Saturday, October 16, 2021
Homeराजनीतिहिमाचल: राज्यपाल और विधानसभा उपाध्यक्ष से हाथापाई करने वाले 5 कॉन्ग्रेसी MLA निलंबित, बजट...

हिमाचल: राज्यपाल और विधानसभा उपाध्यक्ष से हाथापाई करने वाले 5 कॉन्ग्रेसी MLA निलंबित, बजट सत्र पर जमकर मचाया उत्पात

राज्यपाल के साथ बदसलूकी करते हुए कॉन्ग्रेसी विधायक उनकी गाड़ी के आगे खड़े हो गए और राज्यपाल दत्तात्रेय को गाड़ी में बैठने भी नहीं दिया।

कुछ कॉन्ग्रेसी विधायकों ने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय (Bandaru Dattatraya) के साथ उस समय बदसलूकी और हाथापाई की जब वह शुक्रवार (फ़रवरी 27, 2021) को बजट सत्र के उद्घाटन के दिन अपने संबोधन के बाद विधानसभा से बाहर निकल रहे थे। इसके बाद, विधानसभा अध्यक्ष विपिन परमार ने कॉन्ग्रेस के पाँच विधायकों को निलंबित कर दिया गया।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र आज शुरू हुआ। लेकिन कॉन्ग्रेसी नेताओं की बदसलूकी के कारण राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने अभिभाषण पूरा नहीं पढ़ा और सदन से बाहर चले गए। यही नहीं, कॉन्ग्रेसी विधायकों ने राज्यपाल के साथ बदसलूकी करते हुए नारेबाजी भी की और विधानसभा उपाध्यक्ष हंसराज के साथ हाथापाई पर उतर आए। रिपोर्ट्स के अनुसार, सदन परिसर में पुलिस और कॉन्ग्रेस विधायकों में धक्का-मुक्की भी हुई है।

राज्यपाल के साथ बदसलूकी करते हुए कॉन्ग्रेसी विधायक उनकी गाड़ी के आगे खड़े हो गए और राज्यपाल दत्तात्रेय को गाड़ी में बैठने भी नहीं दिया। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कहा कि राज्यपाल सत्र के बाद अपने वाहन पर जा रहे थे। इस बदसलूकी के लिए पाँच कॉन्ग्रेसी विधायकों – नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और विधायक हर्षवर्धन चौहान, सुंदर सिंह ठाकुर, सतपाल रायजादा और विनय कुमार को निलंबित कर दिया गया है।

विधानसभा सत्र शुरू होते ही सुबह 11 बजे सदन में विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री की अगुवाई में कॉन्ग्रेस के सदस्य अपनी सीट से खड़े हो गए और नोरबाजी करने लगे। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन सदन में कॉन्ग्रेस के विधायकों के हंगामे के बीच राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय अपने अभिभाषण की केवल आखिरी पंक्ति ही पढ़ पाए।

दरअसल, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने राज्यपाल के अभिभाषण को झूठ का पुलिंदा बताया। इस अभिभाषण में कोरोना काल में सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का उल्लेख किया जा रहा था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में 10 साल की हिंदू बच्ची की मौत, जुमे की नमाज के बाद हुआ था गैंगरेप: मौसी और नानी से भी दुष्कर्म, उलटे...

10 साल की मासूम के साथ कट्टरपंथियों की भीड़ ने रेप किया था। अब खबर है कि ज्यादा खून बह जाने से उसकी जान चली गई।

गहलोत सरकार में मदरसों की बल्ले-बल्ले, मिलेगा 25-25 लाख रुपए का ‘दीवाली बोनस’, BJP का तंज – ‘जनता के टैक्स का सदुपयोग’

राजस्थान में मुख्यमंत्री मदरसा आधुनिकीकरण योजना के तहत मदरसों के लिए मुस्लिमों को 25 लाख रुपए तक की राशि सरकार देगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,973FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe