंक्ति ही पढ़ पाए।

दरअसल, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने राज्यपाल के अभिभाषण को झूठ का पुलिंदा बताया। इस अभिभाषण में कोरोना काल में सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का उल्लेख किया जा रहा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -