Tuesday, August 3, 2021
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस ने अमेठी मर्डर केस में फर्जी खबर शेयर की, उप्र पुलिस करेगी कार्रवाई

कॉन्ग्रेस ने अमेठी मर्डर केस में फर्जी खबर शेयर की, उप्र पुलिस करेगी कार्रवाई

खबरदार डॉट कॉम नामक किसी वेबसाइट के लिंक को शेयर करते हुए कॉन्ग्रेस के समर्थक शमा मोहम्मद, गौरव पांधी और सेवादल ने भी ट्वीट किए। उत्तर प्रदेश पुलिस ने इन ट्वीट का संज्ञान लिया और कहा कि DGP के बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है।

उत्तर प्रदेश के अमेठी से नवनिर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी के करीबी माने जाने वाले भाजपा कार्यकर्ता और बरौलिया गाँव के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। शनिवार (मई 25, 2019) की रात सोते हुए सुरेंद्र सिंह पर अज्ञात बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोली बरसा कर हत्या कर दी थी। गोली लगने से घायल सुरेंद्र सिंह को लखनऊ ट्रामा सेंटर ले जाते समय रास्ते में ही उनकी मौत हो गई थी।

इस हत्याकांड में पुलिस की जाँच चल रही है। कुछ दिन पहले छापेमारी करने के बाद पुलिस ने 3 नामजद आरोपितों को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार आरोपितों के नाम नसीम (झोलाछाप डॉक्टर), धर्मनाथ गुप्ता (पूर्व प्रत्याशी ग्राम प्रधान बरौलिया) और रामचंद्र (वर्तमान में बीडीसी) हैं।

जाँच अभी चल ही रही थी कि कुछ लोगों द्वारा यह अफवाह फैलाई जाने लगी कि यह हत्या भाजपा के ही किसी कार्यकर्ता द्वारा करवाई गई है। कुछ लोग यहाँ तक कहने लगे कि उत्तर प्रदेश पुलिस के महानिदेशक ने बयान दिया है कि भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा ही सुरेंद्र सिंह की हत्या करवाई गई।

इस अफवाह को आगे बढ़ाने का काम कॉन्ग्रेस के कुछ आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने भी करना चालू कर दिया। दरअसल इकनोमिक टाइम्स ने एक खबर छापी थी कि यूपी पुलिस के डीजी ने बयान दिया था कि सुरेंद्र सिंह की हत्या लोकल स्तर पर दुश्मनी के चलते हुई। इसी बयान को तोड़ मरोड़कर कॉन्ग्रेस सोशल मीडिया की नेशनल कन्वीनर रुचिरा चतुर्वेदी ने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया कि सुरेंद्र सिंह की हत्या लोकल भाजपा के किसी कार्यकर्ता ने की है।

इसी प्रकार खबरदार डॉट कॉम नामक किसी वेबसाइट के लिंक को शेयर करते हुए कॉन्ग्रेस के समर्थक शमा मोहम्मद, गौरव पांधी और सेवादल ने भी ट्वीट किए। उत्तर प्रदेश पुलिस ने इन ट्वीट का संज्ञान लिया और कहा कि DGP के बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है और इस पर क़ानूनी कार्रवाई की जाएगी। दरअसल इकनोमिक टाइम्स की खबर में डीजी पुलिस ने यह कहा था कि सुरेंद्र सिंह की लोकल स्तर पर दुश्मनी हो सकती थी लेकिन उन्होंने भाजपा के किसी कार्यकर्ता का नाम नहीं लिया था। जबकि कॉन्ग्रेस सोशल मीडिया के हैंडल से इस बयान का गलत अर्थ निकालकर फर्जी खबर फैलाई गई।

गौरव पांधी का ट्वीट
शमा मोहम्मद का ट्वीट
रुचिरा चतुर्वेदी का ट्वीट

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सागर धनखड़ मर्डर केस में सुशील कुमार मुख्य आरोपित: दिल्ली पुलिस ने 20 लोगों के खिलाफ फाइल की 170 पेज की चार्जशीट

दिल्ली पुलिस ने छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल की है। सुशील कुमार को मुख्य आरोपित बनाया गया है।

यूपी में मुहर्रम सर्कुलर की भाषा पर घमासान: भड़के शिया मौलाना कल्बे जव्वाद ने बहिष्कार का जारी किया फरमान

मौलाना कल्बे जव्वाद ने आरोप लगाया है कि सर्कुलर में गौहत्या, यौन संबंधी कई घटनाओं का भी जिक्र किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,702FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe